अब तक की खबरें: न्यूजक्लिक के कई पत्रकारों और स्टाफ के घरों पर पुलिस का छापा

अब तक की खबरें: न्यूजक्लिक के कई पत्रकारों और स्टाफ के घरों पर पुलिस का छापा

नई दिल्ली। देश की वो छोटी बड़ी खबरें जो आपके लिए जानना जरूरी है। द मूकनायक न्यूज ब्रीफ में आपके लिए ऐसी ही खबरें लेकर आया है।

न्यूजक्लिक से जुड़े पत्रकारों के घर पुलिस का छापा

न्यूजक्लिक के लिए काम करने वाले कई पत्रकारों ने सोशल मीडिया के जरिए जानकारी दी है कि आज सुबह उनके घर पुलिस पहुंची है. पुलिस ने उनके मोबाइल फोन और लैपटॉप जब्त कर लिया है। इस क्रम में, अभिसार शर्मा, उर्मिलेश, भाषा सिंह, संजय राजौरा, अनिंदोय चक्रवर्ती, सोहेल हाशमी, प्रबीर पुरकायस्थ शामिल हैं. माना जा रहा है कि इसमें अभी कई और नाम भी जुड़ सकते हैं। ये कार्रवाई न्यूज पोर्टल को चीन से फंडिंग के मिलने के आरोपों के आधार पर की गई है। जानकारी के मुताबिक पत्रकारों पर UAPA यानी गैरकानूनी गतिविधियां अधिनियम लगाया गया है।

इस कार्रवाई पर सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा दिखाई दे रहा है और बताया जा रहा है कि ये फ्रीडम ऑफ स्पीच पर हमला है।

गाजियाबाद: मंगेतर के सामने संबंध बनाने के लिए युवती पर दबाव डालने का आरोप

गाजियाबाद के नगर कोतवाली क्षेत्र में पीआरवी के सिपाही व होमगार्ड पर मंगेतर के साथ पार्क में घूमने आई युवती पर दबाव बनाकर मंगेतर के सामने ही शरीरिक संबंध बनाने का दबाव डालने के आरोप लगे हैं। पुलिस ने घटना के 12 दिन बाद आरोपी कांस्टेबल दिगंबर व होमगार्ड राकेश कुमार सहित एक अन्य के खिलाफ छेड़छाड़, अवैध हिरसात में रखने व वसूली के आरोपों के तहत प्राथमिकी दर्ज की है। मामला दर्ज होने के बाद पीआरवी कांस्टेबल दिगंबर को निलंबित कर दिया गया। जबकि होमगार्ड पर कार्रवाई के लिए संबंधित अधिकारी को पत्र लिखा है। गाजियाबाद नगर कोतवाली इंचाज निमिष पाटिल के अनुसार नोएडा इलाके की रहने वाली एक युवती ने तहरीर देकर आरोप लगाया कि 16 सितबंर को वह अपने मंगेतर के साथ सांई उपवन में घूमने आई थी। यहां अचानक डायल-112 की पीआरपी बाइक से कांस्टेबल दिगबंर, होमगार्ड राकेश कुमार एक अन्य व्यक्ति के साथ आए। आरोपियों ने आते ही युवती व उसके मंगेतर को जेल भेजने की धमकी दी। आरोपियों ने दबाव बनाने के लिए युवती के मंगेतर को थप्पड़ भी मारे। होमगार्ड राकेश कुमार ने मंगेतर के सामने ही युवती के साथ छेड़छाड़ कर संबंध बनाने का दबाव डाला।

पुलिस के अनुसार युवती ने 26 सितंबर को पुलिस कंट्रोल पर फोन किया था। फोन दिल्ली पुलिस के कंट्रोल से कनेक्ट हुआ। दिल्ली पुलिस ने 28 सितबंर को गाजियाबाद पुलिस को सूचित किया। तब युवती को तलाश कर तहरीर लेकर कार्रवाई की गई है। आरोपी सिपाही, होमगार्ड व एक अज्ञात के खिलाफ अश्लीलता, अवैध हिरासत में रखने और भ्रष्टाचार की धाराओं में केस दर्ज किया है। वहीं सिपाही को सस्पेंड कर दिया गया है। होमगार्ड पर कार्रवाई के लिए कमांडेट को पत्र लिख कर अज्ञात आरोपी की तलाश कर रहे हैं।

छह माह बाद पकड़ा गया महिला साथी पर जानलेवा हमले का आरोपी

नई दिल्ली के रूप नगर थाना क्षेत्र में लिव इन पार्टनर युवती पर जान लेवा हमले के आरोपी को पुलिस ने छह महीने बाद गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार आरोपी रिंकु छबीलपुर अलीगढ़ के छबीलपुर का रहने वाला है। पूर्व पति से संबंध खराब होने के बाद एक युवती दिल्ली के कमला नगर में आरोपी रिंकु के साथ लिव इन में रह रही थी। लिव इन में दोनों सात साल साथ रहे। इस बीच अचानक रिंकु को लिव इन में रह रही साथी महिला पर शक हुआ कि वह किसी और से प्यार करती है। इससे नाराज आरोपी ने 15 अप्रेल को हमला कर जख्मी कर दिया। जख्मी हालत में युवती को हिन्दराव अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उसके शरीर पर 850 टांके आए थे। विशेष आयुक्त क्राइम ब्रांच रवींद्र सिंह यादव के अनुसार इस संबंध में 15 अप्रैल को युवती के भाई ने आरोपी रिंकु के खिलाफ मामला दर्ज कराया था।

