वांटेड आरोपी पर 50 पैसे का इनाम! जानिये राजस्थान के इस IPS अधिकारी ने क्यों दिया ऐसा अजीबोगरीब आदेश

झुंझुनू एसपी बोले समाज को मैसेज देने के लिए वांछित अपराधी पर 50 पैसे की इनाम राशि घोषित की है। ताकि समाज में अपराधियों का भय कम हो सके। अपराधियों को भी यह अहसास हो सके कि उनकी क्या औकात है।
झुंझुनू के पुलिस अधीक्षक ने 12 फरवरी को एक आदेश जारी किया जिसमे योगेश उर्फ योगी पर 50 पैसे इनाम राशि घोषित की.
झुंझुनू के पुलिस अधीक्षक ने 12 फरवरी को एक आदेश जारी किया जिसमे योगेश उर्फ योगी पर 50 पैसे इनाम राशि घोषित की.

जयपुर- जितना बड़ा अपराध, वांछित अपराधी पर उतना बड़ा इनाम। पुलिस इसी प्रणाली पर वांछित अपराधियों पर इनाम की राशि घोषित करती रही है। राजस्थान के झुंझुनू जिला एसपी देवेन्द्र कुमार बिश्नोई ने पुलिस की इस परंपरा को बदलते हुए आर्म्स एक्ट के अपराध में वांछित एक आरोपी पर 50 पैसे का इनाम घोषित किया है। इसे लेकर देशभर में चर्चा हो रही है।

एसपी ने सिंघाना थाना क्षेत्र के वांछित आरोपी योगेश उर्फ योगी पर 50 पैसे की इनाम राशि घोषित की है। आरोपी योगेश के खिलाफ सिंघाना थाने में दो मामले दर्ज हैं। वह करीब एक साल से फरार चल रहा है। थाना पुलिस काफी प्रयास के बाद भी आरोपी को पकड़ नहीं पाई है। इस पर पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र कुमार बिश्नोई ने 12 फरवरी को एक आदेश जारी कर योगेश उर्फ योगी पर 50 पैसे इनाम राशि घोषित की।

एसपी ने अपने आदेश में लिखा कि योगेश उर्फ योगी पुत्र उम्मेद सिंह मेघवाल निवासी सिलारपुरी थाना सिंघाना जिला झुंझुनू पर सिंघाना थाने में 75/2023 और 76/2023 आम्र्स एक्ट के तहत दो अलग-अलग मामले दर्ज हैं। वांछित अपराधी को बंदी बनाने व बंदी करवाने या पकडऩे तथा पकड़वाने पर 50 पैसे की इनाम राशि दी जाएगी। बिश्नोई के अनुसार उन्होंने यह इनाम राशि राजस्थान पुलिस नियम 1965 की धारा 4.18 की प्रदत्त शक्तियों प्रयोग करते हुए जारी की है।  

परंपरा से हटकर एक वांछित अपराधी पर महज पचास पैसे इनाम राशि घोषित करने का कारण जानने के लिए द मूकनायक ने पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र कुमार बिश्नोई से बात की।

एसपी ने द मूकनायक से बात करते हुए कहा कि यह सच है कि आज तक पुलिस महकमे में अपराध के हिसाब से ही वांछित अपराधी पर इनाम की राशि घोषित होती रही है। ऐसे कई उदाहरण भी हैं।  

उन्होंने कहा कि कानून की नजर में अपराधी की कोई वैल्यू नहीं है। अपराधी बस अपराधी है। समाज में भी अपराधी की वैल्यू नहीं होनी चाहिए। उन्होंने समाज को मैसेज देने के लिए वांछित अपराधी पर 50 पैसे की इनाम राशि घोषित की है। ताकि समाज में अपराधियों का भय कम हो सके। अपराधियों को भी यह अहसास हो सके कि उनकी क्या औकात है।

एसपी बिश्नोई कहते हैं कि मेरा अपना मानना है कि जिस तरह खिलाड़ियों को अच्छे प्रदर्शन पर गोल्ड मेडल, सिल्वर आदि कैटेगरी के अनुसार मेडल दिया जाता है। ठीक उसी तरह अपराधियों पर बड़ी इनाम राशि घोषित करना उन्हें मेडल देने जैसा है। जिस पर जितनी बड़ी इनाम राशि घोषित होती है। अपराध की दुनिया में इनाम राशि के अनुसार ही अपराधियों को दर्जा मिलता है। 50 पैसे की इनाम राशि घोषित होने से अपराधी का मनोबल गिरेगा।

कैसे घोषित होता है इनाम?

पुलिस विभाग के जानकारों के अनुसार कानून में किसी भी बदमाश पर इनाम घोषित करने का कोई प्रावधान नहीं है। हालांकि पुलिस विभाग में यह व्यवस्था की गई है। पद के अनुसार पुलिस अधिकारी किसी वांछित अपराधी पर निर्धारित सीमा तक इनाम राशि घोषित कर सकते हैं। कानून व्यवस्था राज्य सरकार के अंतर्गत आती है। ऐसे में अधिकारियों के निर्धारित सीमा से अधिक इनाम राशि घोषित करने का निर्णय राज्य सरकार लेती है। पुलिस अधीक्षक झुंझुनूं ने बताया कि इनाम राशि की घोषणा अधिकारी अपने कार्यालय बजट से ही करता है। अपराधियों को पकड़ने वालों को घोषित इनाम राशि दी जाती है, लेकिन अभी तक देखा गया है कि इनाम राशि लेने वाले ज्यादातर पुलिस कर्मी ही रहे हैं।

उन्होंने कहा कि पुलिस में मुखबिर तंत्र भी काम करता है। पुलिस कांस्टेबल से लेकर उच्च अधिकारी तक अपने गोपनीय सूत्र होते हैं। जो क्षेत्र में अपराध व अपराधियों के बारे में जानकारी देते हैं। अपराधियों के पकड़वाने में सहयोग करने वाले मुखबिर को अधिकारी अपने हिसाब से राशि देते हैं। मुखबिर का अपराधी को पकड़वाने या पीछा करने में वाहन या अन्य खर्च का आकलन कर उसे सहयोग राशि प्रदान की जाती है। पुलिस मुखबिर की सूचना सार्वजनिक नहीं करती है।

भारत में सबसे ज्यादा लगभग ढाई करोड़ रुपये का इनाम मुफाला लक्ष्मण राव उर्फ गणपति पर रखा गया है। दूसरे नंबर पर अंडरवल्र्ड डॉन दाऊद इब्राहिम है जिस पर 25 लाख रुपये का इनाम है। तीसरे नंबर पर वीरप्पन था जिसपर 20 लाख रुपये के इनाम की घोषणा की गई थी।

झुंझुनू के पुलिस अधीक्षक ने 12 फरवरी को एक आदेश जारी किया जिसमे योगेश उर्फ योगी पर 50 पैसे इनाम राशि घोषित की.
मध्य प्रदेश: नर्सिंग कॉलेज फर्जीवाड़े में CBI ने पूरी की जांच, 139 कॉलेजों पर लटकी तलवार!
झुंझुनू के पुलिस अधीक्षक ने 12 फरवरी को एक आदेश जारी किया जिसमे योगेश उर्फ योगी पर 50 पैसे इनाम राशि घोषित की.
राजस्थान के सरकारी स्कूलों में धार्मिक गतिविधियों का विरोध कर रहे मुस्लिम संगठनों ने राज्य की धर्मनिरपेक्षिता पर क्या कहा?

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com