राजस्थान: स्कूली छात्रों से भरा वाहन पलटा, छात्र की मौत, कई घायल

एक दर्जन से अधिक घायल सभी छात्र-छात्राएं दलित समुदाय से, ढाणी से सात किलोमीटर दूर कस्बे में अंग्रेजी शिक्षा के लिए जाते हैं ज्यादातर छात्र.
राजस्थान: स्कूली छात्रों से भरा वाहन पलटा, छात्र की मौत, कई घायल

जयपुर। राजस्थान के सवाईमाधोपुर जिले में मंगलवार सुबह विद्यार्थियों से भरा जुगाड़ (स्थानीय वाहन) पलट गया। हादसे में कक्षा पांच के एक छात्र की मौत हो गई। जबकि एक दर्जन से अधिक छात्र-छात्राएं घायल हो गए। मृतक अभिषेक (12) पुत्र मनीष बैरवा मानपुर ढाणी का रहने वाला है। घटना के बाद ग्रामीणों की सहायता से घायल विद्यार्थियों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां सभी का उपचार चल रहा है। सभी घायल विद्यार्थी दलित समाज से हैं, जोकि गांव से 7 किलोमीटर दूर बेहतर शिक्षा के लिए भगवतगढ़ कस्बे के महात्मा गांधी राजकीय अंग्रेजी माध्यम व अन्य स्कूलों में पढ़ने जाते हैं। जबकि इनके गांव मानपुर ढाणी में भी राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय है। विद्यार्थियों के अलावा जुगाड़ चालक व एक अन्य महिला भी हादसे में घायल हुई है।

जुगाड़ चालक पर गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज

घटना के बाद मृतक छात्र अभिषेक के पिता मनीष बैरवा ने जुगाड़ चालक व मालिक गोवर्धन (40) पुत्र रतिराम मीना निवासी अदलवाड़ा के खिलाफ लापरवाही से जुगाड़ चलाकर पलटने के आरोप में सूरवाल थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है। मृतक छात्र के पिता ने पुलिस को दी तहरीर में बताया कि आरोपी जुगाड़ चालक मानपुर ढाणी से जुगाड़ में क्षमता से अधिक सवारी व स्कूल के बच्चों को भरकर भगवतगढ़ ले जा रहा था। इसमें अलग-अलग स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चे बैठे थे। प्रार्थी का बेटा अभिषेक महात्मा गांधी राजकीय अंग्रेजी माध्यम स्कूल में कक्षा पांच में पढ़ता था। रास्ते में आरोपी चालक ने लापरवाही से चलाते हुए जानबूझ कर जुगाड़ को पलट दिया। जिससे विद्यार्थियों के चोट आई है। प्रार्थी के पुत्र की सवाईमाधोपुर जिला अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। दस से पन्द्र अन्य घायल हुए हैं। मृतक छात्र के पिता की रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने जुगाड़ चालक गोवर्धन मीना के खिलाफ आईपीसी की धारा 279, 337, 304 में प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 

ये विद्यार्थी हुए घायल 

पुलिस के अनुसार, हादसे में दीपक (17) पुत्र किशन लाल बैरवा के कंधे व गर्दन पर चोट है, रिंकु (13) पुत्री भंवरलाल बैरवा चेहरे व गर्दन पर चोट, काजल (12) पुत्री हरीशंकर बैरवा को चेस्ट व चेहरे पर चोट, अंजली (16) पुत्री हंसराज बैरवा को चेस्ट व कमर पर चोट, लोकेश (17) पुत्र घासीलाल बैरवा हाथ व पैर में चोट, पायल (14) पुत्री राजेन्द्र बैरवा को दाएं हाथ में चोट, अरविंद (15) पुत्र राकेश बैरवा हाथ व पैर में चोट, हरीश (10) पुत्र मुरारी बैरवा को कमर व पैर में चोट, अनुष्का (11) पुत्रह कालू बैरवा को कमर व पीठ में चोट लगी, मोनिका (15) पुत्री श्रीराम बैरवा को कान पर चोट लगी, राजेश (15) पुत्र घासीलाल बैरवा को सिर में चोट लगी, विक्रम (14) पुत्र चिरंजी लाल बैरवा को गर्दन व पीठ में तथा मनीषा (12) राजेन्द्र बैरवा को बाएं हाथ में चोट लगी है। सभी घायल विद्यार्थी ढाणी मानपुर के रहने वाले हैं। 

विद्यार्थियों के अलावा हादसे में जुगाड़ चालक व मालिक गोवर्धन (40) पुत्र रतिराम मीना निवासी अदलवाड़ा तथा रामघणी (30) पत्नी हुकमचंद बैरवा निवासी ढाणी मानपुर भी घायल हुई है। रामघणी बैरवा गांव से स्कूल के विद्यार्थियों के साथ जुगाड़ में बैठ कर भगवतगढ़ जा रही थी। 

हादसे की सूचन पर जिला कलक्टर खुशाल सिंह, अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक एजाज अली, पुलिस उपाधीक्षक दीपक खंडेलवाल व सूरवाला थानाधिकारी भी मय जाब्ते के जिला अस्पताल पहुंचे। जहां जिला कलक्टर खुशाल सिंह घायल विद्यार्थियों की कुशलक्षेम पूछी तथा चिकित्सकों को उपचार के आवश्यक निर्देश दिए।

