राजस्थान चुनाव 2023: पोकरण ने तोड़ा रिकार्ड, शाम पांच बजे तक 81.82%, राज्य भर में 68.24% हुआ मतदान

कुछेक हिंसक घटनाओं को छोड़कर प्रदेश में अधिकांश जगह मतदान शान्तिपूर्वक सम्पन्न हुए. कुछ जगहों पर ईवीएम खराबी के कारण मतदान देर से शुरू हुआ. मतदान को लेकर वोटर्स खासकर युवाओं में ख़ासा उत्साह देखा गया. अलवर, झालावाड, सवाई माधोपुर में कई बूथों पर नव विवाहित जोड़े मतदान करने पहुंचे.
मतदान को लेकर वोटर्स खासकर युवाओं में ख़ासा उत्साह देखा गया.
मतदान को लेकर वोटर्स खासकर युवाओं में ख़ासा उत्साह देखा गया.

राजस्थान की कुल 200 में से 199 विधानसभा सीटों के लिए मतदान शनिवार को सम्पन्न हुआ. मतदान सुबह 7 बजे शुरू हुआ जो शाम 6 बजे तक जारी रहा. जैसलमेर के पोकरण में मतदाताओं की लंबी कतार होने के कारण शाम 7 बजे तक भी मतदान जारी रहा. कई ग्रामीण इलाकों में 90 प्रतिशत तक भी मतदान हुए. राज्य में शाम पांच बजे तक 68.24 प्रतिशत मतदान हुआ, जिसमें शहरों में पोकरण में 81.82 प्रतिशत मतदान हुआ। वहीं जिलों में जैसलमेर में 76.57 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया।  

 गौरतलब है श्रीगंगानगर जिले के करणपुर विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार गुरमीत सिंह कूनर (75) का दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में निधन होने की वजह से इस सीट पर चुनाव स्थगित कर दिया गया है। 

चुनावी समर में लड़ रहे 1,863 उम्मीदवारों का भविष्य अब 3 दिसंबर को मतगणना के बाद मालूम होगा। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपना मत डालने के बाद मीडिया से मुखातिब होकर कहा कि हमें जनता का आशीर्वाद मिला है, हमारी सरकार रिपीट होगी. दूसरी और भाजपा के दिग्गज नेताओं ने भी वोटर्स का अपूर्व उत्साह देखते हुए इसे ' बदलाव की बयार' बताया. 

मतदान को लेकर वोटर्स खासकर युवाओं में ख़ासा उत्साह देखा गया. बड़ी संख्या में युवा और पहली बार मतदान करने आये युवक युवतियों ने वोट करने के बाद कई जगह बने सेल्फी पॉइंट्स पर अपनी उँगलियों का निशान दिखाते हुए सोशल मीडिया पर तसवीरें पोस्ट की. कई केन्द्रों पर सुबह मतदान की रफ़्तार धीमी रही , सुबह 11 बजे तक मतदान का प्रतिशत केवल 30 फीसदी ही था जो  दोपहर बाद बढ़ गया. शाम शाम 5 बजे तक  68.24 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया.  नव दंपतियों में लोकतंत्र के महापर्व पर मतदान करने का उत्साह दिखाई दिया. अलवर. झालावाड , सवाई माधोपुर में कई बूथों पर नव विवाहित जोड़े मतदान करने पहुंचे.

निर्वाचन आयोग की पहल पर बने पिंक बूथों को लेकर महिला मतदाता आकर्षित दिखी। चित्तौड़गढ़ विधानसभा के बूथ संख्या 105 प्रेमनगर स्कूल पर गांधी नगर निवासी 80 वर्षीय सुशीला अग्रवाल मतदान शुरू होने के 15 मिनट पहले ही पहुंचकर मतदान के प्रति अपनी निष्ठा व्यक्त की और बूथ पर पहला वोट डाला। नव महिला मतदाताओं में भी पिंक बूथ को लेकर अलग से ही आकर्षक दिखा।

102 वर्ष के रामावतार दायमा ने निम्बाहेड़ा के नवीन विद्यालय के भाग संख्या 73 पर मतदान किया।
102 वर्ष के रामावतार दायमा ने निम्बाहेड़ा के नवीन विद्यालय के भाग संख्या 73 पर मतदान किया।

लोकतंत्र के उत्सव में भागीदारी करने में बुजुर्ग मतदाता भी पीछे नहीं रहे। बढ़ती उम्र, बीमारी आदि समस्याएं भी उनके हौसलों के आगे पस्त नज़र आई। उन्होंने पूरे उत्साह से अपने मताधिकार का प्रयोग किया। जीतावाल में हृदय रोगी बंशी लाल कुमावत जिनका दो दिवस पूर्व गीतांजली हॉस्पिटल उदयपुर में हार्ट का ऑपरेशन हुआ था। उन्होंने भी मतदान करने में रूचि दिखाई। मतदान केंद्र तक जाने में असमर्थ बंसीलाल को बीएलओ अशोक बसेर ने अपनी गाड़ी में ले जाकर मतदान कराया। बड़ीसादड़ी विधानसभा में गंभीर रोग से पीड़ित हिमांशु मेहता को स्ट्रेक्चर पर लाकर मतदान करवाया गया। 102 वर्ष के रामावतार दायमा ने निम्बाहेड़ा के नवीन विद्यालय के भाग संख्या 73 पर मतदान किया। 101  साल की मांगी बाई पत्नी भेरूलाल कुमावत ने बिनोता के बूथ नम्बर 152 पर मतदान किया। राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय, गाडरी खेड़ा के बूथ संख्या में 95 वर्षीय बुजुर्ग भैरूलाल सालवी ने निर्वाचन विभाग की हेला टीम की सहायता से मतदान किया। निर्वाचन आयोग द्वारा मतदान केंद्रों पर गठित हेला टीम ने वृद्ध तथा दिव्यांग मतदाताओं की अपने मताधिकार का प्रयोग करने में मदद की।

