आज की मुख्य खबरें: बकरी चोरी के आरोप में दलित युवकों को उल्टा लटकाकर पीटा

तेलंगाना में दलित युवक को उल्टा लटकाकर पीटा गया
तेलंगाना में दलित युवक को उल्टा लटकाकर पीटा गया

नई दिल्ली। भारत में पिछले 12 घन्टे में महिला और दलित अपराध से जुड़े कई मामले सामने आए हैं। तेलंगाना में दो दलित युवकों को बकरी चोरी का आरोप लगाकर पेड़ से उल्टा लटका कर पीटा गया। वहीं हरियाणा के रेवाड़ी में एक बस कंडक्टर ने महिला यात्री को 10 रुपये के विवाद में थप्पड़ जड़ दिए। इसके अलावा दिल्ली में नाबालिग किशोरी से यौन शोषण के मामले में दिल्ली महिला आयोग ने नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है।

हरियाणा में बस कंडक्टर ने महिला यात्री को मारा थप्पड़

हरियाणा के रेवाड़ी जिले में महिला को भरी बस में कंडक्टर द्वारा पीटा गया है। मारपीट की इस घटना का वीडियो भी सामने आया है। सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हो रहा है। घटना सामने आने के बाद पुलिस ने बस को जब्त कर लिया और आरोपी कंडक्टर और बस ड्राइवर को हिरासत में ले लिया है। पुलिस मामले में आगे की कार्रवाई कर रही है।

मामले में सामने आया है कि पूरा विवाद बस का टिकट नहीं लेने पर हुआ था। केवल 10 रुपए के चक्कर में यह विवाद हुआ। दरअसल, रेवाड़ी जिले के औद्योगिक कस्बे धारूहेड़ा से गुरुग्राम के बीच बड़ी संख्या में प्राइवेट बसे चलती हैं। इन्हीं में से एक बस में महिला अपने छोटे बच्चे के साथ गुरुग्राम जाने के लिए सवार हुई थी। महिला ने खुद की तो टिकट ले ली, लेकिन अपने साथ बैठे बच्चे की टिकट लेने से मना कर दिया। इस बात पर महिला और बस कंडक्टर के बीच विवाद हो गया। उसने महिला के साथ गाली-गलौच करना शुरु कर दिया और महिला को बच्चे सहित बस से उतरने को कहा। इस बात पर महिला यात्री को गुस्सा आ गया और उसने बस से उतरने से मना कर दिया।

बस में हो रहे इस विवाद का पीछे बैठे किसी यात्री ने अपने मोबाइल में रिकॉर्ड कर लिया। जो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है उसमें नजर आ रहा है कि बस कंडक्टर ने महिला को जबरदस्ती पकड़ कर सीट से उठाया और उसे थप्पड़ जड़ दिए। इस दौरान पास खड़ी अन्य महिला यात्री ने कंडक्टर का विरोध किया, लेकिन वह माना नहीं। उसने दोनों महिलाओं को बस से नीचे उतार दिया।

बस में जिस वक्त महिला के साथ ये घटना हुई उस समय काफी अन्य लोग भी सवार थे, लेकिन किसी भी शख्स ने कंडक्टर का विरोध नहीं किया। बाद में यात्री द्वारा घटना का बनाया गया वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। प्रकाश खरखड़ा नाम के व्यक्ति ने इस वीडियो के साथ हरियाणा सीएमओ, डीजीपी को ट्विटर पर टैग करते हुए लिखा ''धारूहेड़ा से गुरुग्राम चलने वाली प्राइवेट बस में महिलाओं के साथ किस तरह बस वाले मारपीट करते हैं। बस में बैठे पुरुष तमाशा देख रहे हैं। कॉलेज जाते विद्यार्थियों ने वीडियो बनाकर भेजी है।"

मामला सामने आने के बाद पुलिस ने एक्शन लेते हुए बस कंडक्टर की पहचान की। धारूहेड़ा सेक्टर-6 थाना पुलिस ने बस को जब्त किया है। साथ ही बस ड्राइवर और महिला के साथ मारपीट करने वाले कंडक्टर को हिरासत में ले लिया। पुलिस का कहना है कि जिस महिला के साथ मारपीट की घटना हुई है फिलहाल उसके बारे में कोई जानकारी नहीं लग सकी है। मामले में आगे की कार्रवाई की जा रही है।

बकरी गायब होने पर दलित युवक और दोस्त को प्रताड़ित किया गया

तेलंगाना मनचेरियल जिले के मंडामरी शहर के बाहरी इलाके में एक बकरी फार्म के मालिक ने कथित तौर पर एक बकरी चुराने के आरोप में दो युवकों को एक शेड में उल्टा लटका दिया और पीटा। पीड़ितों की पहचान तेजा और उसके दोस्त सी किरण के रूप में की गई, जो एक दलित है। यातना को और बढ़ाने के लिए, खेत के मालिक ने फाँसी पर लटकाए गए लोगों के नीचे धुआं जला दिया। यह घटना शनिवार को सामने आई जब किरण की चाची नित्तूरी सरिता ने यातना के बाद युवक के लापता होने के बाद पुलिस में शिकायत दर्ज कराई।