शिक्षा से वंचित छात्रों को सेना देगी सहारा

श्रीनगर में भारतीय सेना ने वंचित विद्यार्थियों को शैक्षिक अवसर प्रदान करने के लिए जम्मू-कश्मीर विशेष छात्रवृत्ति योजना-2023 शुरू की है। एक रक्षा प्रवक्ता ने रविवार को बताया कि सेना के सद्भावना ऑपरेशन के तहत शुरू की जा रही इस छात्रवृत्ति के माध्यम से घाटी के विभिन्न जिलों के 146 विद्यार्थियों में से प्रत्येक को पढ़ाई के लिए 1.2 लाख रुपए दिए जाएंगे। इन विद्यार्थियों के संबंध में शेष व्यय संबंधित विश्वविद्यालयों द्वारा वहन किया जाएगा। 12 संबद्ध विश्वविद्यालय हैं जिनमें ये छात्र अपनी उच्च शिक्षा हासिल करेंगे। प्रवक्ता ने कहा कि कुपवाड़ा जिले से सैकड़ों विद्यार्थियों ने आवेदन किया था जिनमें से लिखित परीक्षा और साक्षात्कार के आधार पर 34 विद्यार्थियों का चयन किया गया है।

जयपुर की फिजाओं में नफरत घोलने का असफल प्रयास?

जयपुर शहर में अमनपसंद लोग वास करते हैं। यहां की गंगा-जमनी तहजीब की मिसाल दी जाती है, लेकिन इन दिनों जयपुर की मोहब्बत भरी फिजाओं में नफरत घोलने का असफल प्रयास हो रहा है। बीते दिना दो बाइकों में भिड़ंत के बाद इकबाल नाम युवक की हत्या कर दी गई। पुलिस प्रशासन की सूझबूझ से मामला शांत हुआ। अभी लोग इकबाल की हत्या का गम भुला भी नहीं पाए थे कि जयपुर के शास्त्री नगर इलाके में मुस्लिम धर्मग्रंथ को फाड़ कर माहौल खराब करने की कोशिश की गई। विरोध में मुस्लिम समाज के लोगों ने शास्त्री नगर थाने का घेराव आरोपी को गिरफ्तार करने की मांग की।

सूत्रों के अनुसार आरसी सेंटर के पास एक युवक ने धार्मिक किताब को फाड़ दिया। इसके विरोध में मुस्लिम समाज के लोग थाने पहुंचे। जहां आरोपी युवक के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई गई। आरोप था कि पुलिस आरोपी को बचाने का प्रयास कर रही है। उधर सुभाष चौक थाने के बाहर भी मुस्लिम समाज रविवार रात दो बजे तक लोग प्रदर्शन करते रहे।

जानकारी के अनुसार इकबाल हत्याकांड से जुड़े आरोपियों के फोटो सोशल मीडिया पर वायरल होने के आद सुभाष चौकी पुलिस ने चार मुस्लिम युवकों को हिरसात में लिया था। पुलिस कार्रवाई को गैरवाजिब बताते हुए मुस्लिम समाज के दर्जनों लोग रात 11 बजे पुलिस थाने पहुंचे। इकबाल हत्याकांड के आरोपियों के फोटो के साथ वॉइस मैसेज वायरल करने के आरोप में हिरसात में लिए गए सभी युवकों को छोड़ने की मांग करने लगे। पुलिस कार्रवाई का विरोध बढ़ने लगा तो रात को ही अतिरिक्त जाता मौके पर बुलाया गया। एडिशनल कमिश्नर कुंवर राष्ट्रदीप भी मौके पर पहुंचे। भीड़ को कानून हाथ में नहीं लेने की बात कही। इस पर प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर गैर कानूनी दबाव बनाने का आरोप लगाया। आधी रात को विधायक रफीक खान और अमीन कागजी भी मौके पर पहुंचे। समझाइश कर भीड़ को रवाना किया।

अब तक की खबरें: न्यूजक्लिक के कई पत्रकारों और स्टाफ के घरों पर पुलिस का छापा
बिहार में जाति आधारित जनगणना के आंकड़े जारी होना सकारात्मक विकास और सामाजिक न्याय की दिशा में एक बड़ा कदम!
अब तक की खबरें: न्यूजक्लिक के कई पत्रकारों और स्टाफ के घरों पर पुलिस का छापा
दिल्ली: मंदिर में चढ़ाए गए प्रसाद को उठाने पर मुस्लिम की मॉब-लिंचिंग का क्या है पूरा मामला, पढ़िए ग्राउंड रिपोर्ट
अब तक की खबरें: न्यूजक्लिक के कई पत्रकारों और स्टाफ के घरों पर पुलिस का छापा
Ground Report- यूपी में ओडीएफ का सच: शौचालय यूज़ कर रहे सिर्फ बच्चे, बड़े जाते खुले में

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com