मणिपुर के लिए SSC ने नौकरी परीक्षा परिणाम क्यों लिए वापस?

18 मार्च के नोटिस में SSC ने कहा कि 15 मार्च को प्रकाशित परिणाम को वापस ले लिया गया है। उम्मीदवारों के पूरे आंकड़े को शामिल करते हुए मणिपुर के संबंध में संशोधित अंतिम परिणाम शीघ्र ही प्रकाशित किया जाएगा।
मणिपुर के लिए नौकरी परीक्षा परिणाम वापस
मणिपुर के लिए नौकरी परीक्षा परिणाम वापसग्राफिक- द मूकनायक

नई दिल्ली: केंद्र सरकार के मंत्रालयों के लिए भर्ती आयोजित करने वाले कर्मचारी चयन आयोग (SSC) ने अनजाने में एक चरण का आंकड़ा छूट जाने के बाद मणिपुर के लिए परीक्षा परिणाम वापस ले लिया है। SSC के इस निर्णय के बाद परीक्षा देकर नौकरी की आस लगाए बैठे उम्मीदवारों में निराशा छा गई, अब वह परेशान हैं.

आयोग ने 15 मार्च को मणिपुर राज्य के लिए केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ), सचिवालय सुरक्षा बल (एसएसएफ) में कांस्टेबल (सामान्य ड्यूटी), असम राइफल्स में राइफलमैन (सामान्य ड्यूटी) और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो परीक्षा, 2022 में सिपाही का अंतिम परिणाम घोषित किया था।

एसएससी ने एक नोटिस में कहा कि मणिपुर में कानून और व्यवस्था की स्थिति के कारण, राज्य से संबंधित उम्मीदवारों के संबंध में शारीरिक और चिकित्सा परीक्षण कई चरणों में आयोजित किए गए थे। 15 मार्च को परिणाम जारी करते समय, एक चरण से संबंधित आंकड़ा अनजाने में छूट गया था। एसएससी के 18 मार्च के नोटिस में कहा गया कि इन तथ्यों के मद्देनजर, 15 मार्च को प्रकाशित परिणाम को वापस ले लिया गया है। उम्मीदवारों के पूरे आंकड़े को शामिल करते हुए मणिपुर के संबंध में संशोधित अंतिम परिणाम शीघ्र ही प्रकाशित किया जाएगा।

एसएससी सरकार की सबसे बड़ी भर्ती एजेंसियों में से एक है, जिसका मुख्य कार्य विभिन्न केंद्रीय मंत्रालयों और विभागों में सभी ग्रुप बी (गैर-राजपत्रित) और ग्रुप सी (गैर-तकनीकी) पदों पर भर्ती करना है। मणिपुर से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक राजकुमार इमो सिंह ने एक्स पर कहा कि मुख्य सचिव को केंद्र सरकार के अधिकारियों के समक्ष मामला उठाने के लिए कहा गया है।

उन्होंने कहा कि क्या यह सचमुच त्रुटि है या तंत्र में गहरी घुसपैठ है, खासकर उन जगहों पर जहां हम सामान्य आधार पर नहीं पहुंच पा रहे हैं? लेकिन राज्य सरकार ऐसे घुसपैठियों के खिलाफ लड़ रही है। मुख्य सचिव को इस मामले को केंद्रीय अधिकारियों के समक्ष उठाने और इसमें सुधार सुनिश्चित करने के लिए कहा गया। तीन बार के विधायक सिंह ने मंगलवार रात को पोस्ट में कहा कि यह आसान नहीं होने वाला है, लेकिन हम सभी को अपने राज्य के हित के लिए एकजुट होना होगा।

द मूकनायक टीम ने इस मसले पर ज़ोमी स्टूडेंट्स फेडरेशन के पदाधिकारियों से बात की, लेकिन खबर लिखे जाने तक उनका कोई जवाब नहीं मिला. उन्होंने बयान जारी करने के लिए समय मांगा है. जैसे ही उनका कोई जवाब मिलता है, उसे खबर में अपडेट कर दिया जाएगा.

मणिपुर के लिए नौकरी परीक्षा परिणाम वापस
घर को बना दिया स्कूल, खुद के पैसों से रखे अध्यापक, हाशिये के समाज के बच्चे पा रहे गुणवत्तापूर्ण शिक्षा! कौन हैं गरिमा चौधरी?
मणिपुर के लिए नौकरी परीक्षा परिणाम वापस
मणिपुर में मौजूदा हालात: हजारों की संख्या में राहत शिविरों में अभी भी दिन गुजार रहे लोग, घर और गांव जलने से आगे कोई रास्ता नहीं!
मणिपुर के लिए नौकरी परीक्षा परिणाम वापस
मणिपुर: 'भारत जोड़ो न्याय यात्रा' को लेकर कुकी और मैतेई समुदाय के लोग क्या सोचते हैं?

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com