उत्तर प्रदेश: लाखन पासी का इतिहास संजोए है लखनऊ

शहर के इतिहास और संस्कृति पर कार्यशाला आयोजित.
उत्तर प्रदेश: लाखन पासी का इतिहास संजोए है लखनऊ
Pic credit: Shiva Thorat

लखनऊ। यूपी की राजधानी लखनऊ के महानगर स्थित एक गैर सरकारी संस्थान में लखनऊ के इतिहास और संस्कृति को लेकर दो दिवसीय कार्यशाला आयोजित हुई. इस कार्यक्रम में लखनऊ शहर को और अधिक विकसित करने के लिए बुद्धिजीवियों ने अपने अनुभव साझा किए।

इस आयोजन में "अरबनायसिंग लखनऊ" थीम पर वक्ताओं ने शहर के इतिहास, संस्कृति और विकास पर अपने मत रखे। इस कार्यक्रम का आयोजन अलीगंज स्थित गिरी इंस्टिट्यूट ऑफ़ डेवलपमेंट स्टडीज में किया गया। कार्यक्रम की निमंत्रक टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ़ सोशल साइंसेज मुंबई की स्कॉलर सुकृति शुक्ला थी। सुकृति शुक्ला इस विषय पर पीएचडी कर रही हैं। उन्होंने इस विषय में किए शोध के विषय में जानकारी दी। वहीं इस कार्यक्रम में प्रोफेसर वीणा तलवार ओल्डेनबर्ग (यूनिवर्सिटी ऑफ न्यूयार्क) और प्रोफेसर कजरी जैन (यूनिवर्सिटी ऑफ़ टोरंटो) ने लखनऊ से जुड़ी शोध जानकारी साझा की।

Pic credit: Shiva Thorat

आयोजन के पहले दिन प्रोफेसर वीणा ने अपने भाषण में लखनऊ के तीन महत्वपूर्ण घटनाओँ की जानकारी दी। वहीं इस कार्यक्रम में गिरी इंस्टिट्यूट ऑफ़ डेवलपमेंट स्टडीज के डायरेक्टर प्रोफेसर प्रमोद कुमार ने लखनऊ और गिरी इंस्टिट्यूट के जुड़ाव को लेकर अपने अनुभव साझा किए। प्रोफेसर विभूति राय और और प्रोफेसर रितु गुलाटी ने लखनऊ के भूविज्ञान और वास्तुकला के विषय में अमूल्य जानकारी श्रोताओं को दी।

इस कार्यक्रम में लखनऊ निवासी यूटूबर हिस्टोरियन कुंवर रावत ने भी लखनऊ से जुड़े इतिहास के बारे में जानकारी दी। इस कार्यक्रम के दौरान बड़ी संख्या में लोग उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें-
उत्तर प्रदेश: लाखन पासी का इतिहास संजोए है लखनऊ
नई दिल्ली: पत्नी से रेप मामले में पति पर मुकदमा चलेगा या नहीं, सुप्रीम कोर्ट करेगा विचार
उत्तर प्रदेश: लाखन पासी का इतिहास संजोए है लखनऊ
मध्य प्रदेश पटवारी परीक्षा घोटाला: पटवारी में दिव्यांग, वन रक्षक परीक्षा में वही केंडिडेट फिजिकल फिट!
उत्तर प्रदेश: लाखन पासी का इतिहास संजोए है लखनऊ
असम के इतिहास का स्याह दिन: गुवाहाटी की सड़कों पर किशोरी को दौड़ाया था निर्वस्त्र, आज भी कांप उठती है रूह

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com