यूपी में रिंग सेरेमनी में दिव्यांग दलित युवक की हत्या, जयपुर में दलित के प्लॉट पर कब्जे का प्रयास

दलित उत्पीड़न
दलित उत्पीड़नग्राफिक- द मूकनायक

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के इटावा जिले में दलित दिव्यांग की चेहरा कूचकर हत्या कर दी गई है। युवक की भांजी की रिंग सेरेमनी थी। रात में 2 दोस्तों ने उसे पहले शराब पिलाई। फिर गेस्ट हाउस से बाहर ले गए। यहां पहले उसको मारा-पीटा। इसके बाद ईंट से चेहरा कूच दिया। वारदात के बाद दोनों आरोपी मौके से फरार हो गए।

सुबह घर वालों युवक को युवक का शव खून से लथपथ मिला। इसके बाद घरवालों ने पुलिस को सूचना दी। सूचना पर पहुंची पुलिस जांच करने में जुटी हुई है। फोरेंसिक टीम को बुलाया है।

पूरा मामला बकेवर इलाके की इंदिरा कालोनी का है। मृतक युवक का नाम अनिल कुमार (30) है। रविवार रात अनिल की भांजी की गोद भराई थी। रस्म घर के पास के ही गेस्ट हाउस में थी। परिवार के सभी लोग गेस्ट हाउस में ही मौजूद था। अनिल कुमार भी अपने दो दोस्तों शेखर और अशोक के साथ शामिल होने आया था।

अनिल कुमार ने पहले अपने दो दोस्तों के साथ शराब पी। इसके बाद इन लोगों में किसी बात को लेकर विवाद हो गया। हालांकि मामला उस वक्त शांत हो गया। इसके बाद अनिल दोस्तों के साथ गेस्ट हाउस के बाहर गया। यहां उसकी दोस्तों ने हत्या कर दी। इसके बाद फरार हो गए। पुलिस को मौके से तीन ग्लास, तीन देशी के क्वार्टर शराब, गेस्ट हाउस से लाई गई नमकीन, स्लाद की प्लेट और हत्या में इस्तेमाल आधी ईंट भी बरामद हुई है।

दिव्यांग होने पर छोड़कर चली गई थी पत्नी

मृतक के बड़े भाई ने बताया कि मेरे भाई की चार साल पहले शादी हुई थी। शादी के एक माह बाद ही बाइक दुर्घटना में दोनों हाथों से दिव्यांग हो गया था। जिसके बाद उसकी पत्नी छोड़कर चली गई थी। उसके बाद से बहुत परेशान रहता था। इसी वजह वह शराब भी पीने लगा था।

दलित के प्लॉट पर कब्जे का प्रयास

राजस्थान के जयपुर के नारायण विहार में भू-माफिया का आतंक इस कदर है कि पुलिस भी कार्रवाई के नाम पर लीपापोती कर पीड़ितों को थाने से रफादफा कर रही है। इतना ही नहीं एससी-एसटी वर्ग के पीड़ित का भी मामला दर्ज करने में पुलिस को पांच महीने का समय लग रहा है। ताजा मामला नारायण विहार के ओ ब्लाक का है। पीड़ित मुकेश मेघवंशी ने बताया कि राजू चौधरी नाम का भू माफिया गिरोह के साथ मिलकर नारायण विहार के कई प्लॉट पर कब्जा कर रखा है। प्लाट के आस-पास पिलर गाड़ कर खुद की जमीन होने की कहकर प्लॉट मालिकों को धमका रहा है।

इधर, पुलिस ने बताया कि धावास निवासी मुकेश मेघवंशी ने रिपोर्ट दर्ज करवाई है। साल-2013 में नारायण विहार फेज-3 में उन्होंने प्लाट खरीदा था। मालिकाना हक लेने के बाद प्लाट की चारों ओर की बाउंडीवाल बनाकर समय-समय पर देखरेख के लिए आने लगे। 11 अगस्त- 2023 में पड़ोसियों ने कॉल कर बताया- भू-माफिया गिरोह का बदमाश पिलर गाड़ कर तारबंदी कर आपके और खाली पड़े प्लॉट पर कब्जा कर रहे हैं। पड़ोसियों की सूचना पर प्लाट पर पहुंचने पर 7-10 लोग तारबंदी करते मिले।

आरोप है कि तारबंदी करने से मना करने पर एक व्यक्ति आया। खुद का नाम राजू चौधरी बताकर उसके बारे में पूछा। पीड़ित ने उसे खुद का नाम बताकर प्लाट होने के बारे में बताया। ये सुनते ही गुस्से में कथित भू-माफिया राजू चौधरी ने धमकी दी कि ये जमीन मेरी है, मैंने कोर्ट से स्टे ले रखा है। गिरोह में शामिल राजू चौधरी के रिश्तेदार और अन्य लोग आ गए। गाली-गलौज कर जाति सूचक शब्द बोलकर धमकी दी। धमकाया- तू यहां से निकल जा नहीं तो मार देंगे। पुलिस प्रशासन सब मेरी जेब में है। हमारा तो दिन रात यही काम है। झगड़े की सूचना पर पुलिस पीसीआर को आते देखकर भू-माफिया अपनी पिकअप में तारबंदी का सामान लेकर भाग गए।

दलित उत्पीड़न
तमिलनाडु: छात्रा को पूर्व सहपाठी ने जंजीरों से बांधा फिर ब्लेड से काटा, और जिंदा जला दिया
दलित उत्पीड़न
ग्राउंड रिपोर्ट: लखनऊ की इस मुस्लिम बस्ती को क्यों उजाड़ना चाहती है योगी सरकार?
दलित उत्पीड़न
मध्य प्रदेश: छात्रवृत्ति घोटालेबाजों ने दलित छात्रा के 300 रुपए तक नहीं छोड़े, 69 लाख का गबन!

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com