सड़क सुरक्षा माह की सार्थकता पर सवाल

राजस्थान में इन दिनों सड़क सुरक्षा माह मनाया जा रहा है। सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के उद्धेश्य से शुरू किया गया सड़क सुरक्षा माह के तहत पुलिस यातायात निमयमों का उलंघन करने पर जुर्माना की कार्रवाई के साथ नियमों की पालना के लिए समझाईश भी कर रहे हैं। सवईमाधोपुर जिले के सूरवालज थाना क्षेत्र में क्षमता से अधिक स्कूली छात्रों को लेकर चलने वाले जुगाड़ पर कार्रवाई नहीं होना स्थानीय पुलिस प्रशासन की कार्यशैली पर सवाल खड़ा करता है। इससे पूर्व भी मार्च 2010 कोटा लालसोट मेगा हाइवे स्थित जस्टाना मोरेल नदी पुल पर रात्रि में तूड़ी से भरे जुगाड़ से टकरा कर बस मोरेल नदी में गिर गई। इस हादसे में 26 विद्यार्थियों की मौत हुई थी। 

बेहतर शिक्षा के लिए दलित छात्रों का जानलेवा सफर 

वरिष्ठ पत्रकार लोकेश टटवाल का कहना है कि दलितों के बच्चे बेहतर शिक्षा के लिए जान लेवा सफर कर रहे हैं। यह सच है कि मानपुर ढाणी में कक्षा 8वीं तक का सरकारी स्कूल है, लेकिन यहां के दलित समाज के बच्चे अंग्रेजी शिक्षा पाना चाहते हैं। यही वजह है कि जानलेवा सफर कर सात किलोमीटर दूर भगवतगढ़ कस्बे के स्कूलों में पढ़ने जाते हैं। मंगलवार को हादसे में मृतक छात्र अभिषेक बैरवा व अन्य घायल अनुसूचित जाति के विद्यार्थी हैं। सरकार को चाहिए कि गांव व ढाणियों से दूदराज के कस्बों में पढ़ने जाने वाले सभी विद्यार्थियों के लिए बेहरत व्यवस्था करें। ताकि सभी के बच्चे समान व बेहतर शिक्षा हासिल कर सके।

क्या मृतक छात्र को मिल पाएगा बीमा योजना का लाभ?

राजस्थान विद्यार्थी सुरक्षा दुर्घटना बीमा योजना की शुरुआत राजस्थान सरकार द्वारा 14 नवंबर 1996 को की गई थी। योजना का संचालन राज्य बीमा एवं प्रावधायी निधि विभाग (साधारण बीमा निधि) राजस्थान जयपुर द्वारा किया जा रहा है। इस योजना का मूल लक्ष्य छात्र की मृत्यु या शारीरिक क्षति होने पर अभिभावकों या संरक्षक को बीमा लाभ उपलब्ध कराना है। इस योजना में केवल वही अध्ययनरत छात्र शामिल होंगे जो राज्य में किसी भी राजकीय विद्यालय में नामांकित होंगे। राजस्थान विद्यार्थी सुरक्षा दुर्घटना बीमा योजना का लाभ लेने के लिए राजस्थान राज्य के मूल निवासी होना जरुरी है। साथ ही राजकीय विद्यालयों में कक्षा 1 से 8 में अध्ययनरत छात्र-छात्राऐं, राजकीय विद्यालयों में कक्षा 9 से 12 में अध्ययनरत् छात्र-छात्राऐं, राजकीय/निजी महाविधालय, विशवविद्यालय, तकनीकी एवं उच्च शिक्षा अध्ययनरत् छात्र-छात्रा भी लाभ ले सकते हैं। इस योजना के तहत पात्र छात्र-छात्राओं के दुर्घटना में घायल अथवा मृत्यु होने पर क्षतिपूर्ति दिया जाता है।  

इस दुर्घटना के बाद द मूकनायक ने अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी ऐजाज अली से बात की। एजाज अली ने कहा कि, जुगाड़ में यात्रा कर स्कूल जाने वाले सभी विद्यार्थी भगवतगढ़ के अलग-अलग स्कूलों में पढ़ने जाते हैं। मानपुर ढाणी में पांच सौ की आबादी है। यहां 90 प्रतिशत दलित समुदाय के लोग हैं। ढाणी में कक्षा 8वीं तक स्कूल है। यहां के कई बच्चे इंगलिश मीडियम स्कूल में पढ़ने के लिए भगवतगढ़ आते हैं।

राजस्थान: स्कूली छात्रों से भरा वाहन पलटा, छात्र की मौत, कई घायल
राजस्थान: राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के दिन ऐसा क्या हुआ कि प्रशासनिक अधिकारी न्यायालय में कर लिए गए तलब!
राजस्थान: स्कूली छात्रों से भरा वाहन पलटा, छात्र की मौत, कई घायल
मध्य प्रदेश: विलुप्त हो रहीं गिद्धों की प्रजातियां, प्रजनन केंद्र में कर रहे संरक्षण
राजस्थान: स्कूली छात्रों से भरा वाहन पलटा, छात्र की मौत, कई घायल
मध्य प्रदेश: गैस प्रभावित इलाकों के कैंसर रोगियों को मिलेगा एम्स में मुफ्त इलाज

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com