एसिड अटैक
एसिड अटैकसांकेतिक तस्वीर

कब खत्म होंगे महिलाओं पर एसिड अटैक के मामले? आगरा से ताजा मामला आया सामने

सहेली के साथ गांव में फोटोकॉपी कराने पहुंची थी पीड़िता. आरोपी ने पीछे से पीठ पर फेंका एसिड.

उत्तर प्रदेश। एसिड पर पूरी तरह पाबंदी होने के बावजूद भी यह महिलाओं पर हमले की वजह बन रहा है। आए दिन ऐसे मामले सामने आते रहते हैं, जिसमें एसिड से महिलाओं पर हमला किया जाता है। उत्तर प्रदेश के आगरा से एक दिल-दहलाने वाली खबर सामने आई है। बताया जा रहा है कि आगरा के शमसाबाद कस्बे की रहने वाली एक 11वीं की छात्रा के ऊपर शोहदों ने तेजाब फेंक दिया। घटना के बाद से परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है।

क्या है पूरा मामला?

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, आगरा के शमसाबाद कस्बे के एक गांव की रहने वाली 11वीं की छात्रा, शाम करीब छह बजे अपनी सहेली के साथ गांव में फोटोस्टेट कराने पहुंची थी। इस दौरान छात्रा की पीठ पर शोहदों ने तेजाब फेंक दिया और मौके से फरार हो गए। छात्रा की हालत गंभीर बनी हुई है। परिजनों ने छात्रा को अस्पताल में भर्ती कराया है। तेजाब फेंकने वाले व्यक्ति का अभी पता नहीं चल सका है।

युवती के परिजन ने थाना शमसाबाद में अज्ञात हमलावर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। एसीपी ने बताया कि घटना की जांच की जा रही है। तेजाब फेंकने का मुकदमा लिखा गया है।

क्या कहते हैं एनसीआरबी का डाटा!

राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) द्वारा जारी नवीनतम रिपोर्ट में कहा गया है कि बेंगलुरु में 2022 में देश में महिलाओं के खिलाफ सबसे ज्यादा एसिड हमले हुए। शहर पुलिस ने छह मामले दर्ज किए।

रिपोर्ट के मुताबिक, एनसीआरबी के आंकड़ों में सूचीबद्ध 19 महानगरीय शहरों में से बंगलूरू में पिछले साल आठ महिलाएं तेजाब हमले का शिकार हुईं। दूसरे स्थान पर देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली है, जहां 2022 में ऐसे सात मामले हुए। इसके बाद अहमदाबाद तीसरे स्थान पर रहा, जहां ऐसे पांच मामले दर्ज किए गए। पिछले साल बंगलुरु को झकझोर देने वाले तेजाब हमले के प्रमुख मामलों में से 24 वर्षीय एम कॉम की छात्रा पर तेजाब हमले का मामला था। छात्रा पर 28 अप्रैल को उस समय हमला किया गया था, जब वह अपने दफ्तर के लिए निकली थी। पुलिस के मुताबिक, आरोपी ने महिला के सामने शादी का प्रस्ताव रखा था, जिसे उनसे ठुकरा दिया था। बदला लेने के इरादे से आरोपी कई वर्षों से महिला का पीछा कर रहा था। आरोपी को बाद में मई में तिरुवन्नमलाई आश्रम से पकड़ा गया, जहां वह साधु के भेष में छिपा था।

दिल्ली में हमले के प्रयास के 7 मामले दर्ज किए गए

एनसीआरबी डेटा के विश्लेषण से पता चला है कि राष्ट्रीय राजधानी (दिल्ली) में हमले के प्रयास के 7 मामले दर्ज किए गए, इसके बाद बेंगलुरु में पिछले साल ऐसे 3 मामले दर्ज किए गए। इस बीच, हैदराबाद और अहमदाबाद जैसे महानगरीय शहरों ने 2022 में हमले के प्रयास के दो ऐसे मामले दर्ज किए।

कहां कितने मामले-

बंगलूरू- 8

दिल्ली- 7

अहमदाबाद- 5

कोलकाता- 2

गाजियाबाद- 2

कानपुर- 2

चेन्नई- 1

इंदौर- 1

मुंबई- 1

नागपुर- 1

एसिड अटैक
"मैं दलित हूँ, इसलिए मेरा चेम्बर बदल दिया गया", प्रशासनिक अधिकारी ने सीएमओ पर लगाए गम्भीर आरोप
एसिड अटैक
मध्य प्रदेश: सीएम के निर्देश के बाद खुले मीट-मछली की दुकानों पर प्रतिबंध, व्यापारियों के सामने रोजगार का संकट
एसिड अटैक
मणिपुर: कांगपोकपी के सदर हिल्स में एकसाथ दफनाए गए 19 शव, अंतिम यात्रा में ताजा हुईं हिंसा की यादें

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com