MP: पत्नी से छेड़छाड़ व मारपीट से आहत युवक ने खत्म कर लिया परिवार! जानिए अब तक क्या क्या हुआ?"

मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले के शामगढ़ थाना क्षेत्र की घटना, सुसाइड नोट में आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग, इधर छतरपुर में बसपा नेता की गोली मारकर हत्या.
घटनास्थल पर जांच करती पुलिस व लोगों की भीड़।
घटनास्थल पर जांच करती पुलिस व लोगों की भीड़।The Mooknayak

भोपाल. "तीन महीने पहले गांव के ही राजू, कालू, सोनू, गीताबाई, नोजीबाई, लीलाबाई व गोविंद ने पत्नी के साथ मारपीट और छेड़खानी की थी। मेरी पत्नी के कपड़े फाड़कर निर्वस्त्र कर दिया था। पुलिस भी कोई कार्रवाई नहीं कर रही थी। मेरी और बच्चों की मौत के जिम्मेदार यह सभी लोग हैं। सभी को फांसी की सजा मिले और राजू बंजारा का अवैध मकान भी तोड़ा जाए।" 

दो पन्ने का सुसाइड नोट लिख कर युवक ने गांव के बाहर एक पेड़ पर पहले दो नाबालिग बच्चों को फांसी के फंदे पर लटकाया और फिर खुद एक फंदे पर झूलकर आत्महत्या कर ली। इस घटना के बाद मध्य प्रदेश पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े हो रहे हैं। यदि पुलिस मृतक की शिकायत पर गंभीर होती, तो शायद यह नौबत नहीं आती! इस घटना के बाद मासूमों और युवक को फांसी पर झूलता देख हर कोई दंग रह गया। पुलिस ने अब इस मामले में आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 306 के तहत आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया है।

मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले के शामगढ़ थाना क्षेत्र के चंदावासा चौकी अंतर्गत ग्राम रुंडी से यह दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। जहां एक पिता ने अपने बेटे-बेटी के साथ फांसी लगाकर जान दे दी। बताया जा रहा है कि पहले पिता प्रकाश ने अपने दोनों बच्चों को फंदे पर लटकाया और उसके बाद खुद भी फंदे पर लटककर आत्महत्या कर ली। सोमवार को रुंडी गांव में पेड़ से तीन लोगों का शव लटके मिले। सूचना पर गरोठ एडिशनल एसपी, सीतामऊ एसडीओपी, शामगढ़ थाना टीआई सहित पुलिस बल मौके पर पहुंचे और मुआयना कर तीनों के शवों को पेड़ से नीचे उतारा। 

घटनास्थल से पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला है, जिसमें गांव के ही राजू बंजारा, कालू बंजारा और गीता बाई सहित उनके परिवार को युवक ने आत्महत्या करने का जिम्मेदार ठहराया है। सुसाइड नोट में लिखा है कि इन लोगों ने मेरी पत्नी के साथ मारपीट की थी और उसके कपड़े भी फाड़ दिए थे। इसकी शिकायत पुलिस को की गई थी, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। घटना के बाद से राजू बंजारा मुझे बार-बार धमकी देता था और कहता था कि मेरे पास बहुत पैसे हैं, मैं पुलिस को खरीद सकता हूं। 

साथ ही मृतक ने यह भी लिखा कि बदमाश खुद के पास लाखों करोड़ों रुपये होने की बात करते थे। उन रुपये से पुलिस को खरीदने और उनको गोली मारने की धमकियां देते थे। मृतक ने यह तक लिखा कि मेरी इस पीड़ा की सूचना सीएम मोहन यादव को भी मिलना चाहिए। मेरी पत्नी के साथ इन्होंने जो किया उसके बाद से मेरी गाँव में इज्जत चली गई थी, में परेशान था इसलिए में आत्महत्या कर रहा हूँ जिसके जिम्मेदार यह सभी लोग हैं। 

परिवारजन में आक्रोश 

युवक और उसके बच्चों की आत्महत्या की सूचना मिलते ही परिजन और ग्रामीण एकत्रित हो गए और विरोध शुरू कर दिया। परिवारजन पुलिस को तीनों मृतकों के शव नहीं ले जाने दे रहे है। ग्रामीणों ने मांग की है कि आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। इस घटना की जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि मृतक शामगढ़ थाना अंर्तगत चंदवासा चौकी के ग्राम रुंडी निवासी था। जो घूमकर कंबल बेचता था। वह देश के अन्य राज्यों सहित महाराष्ट्र में जाता रहता था। रविवार रात को भी वह कंबल बेचकर आया था और सोमवार को उसने आत्महत्या कर ली। 

मंदसौर के उप पुलिस अधीक्षक (एसडीओपी) राजाराम धाकड़ ने द मूकनायक से बातचीत में बताया- "मृतक की पत्नी और राजू बंजारा की पत्नी के बीच पिछले साल किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ था। मामले में एफआईआर दर्ज कर ली गई है, लेकिन इस मामले में कोई नई शिकायत नहीं है मिली थी। हमें शव के साथ सुसाइड नोट मिला है, जिसकी जांच कर रहे हैं।" 

छत्तरपुर में बसपा नेता की गोली मारकर हत्या

मध्य प्रदेश की कानून व्यवस्था इस तरह चरमरा चुकी है कि हर रोज घटनाएं सामने आ रही हैं। ताजा मामला प्रदेश के छतरपुर जिले से है, जहां बसपा नेता महेंद्र कुमार गुप्ता की हत्या कर दी गई है, बदमाशों ने उनके सिर में गोली मारी। जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना सोमवार रात करीब 9.30 बजे की है। महेंद्र कुमार गुप्ता एक शादी समारोह में शामिल होने आए थे। तभी गजराज पैलेस के सामने पहले से खड़े बदमाशों ने उन पर फायरिंग कर दी। गोली लगते ही वो नीचे गिर पड़े।

घटना की जानकारी मिलते ही सीएसपी अमन मिश्रा, सिटी कोतवाली प्रभारी अरविंद कुजूर समेत बड़ी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंचा। आरोपी वारदात के बाद फरार हो गए। जिनकी तलाश की जा रही है। घटना के समय मृतक महेंद्र गुप्ता के साथ उनका ड्राइवर अब्दुल मंसूरी भी था। पुलिस उसे पूछताछ के लिए थाने ले गई। 

विधानसभा चुनाव में बसपा प्रत्याशी थे

महेंद्र कुमार गुप्ता बसपा के जिला उपाध्यक्ष थे। वे सरपंच भी रह चुके हैं। विधानसभा चुनाव 2023 में छतरपुर जिले की बिजावर सीट से बसपा के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ा था। इस चुनाव में वे तीसरे नंबर पर रहे थे। उन्हें 10443 वोट मिले थे। 

घटनास्थल पर जांच करती पुलिस व लोगों की भीड़।
MP: BPL कार्ड नहीं बनाया, पिटाई की, अब धोखे से राजीनामे पर हस्ताक्षर! जानिए क्या है मामला?
घटनास्थल पर जांच करती पुलिस व लोगों की भीड़।
फॉलोअप: चारपाई के नीचे विस्फोटक से मौत के बाद दहशत में परिवार, मामले में अब तक एक भी गिरफ्तारी नहीं

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com