The Mooknayak - आवाज़ आपकी

भारतीय युवाओं में कैंसर के मामले बढ़े: अध्ययन
The Mooknayak
3 min read
अध्ययन में सामने आया कि कैंसर मामलों में परामर्श लेने वाले रोगियों में से 20 फीसदी की उम्र 40 वर्ष से कम थी. इसमें सिर और गर्दन के कैंसर के मामले सबसे अधिक थे.
सांकेतिक फोटो.
सुप्रीम कोर्ट

पीड़ित महिला उर्मिला और उन्हें आये चोट के निशान
कई राज्यों में रेड अलर्ट
सुप्रीम कोर्ट

पीड़ित महिला उर्मिला और उन्हें आये चोट के निशान

शिकायत करने पहुंचा चौकीदार बंटी.
पीड़ित दुर्गावती और पानी की सार्वजनिक टंकी.
भीषण गर्मी में शिकायत करने पहुंची छात्राएं.
बारात पर हुए हमले के दौरान बनाया गया वीडियो,
फोटो जर्नलिस्ट मनीषा मंडल.
राजस्थान: दलित युवक के पैर बांधकर तलवों पर छह घंटे तक बरसाते रहे डंडे,मौत
विवाह कार्यक्रम के दौरान विवाद की तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर
सोशल मीडिया पर वायरल दलित किशोर की पिटाई के वीडियो के अंश.
डोम समाज की दयनीय हालात का Bihar मेंजिम्मेदार कौन?
Read More
साहित्यकार प्रोफेसर चौथीराम यादव. (फाइल फोटो)
By
Arun Kumar Verma
3 min read
काशी के सुप्रसिद्ध साहित्यकार प्रोफेसर चौथीराम यादव का 83 वर्ष की उम्र में निधन हो गया।
यूएन ने दो दिन अम्बेडकर जयंती का जश्न मनाया, कार्यक्रम में भारतीय राजदूत रहे अनुपस्थित!
By
The Mooknayak
3 min read
राजदूत की अनुपस्थिति के पीछे का कारण भारत में चल रहे आम चुनाव बताया गया। हालांकि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कार्यक्रम के आयोजक दिलीप म्हास्के को बधाई दी.
पत्रकार और कवि, जसिंता केरकेट्टा
By
The Mooknayak
2 min read
केरकेट्टा के चार कविता संग्रह प्रकाशित हैं. एक डायरी और एक कविता संग्रह बच्चों के लिए भी है.
प्रोफेसर शोमा सेन.
By
Satya Prakash Bharti
3 min read
शोमा सेन नागपुर विश्वविद्यालय की पूर्व प्रोफेसर हैं। इसके साथ ही वह दलित और आदिवासी एक्टिविस्ट भी है। उन पर भीमा कोरेगांव मामले के संबंध में कथित माओवादी संबंधों के लिए गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनिय ...
आंबेडकर जयंती विशेष: बाबा साहब व महात्मा गांधी के बीच क्यों थी असहमति ?
By
Sonia Makwana
6 min read
महात्मा गांधी और बाबासाहेब अंबेडकर दोनों ने समाज सुधार के लिए अथक प्रयास किए। लेकिन कई मुद्दों पर इनके विचार काफी अलग थे। सबसे बड़ा मतभेद यह था कि गांधीजी जाति व्यवस्था से छुआछूत मिटाना चाहते थे, जबकि ...
फाउंडेशन संचालक रामकुमार दृष्टिहीन लड़कियों के साथ।
By
Sonia Makwana
4 min read
बैटल फॉर ब्लाइंड्स फाउंडेशन के संचालक दृष्टिहीन लड़कियों को पढ़ाने में करते है मदद, ज्यादातर लाभार्थी लड़कियां अनुसूचित जाति से हैं।
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com