एमपीः बजट सत्र में सरकार को घेरने के लिए कांग्रेस ने बनाई 'अचूक' रणनीति

द मूकनायक से बातचीत में नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार ने कहा "भाजपा ने अपने वचन-पत्र मध्य प्रदेश की जनता से जो वादे किए वह पूरे नहीं हुए। बेरोजगारी लगातार बढ़ रही है और सरकार कर्ज ले रही है, यह कर्ज किसके लिए लिया जा रहा है। हम सवाल करेंगे क्या सरकार यह कर्ज भ्रष्ट अधिकारियों और ठेकेदारों की जेब भरने के लिए लिया गया?"
फाइल फोटो
फाइल फोटो

भोपाल। मध्य प्रदेश में विधानसभा बजट सत्र में इस बार जोरदार हंगामा होने के आसार है। 1 जुलाई से शुरू हो रहे बजट सत्र के लिए कांग्रेस ने सरकार को घेरने के लिए रणनीति बनाई है। इसके लिए कांग्रेस विधायकों को नेता प्रतिपक्ष की ओर से निर्देश जारी किए जा चुके हैं। द मूकनायक प्रतिनिधि से बातचीत में नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार ने उन सभी मुद्दों का जिक्र किया जिनपर सदन में सरकार की चौतरफा घेराबंदी की जाएगी।

द मूकनायक

प्रदेश में बीजेपी जिन प्रमुख वादों को लेकर सत्ता में आई वह अब भी अधूरे हैं। कांग्रेस का आरोप है कि महिलाओं को 450 रुपये का गैस सिलेंडर, 3 हजार रुपये लाडली बहनों को और किसानों को उनकी फसल का समर्थन मूल्य सरकार नहीं दे रही है। कांग्रेस इन मुद्दों को जोर-सोर से सदन में उठाएगी।

द मूकनायक प्रतिनिधि से बातचीत करते हुए नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार ने कहा, 'हम सरकार की वादाखिलाफी नहीं चलने देंगे। विपक्ष ने सदन में सरकार को घेरने की रणनीति तैयार कर ली है। विधायकों को अलग-अलग मुद्दों को प्रभावी रूप से तैयारी के साथ उठाने को कहा गया है।"

नेता प्रतिपक्ष ने आगे कहा, "भाजपा ने अपने वचन-पत्र मध्य प्रदेश की जनता से जो वादे किए वह पूरे नहीं हुए। बेरोजगारी लगातार बढ़ रही है, और सरकार कर्ज ले रही है, यह कर्ज किसके लिए लिया जा रहा है। हम सवाल करेंगे क्या सरकार यह कर्ज भृष्ट अधिकारियों और ठेकेदारों की जेब भरने के लिए लिया गया?.. जल जीवन मिशन की बात सरकार कर रही, लेकिन धरातल पर जाओ तो कोई काम नहीं दिखता।"

कांग्रेस का यह भी कहना है कि प्रदेश में लगातार बेरोजगारी, महंगाई, भ्रष्टाचार बढ़ रहा है। इन पर सरकार का कोई अंकुश नहीं है। नर्सिंग घोटाले पेपर लीक जैसी घटनाएं सामने आई हैं, जिससे सीधे तौर पर युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है। हम यह बात लगातार कर रहे हैं कि भाजपा अपने वचनों को पूरा नहीं कर रही है।

क्षेत्रीय मुद्दों पर फोकस

बजट सत्र शुरू होने से पहले कांग्रेस के 3 विधायक पार्टी का साथ छोड़ चुके हैं। ऐसे में सरकार को घेरना कांग्रेस के लिए बड़ी चुनौती है, लेकिन नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार ने रणनीति बनाते हुए सभी विधायकों को प्रदेश के बड़े मामलों के साथ अपने क्षेत्र के मुद्दे जोर-शोर से उठने के लिए कहा है। साथ ही सबूत और तथ्यों के साथ विधानसभा में आने के निर्देश दिए गए हैं।

फाइल फोटो
मध्य प्रदेश: छतरपुर में दलित युवक को नग्न कर पीटा, पुलिस ने आरोपियों का निकाला जुलूस
फाइल फोटो
MP के SC-ST नेताओं को मंत्रिमंडल में शामिल कर भाजपा ने ऐसे साधा जातीय समीकरण?
फाइल फोटो
MP: अब नहीं कटेंगे भोपाल के 29 हजार पेड़, सरकार ने वापस लिया प्रस्ताव

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com