नई दिल्ली: EVM के खिलाफ मुखर हुआ विरोध, कांग्रेस पार्टी के कई नेताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया

वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह सहित अन्य नेता हुए थे प्रदर्शन में शामिल।
कांग्रेस नेताओं को ले जाती हुई पुलिस
कांग्रेस नेताओं को ले जाती हुई पुलिसफोटो साभार- @Dr_Uditraj

नई दिल्ली। इलेक्ट्रिॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) की खामियों के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी में गुरुवार को ईवीएम हटाओ मोर्चा व अन्य संगठनों के प्रदर्शन में शामिल हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह व अन्य को हिरासत में लिया गया।

ईवीएम हटाओ मोर्चा की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार इंडिया गठबंधन, सामाजिक संगठनों, बुद्धिजीवियों और देश के नागरिकों के मंच की ओर से जंतर मंतर, नई दिल्ली पर विशाल सभा का आयोजन किया गया था, लेकिन दिल्ली पुलिस ने ऐन वक्त पर इसकी अनुमति रद्द कर दी तो यह कार्यक्रम इंडियन यूथ कार्यालय, रायसिना रोड में करना पड़ा। यहां ईवीएम के मुद्दे पर शांतिपूर्वक ढंग से प्रदर्शन के दौरान इंडियन यूथ कांग्रेस कार्यालय से दिग्विजय सिंह व डॉ. उदित राज सहित सैकड़ों कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया, जिनको पार्लियामेंट थाने पर रखा गया है। इसीप्रकार आप सरकार में पूर्व मंत्री व विधायक राजेंद्र पाल गौतम को हिरासत में लेकर इन्द्रपुरी थाने में रखा गया है।

दिग्विजय सिंह ने सीजेआई से पूछे सवाल

इससे पहले दिग्विजय सिंह ने सीजेआई से मांग करते हुए पूछा, "आपको और क्या सबूत चाहिए? आप घोटालेबाजों और बेईमान लोगों को वीवीपैट ईवीएम में हेरफेर करने और दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में चुनाव जीतने की अनुमति कैसे दे सकते हैं, जिसे हमारे नरेंद्र मोदी माननीय प्रधानमंत्री सही ही “लोकतंत्र की जननी” कहते हैं, मुझे आप पर विश्वास है कि आपने स्वयं यह टिप्पणी की है कि सोर्स कोडध्सॉफ्टवेयर ऐसा कर सकता है. क्या इसे सार्वजनिक नहीं किया जाना चाहिए क्योंकि इससे हैकिंग या हेरफेर की अनुमति मिल सकती है? क्या मैं सही हूं?"

ईवीएम हटाओ मोर्चा संयोजक डॉ. उदित राज ने कहा, "देश इस समय अघोषित आपातकाल के दौर से गुजर रहा है। करीब 300 किलोमीटर दूर किसान आंदोलित हैं, उसको कारण बताकर जनतंत्र का गला घोंटा जा रहा है। मोदी सरकार ऐसा इसलिए कर रही है कि भ्रष्टाचार, महंगाई व बेरोजगारी के खिलाफ आवाज न उठे और किसान आंदोलन न हो सके। संभव है कि 12 मार्च तक चुनाव आचार संहिता की घोषणा हो जाए और तब तक दिल्ली की राजधानी में आंदोलन न हो। भाजपा सरकार यह भी बहाना बना रही है कि अन्य धरना-प्रदर्शन पर भी तो रोक लगी है, लेकिन मुख्य कारण ईवीएम विरोधी आंदोलन को रोकना है।"

प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस महासचिव दीपक बाबरिया, दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अरविंदर सिंह लवली, पूर्व सांसद और ईवीएम हटाओ मोर्चा संयोजक डॉ. उदित राज, पूर्व मंत्री दिल्ली सरकार व विधायक राजेन्द्र पाल गौतम और वरिष्ठ अधिवक्ता महमूद प्राचा सभा को संबोधित किया। प्रदर्शन में हजारों की संख्या में विभिन्न संगठनों के कार्यकर्ता व नागरिक देश के विभिन्न भागों से आकर शामिल हुए।

कांग्रेस नेताओं को ले जाती हुई पुलिस
क्या है वह विधेयक जिसके तहत कर्नाटक सरकार मंदिरों से वसूलेगी 10 प्रतिशत टैक्स?
कांग्रेस नेताओं को ले जाती हुई पुलिस
किसानों ने कहा - “आंदोलन को बदनाम करने की कोशिश कर रही है सरकार”
कांग्रेस नेताओं को ले जाती हुई पुलिस
उत्तर प्रदेश: दलित बेटियों की शादी में खलल डालने की तैयारी, पुलिस ने आरोपियों को किया पाबंद

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com