कुछेक हिंसक घटनाओं को छोड़कर प्रदेश में अधिकांश जगह मतदान शान्तिपूर्वक सम्पन्न हुए. कुछ जगहों पर ईवीएम खराबी के कारण मतदान देर से शुरू हुआ. धौलपुर और भरतपुर में कुछ जगह बूथ कैप्चरिंग के प्रयास की जानकारी मिली. भरतपुर में दो पक्षों के बीच हुई हिंसा को देखते हुए पोलिंग टीम जान बचा कर भागी और मतदान काफी देर तक प्रभावित रहा.

धौलपुर जिले की बाड़ी विधानसभा के खुलेकेपुरा गांव में मतदान को लेकर दो पक्षों में हुआ पथराव और झड़प की जानकारी मिली. यहाँ भारी संख्या में पुलिस जाप्ता पहुंचा मौके पर आया. अतिरिक्त जिला पुलिस अधीक्षक देवेंद्र सिंह राजावत सहित बड़ी संख्या में पुलिस बल मतदान समाप्त होने तक मौजूद रहा. 

बामनवास में नव विवाहित जोड़ा मतदान करने पहुंचा
बामनवास में नव विवाहित जोड़ा मतदान करने पहुंचा

श्रीगंगानगर विधानसभा क्षेत्र में शनिवार को एक निर्दलीय कैंडिडेट के गनमैन और पुलिस में विवाद हो गया। निर्दलीय कैंडिडेट हरीशचंद्र कपूर अपने एक सुरक्षाकर्मी के साथ केदार चौक स्थित मतदान केंद्र पर वोटिंग का जायजा लेने गए थे। इस दौरान उनका सुरक्षा गार्ड बाहर खड़ा था। उसके पास रिवॉल्वर भी था। हथियार देखकर मौके पर खड़े पुलिसकर्मियों ने उससे सवाल जवाब किए। पुलिसकर्मियों और सुरक्षाकर्मी के बीच बात बढ़ जाने पर पुलिसकर्मी उसे मोटरसाइकिल सहित थाने ले गए। कैंडिडेट हरीशचंद्र कपूर ने इसे उनके चुनाव संबंधी कामकाज को बाधित करने का प्रयास बताया है। उन्होंने कहा कि उन्होंने इस संबंध में एसपी से मुलाकात की है।

जैसलमेर के फतहगढ़ इलाके में तेजमालता गांव के वोटर्स ने मतदान का बहिष्कार किया. बिजली की समस्या से रूष्ट ग्रामीणों ने बताया कि वे अरसे से क्षेत्र में बिजली की समस्या से परेशान हैं लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हुई इसलिए बिजली नहीं तो वोट भी नहीं देंगे. इसी तरह भीलवाडा के रूपहली में प्रदूषण से परेशान ग्रामीणों ने मतदान का बहिष्कार किया। वहीं, कई जगहों मतदाताओं की लंबी लाइनें देखने को मिली।

भीलवाडा के माण्डलगढ़ विधानसभा क्षेत्र में होड़ा गाँव के बूथ नम्बर 150 पर फर्जी महिला मतदाता को पकड़ा गया। बूथ अभिकर्ता द्वारा शिकायत दर्ज कराने के बाद यह कार्रवाई की गई है। मतदान करने आई महिला बूथ नं 151 पर वोट दे चुकी थी। फर्जी महिला मतदाता को पुलिस के सुपुर्द किया गया।

भरतपुर के कामा और शहर विधान सभा सीट में तकरार की खबरें रिपोर्ट हुई. सुकेत गाँव में वीवीपेट में तोड़फोड़ की भी सूचना प्राप्त हुई. सीकर के फतहपुर शेखावटी में दो गुटों में पथराव और मारपीट की वारदात हुई.

मतदान को लेकर वोटर्स खासकर युवाओं में ख़ासा उत्साह देखा गया.
उत्तर प्रदेश: प्रदेशभर में सभी बूचड़खाने, मांस की दुकानें बंद रखने के क्यों जारी हुए निर्देश?
मतदान को लेकर वोटर्स खासकर युवाओं में ख़ासा उत्साह देखा गया.
झारखंड: 8वीं के दलित छात्र का शव स्कूल कैंपस में मिला, स्कूल प्रशासन पर हत्या का आरोप
मतदान को लेकर वोटर्स खासकर युवाओं में ख़ासा उत्साह देखा गया.
चर्चित “ईश्वर और बाज़ार” किताब की लेखिका जसिंता केरकेट्टा ने इंडिया टुडे ग्रुप के अवार्ड को लेने से किया इंकार

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com