राजस्थान: केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह को पानी के मुद्दे पर किसानों ने घेरा!

पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना की मांग को लेकर आंदोलित हुए किसान।
सभा स्थल से किसानों को वाहनों में ठूसती पुलिस
सभा स्थल से किसानों को वाहनों में ठूसती पुलिस

जयपुर। राजस्थान की राजधानी जयपुर से 155 किलोमीटर दूर गंगापुर सिटी जिला मुख्यालय के पास थड़ी गांव में इफको द्वारा आयोजित सहकार किसान सम्मेलन में पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना (ईआरसीपी) का मुुद्दा छाया रहा। सम्मेलन में केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह को किसानों के विरोध का सामना करना पड़ा। सम्मेलन में जैसे ही अमित शाह ने बोलना शुरू किया तो किसानों ने ईआरसीपी को राष्ट्रीय परियोजना घोष्ति करने की मांग करते हुए नारेबाजी शुरू कर दी। किसानों के विरोध पर अमित शाह ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कुछ लोगों को भेजा है। उन्हें भी कुछ देर प्रोटेस्ट कर लेने दो। प्रदर्शन कर रहे लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया।

गंगापुर सिटी पुलिस थाने में डिटेन किए गए ईआरसीपी संयुक्त मोर्चा के किसान
गंगापुर सिटी पुलिस थाने में डिटेन किए गए ईआरसीपी संयुक्त मोर्चा के किसान

गंगापुर सिटी के सदर पुलिस थाने में पुलिस हिरासत में बैठी आदिवासी महिला राजेश्वरी मीना ने द मूकनायक से बात करते हुए कहा कि हम कोई आतंकी नहीं हो जो पुलिस हमारे साथ इस तरह का व्यवहार कर रही है। आप ने किसान सम्मेलन आयोजित किया है। हम किसानों के हित की बात करने आए थे। केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री को ज्ञापन सौंप कर केन्द्र सरकार से ईआरसीपी को राष्ट्रीय परियोजना घोषित करने की मांग कर रहे थेे। इससे पूर्वी राजस्थान के किसानों को उनके हक का पानी मिल सके।

सभा स्थल से किसानों को वाहनों में ठूसती पुलिस
सभा स्थल से किसानों को वाहनों में ठूसती पुलिस

आदिवासी विधायक को भी उठा ले गई पुलिस

सहकार किसान सम्मेलन में आए केन्द्रीय गृहमंत्री एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह को ईआरसीपी को राष्ट्रीय परियोजना घोषित करने की मांग को लेकर सभा स्थल पर ज्ञापन देने जा रहे गंगापुर सिटी के आदिवासी विधायक रामकेश मीना को भी दर्जनों किसानों के साथ पुलिस गिरफ्तार कर अन्यत्र ले गई। हालांकि विधायक को साथी किसानों के साथ कुछ देर बाद छोड़ दिया गया।

ईआरसीपी के मुद्दे पर अमित शाह के ज्ञापन देने जाते हुए आदिवासी विधायक रामकेश मीणा को हिरासत में लेते पुलिस
ईआरसीपी के मुद्दे पर अमित शाह के ज्ञापन देने जाते हुए आदिवासी विधायक रामकेश मीणा को हिरासत में लेते पुलिस

जलशक्ति मंत्री को भी दिखाए थे काले झण्डे

आप को बता दें कि सहकार किसान सम्मेलन से दो दिन पूर्व गंगापुर सिटी पहुंचे केन्द्रीय जलशक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत को ईआरसी को राष्ट्रीय परियोजना घोषित करने की मांग कर रहे किसानों के विरोध का सामना करना पड़ा था। गंगापुर सिटी में प्रवेश के दौरान केन्द्रीय जलशक्ति मंत्री के काफिले के सामने किसानों के साथ विधायक रामकेश मीणा ने प्रदर्शन कर काले झण्डे दिखाए थे। इस बात को लेकर केन्द्रीय मंत्री ने उनकी सुरक्षा को लेकर गंगापुर सिटी एसपी को खरी खारी सुनाई थी। केन्द्रीय मंत्री को काले झण्डे दिखा कर विरोध के वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं।

यह भी पढ़ें-
सभा स्थल से किसानों को वाहनों में ठूसती पुलिस
Ground Report मणिपुर हिंसा: चुराचांदपुर में प्रवेश के लिए सिर्फ मुस्लिम ड्राइवर ही क्यों?
सभा स्थल से किसानों को वाहनों में ठूसती पुलिस
मणिपुर हिंसा ग्राउंड रिपोर्ट: रिलीफ कैंपों के कम स्पेस में करवटों में दिन गुजारती गर्भवती महिलाएं, नवजातों की जिंदगियां दांव पर
सभा स्थल से किसानों को वाहनों में ठूसती पुलिस
मणिपुर हिंसा ग्राउंड रिपोर्ट: चश्मदीद का आरोप, BJP कार्यकर्ता ने घर की मेढ़ पर कुकी व्यक्ति की काटकर लगाई थी गर्दन!

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com