UGC NEET विवाद में CBI का एक्शन, जानिए क्या है ताजा अपडेट?

मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से बताया जा रहा है कि केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने माना है कि 5 मई की परीक्षा में अनियमितताएं, धोखाधड़ी, प्रतिरूपण और अन्य गड़बड़ियां हुई हैं।
नीट-यूजी विवाद में सीबीआई का एक्शन
नीट-यूजी विवाद में सीबीआई का एक्शन

नई दिल्ली: नीट परीक्षा विवाद को लेकर केंद्रीय जांच एजेंसी CBI एक्शन मोड में आ गई है। सीबीआई ने नीट-यूजी में कथित अनियमितताओं के संबंध में एफआईआर दर्ज की है। इसकी जानकारी अधिकारियों के हवाले से सामने आई है। वहीं, राज्यों ने जो आरोपी गिरफ्तार किए हैं, उन्हें भी कस्टडी में लिया जाएगा।

इससे एक दिन पहले केंद्र ने घोषणा की थी कि परीक्षण में कथित अनियमितताओं की जांच एजेंसी को सौंपी जाएगी। अधिकारियों ने बताया कि सीबीआई ने केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय की शिकायत पर अज्ञात लोगों के खिलाफ नया मामला दर्ज किया है। करीब 24 लाख छात्रों ने मेडिकल प्रवेश परीक्षा दी है।

उन्होंने कहा कि मंत्रालय को कथित गड़बड़ी की जांच की मांग को लेकर कई शहरों में प्रदर्शन कर रहे छात्रों की मांग माननी पड़ी।

5 मई को आयोजित नीट-यूजी परीक्षा में कथित अनियमितताओं, धोखाधड़ी, प्रतिरूपण और कदाचार के कुछ मामले सामने आए हैं।
शिक्षा मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी

अधिकारी ने कहा, परीक्षा प्रक्रिया के संचालन में पारदर्शिता के लिए समीक्षा के बाद यह निर्णय लिया गया कि मामले को व्यापक जांच के लिए केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को सौंप दिया जाए।

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) रविवार को अंडरग्रेजुएट नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET UG) 2024 परीक्षा में एक “बड़ी साजिश” की जांच के लिए बिहार और गुजरात के लिए टीमें भेज रहा है।

जानकारी के अनुसार, केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने माना है कि 5 मई की परीक्षा में अनियमितताएं, धोखाधड़ी, प्रतिरूपण और अन्य गड़बड़ियां हुई हैं।

NET पेपर लीक मामले में जांच के लिए बिहार पहुंची CBI टीम से मारपीट

एक पर जहां पूरे देश में नीट-यूजी पर घमासान मचा है वहीं दूसरी ओर यूजीसी नेट पेपर लीक मामले में मोबाइल लोकेशन पर दिल्ली से सीबीआई की टीम जांच के लिए शनिवार की सुबह करीब 10 बजे बिहार के नवादा जिले के रजौली पहुंची। जांच के दौरान कसियाडीह गांव के लोगों ने सीबीआई को नकली समझकर मारपीट शुरू कर दी। और गाड़ियों में तोड़फोड़ की। सीबीआई की जांच टीम में स्थानीय पुलिस की महिला कॉन्स्टेबल समेत CBI के 4 अधिकारी शामिल थे। इंस्पेक्टर रैंक के अधिकारी के नेतृत्व में टीम जांच टीम रजौली के कसियाडीग गांव पहुंची थी।

सीबीआई के अधिकारियों के साथ मारपीट की सूचना जब रजौली पुलिस को मिली तो सूचना मिलने के बाद आनन-फानन में थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर राजेश कुमार पूरे दल-बल के साथ कसियाडीह गांव पहुंचे। थानाध्यक्ष ने ग्रामीणों को समझा-बुझाकर शांत किया। हालांकि मारपीट की घटना के बाद सीबीआई ने मोबाइल नंबर के लोकेशन के आधार पर दो मोबाइल फोन को जब्त किया और उसे अपने साथ ले गई। सीबीआई के अधिकारियों ने केवल इतना कहा कि मोबाइल नंबर के आधार पर जांच के बाद पेपर लीक मामले में शामिल लोगों को भी गिरफ्तार कर ले जाया जाएगा।

पेपर लीक मामले में सीबीआई टीम से मारपीट के मामले में पुलिस ने एक महिला समेत 4 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। जिसमें कसियाडीह गांव के प्रिंस कुमार, एक महिला वह दो अन्य लोग शामिल हैं। 

थानाध्यक्ष राजेश कुमार ने बताया कि सीबीआई अधिकारियों के साथ मारपीट के मामले में रजौली थाने में 8 लोगों पर नामजद और 150-200 अज्ञात लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। एक महिला समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है।मारपीट की घटना की वीडियोग्राफी कराई गई है। मारपीट में शामिल लोगों को चिन्हित कर उस पर कठोर कार्रवाई की जाएगी।

वहीं नवादा के एसपी अम्बरीष राहुल ने बताया कि यूजीसी नेट पेपर लीक मामले में सीबीआई की टीम नवादा पहुंची थी। इस दौरान टीम के अधिकारियों ने 2 मोबाइल फोन को जब्त किया है। हालांकि ग्रामीणों ने टीम को नकली समझकर उनके साथ मारपीट की। इस मामले में प्रथिमिकी दर्ज कर एक महिला समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

नीट-यूजी विवाद में सीबीआई का एक्शन
DNA Test: राजस्थान के शिक्षा मंत्री को 'रक्त-बाल-नाखून' का सैंपल भेजेंगे देशभर के आदिवासी युवा, जानिये क्यों आक्रोशित है समाज
नीट-यूजी विवाद में सीबीआई का एक्शन
इंस्टाग्राम रील से लेकर बिग बॉस तक का सफर, कौन हैं शिवानी कुमारी?
नीट-यूजी विवाद में सीबीआई का एक्शन
दिल्ली में क्यों नहीं है ट्रांसजेंडर कल्याण बोर्ड?

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com