आरोपियों ने युवकों को उल्टा लटकाकर पीटा
आरोपियों ने युवकों को उल्टा लटकाकर पीटा

बकरी फार्म के मालिक की पहचान के रामुलु के रूप में की गई, जो मंदामरी शहर के अंगदी बाजार में रहता है। उन्हें कुछ दिन पहले गायब हुई बकरियों में से एक मिली।

रामुलु ने बकरियां चराने वाले तेजा और अपने दोस्त किरण को बुलाया। उसने उनके पैर बांध दिए, उन्हें उल्टा लटका दिया और उनकी पिटाई की। रामुलु ने भी युवकों के नीचे धुआं कर दिया, जिससे उनका दम घुट गया।

घटना के बाद किरण घर नहीं गयी। उसके ठिकाने से चिंतित होकर, उसकी चाची ने मंदामरी पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। बेल्लमपल्ली एसीपी पी सदैया ने पुष्टि की कि रामुलु के खिलाफ एससी/एसटी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। एसीपी ने कहा, उन्हें हिरासत में ले लिया गया। रामुलु, जिसके बारे में कहा जाता है कि वह धोबी समुदाय से है, उसने दोनों युवकों को प्रताड़ित करने में अपने बेटे श्रीनिवास, पत्नी स्वरूपा और एक कार्यकर्ता नरेश की मदद ली। उन्होंने मांग की कि किरण और तेजा लापता बकरी के लिए पैसे दें।

6 साल की बच्ची के साथ यौन उत्पीड़न, महिला आयोग ने नोटिस जारी किया

राजधानी दिल्ली में 6 साल की बच्ची के साथ स्कूल बस में यौन उत्पीड़न किया गया। आरोप सीनियर क्लास में पढ़ने वाले छात्र पर लगा है। इस संबंध में दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी किया था। आयोग ने मामले में दर्ज एफआईआर की कॉपी के साथ मामले में हुई गिरफ्तारी की जानकारी भी मांगी है। मामला सामने आने के बाद पुलिस ने कथित आरोपी छात्र को हिरासत में लिया है।

जानकारी के मुताबिक, दिल्ली के बेगमपुर पुलिस थाने में नाबालिग छात्रा का यौन शोषण किए जाने का मामला दर्ज कराया गया है। बेगमपुर इलाके के एक प्राइवेट स्कूल में पढ़ती है। बच्ची की मां ने बताया है कि 23 अगस्त को बेटी स्कूल बस से घर वापस लौटी। स्कूल बस ने बेटी को सोसाइटी के गेट पर छोड़ा।

बच्ची की मां ने आगे बताया कि उसकी नजर बेटी के बैग पर पड़ी, देखा तो बेटी का स्कूल बैग पेशाब से गीला हुआ पड़ा था। बेटी से जब इसके बारे पूछा तो उसने बताया कि सीनियर क्लास में पढ़ने वाला एक छात्र स्कूल बस में उसके साथ छेड़छाड़ कर रहा था। महिला के मुताबिक, वह अपने पति के साथ अगले दिन यानी 24 अगस्त को बेटी के स्कूल गई। घटना की जानकारी स्कूल के प्रिंसिपल और वाइस प्रिंसिपल को दी। महिला का आरोप है कि 25 अगस्त को स्कूल के चेयरमैन ने उन्हें बुलाया और शिकायत वापस लेने को कहा। महिला का कहना है कि स्कूल के चेयरमैन ने उनकी सोसाइटी के लोगों के बीच मेरी बेटी की पहचान भी उजागर कर दी।

पुलिस ने इस मामले में आईपीसी की धारा 354 (महिला की गरिमा को ठेस पहुंचाने के इरादे से उस पर हमला या आपराधिक बल प्रयोग) और 228ए (कुछ अपराधों की पीड़िता की पहचान का खुलासा करना) और POCSO अधिनियम की धारा 10/21 के तहत मामला दर्ज किया है।

यह भी पढ़ें-
तेलंगाना में दलित युवक को उल्टा लटकाकर पीटा गया
मणिपुर हिंसा ग्राउंड रिपोर्ट: आदिवासियों को 'बाहरी' बताने का नैरेटिव और पहाड़ी में बसे लोगों का सच
तेलंगाना में दलित युवक को उल्टा लटकाकर पीटा गया
मणिपुर हिंसा ग्राउंड रिपोर्ट: "हम गिड़गिड़ाए, लेकिन भीड़ बोली कपड़े उतारो नहीं तो तुम्हें मार डालेंगे ...!"
तेलंगाना में दलित युवक को उल्टा लटकाकर पीटा गया
मणिपुर हिंसा ग्राउंड रिपोर्ट: चुराचांदपुर में प्रवेश के लिए सिर्फ मुस्लिम ड्राइवर ही क्यों?
तेलंगाना में दलित युवक को उल्टा लटकाकर पीटा गया
मणिपुर हिंसा ग्राउंड रिपोर्ट: रिलीफ कैंपों के कम स्पेस में करवटों में दिन गुजारती गर्भवती महिलाएं, नवजातों की जिंदगियां दांव पर

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com