हरियाणा: किन्नर बने रिटायर्ड पुलिसकर्मी का शव बरामद! जानिए क्या है पूरा मामला?

‘द मूकनायक’ को मिली जानकारी के मुताबिक, जीआरपी से रिटायर्ड इएसआई रविंद्र सिंह मूल रूप से फरीदाबाद के गांव गढ़ खेड़ा के रहनेवाले थे। सन् 1986 में कांस्टेबल के पद पर हरियाणा पुलिस में भर्ती हुआ था।
हरियाणा: किन्नर बने रिटायर्ड पुलिसकर्मी का शव बरामद! जानिए क्या है पूरा मामला?

हरियाणा। अंबाला शहर में महिला की वेशभूषा में एक व्यक्ति का शव मिला है। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, यह शव हरियाणा पुलिस से रिटायर हुए पुलिसकर्मी का है। थानेदार का कहना है कि रिटायर्ड पुलिसकर्मी किन्नर बन गया था। शव के कुछ दूरी पर उसकी स्कूटी भी बरामद हुई है। किन्नर के सिर पर चोट के निशान भी मिले हैं। अभी पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। हालांकि, परिजनों ने पुलिसकर्मी के किन्नर बनने की बात से इनकार किया है।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, अंबाला सदर थानाक्षेत्र के शंभू टोल प्लाजा के पास से रिटायर्ड पुलिसकर्मी का शव बरामद हुआ है। हरियाणा पुलिस का कहना है कि रविंदर नाम का पुलिस कर्मचारी राजकीय रेलवे पुलिस (GRP) से रिटायर होने के बाद किन्नर बन गया था। वह कालका चौक के पास रहता था। पुलिस को सूचना मिली थी कि शंभू टोल प्लाजा के पास किसी महिला की डेडबॉडी पड़ी मिली है। पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर शव को कब्जे में लिया और सीन ऑफ क्राइम की टीम ने मौके से साक्ष्य जुटाए। सदर थाना प्रभारी धर्मबीर कौशिक ने ‘द मूकनायक’ को बताया कि मृतक के सिर में चोट के निशान मिले हैं। इसके अलावा थोड़ी दूर पर जो स्कूटी बरामद हुई है, उसकी लाइट टूटी हुई है। ऐसे में एक्सीडेंट में स्कूटी के टूटने की संभावना जताई जा रही है। हालांकि, मौत के सही कारणों का खुलासा पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही होगा।

हरियाणा: किन्नर बने रिटायर्ड पुलिसकर्मी का शव बरामद! जानिए क्या है पूरा मामला?
मणिपुर में मौजूदा हालात: हजारों की संख्या में राहत शिविरों में अभी भी दिन गुजार रहे लोग, घर और गांव जलने से आगे कोई रास्ता नहीं!

स्कूटी की डिग्गी से मिली शराब की बोतल

पुलिस के मुताबिक, स्कूटी की डिग्गी से शराब की बंद बोतल मिली थी। वहीं शव खेतों के रास्ते में पड़ा था। साथ ही पुलिस को जमीन पर एक शॉल भी मिली है। पुलिस ने सभी साक्ष्यों को अपने कब्जे में लेकर आगे की जांच शुरू कर दी है। सदर थाना प्रभारी धर्मवीर कौशिक ने बताया कि अभी ब्लाइंड मर्डर है, पुलिस जल्द ही इसकी गुत्थी सुलझाएगी।

फरीदाबाद का रहने वाला था पुलिसकर्मी

‘द मूकनायक’ को मिली जानकारी के मुताबिक, जीआरपी से रिटायर्ड इएसआई रविंद्र सिंह मूल रूप से फरीदाबाद के गांव गढ़ खेड़ा का रहने वाला था। सन् 1986 में कांस्टेबल के पद पर हरियाणा पुलिस में भर्ती हुआ था। पुलिस के सूत्रों के अनुसार इएसआई की ज्यादातर पोस्टिंग अंबाला में ही रही है। सन् 2016 में वह इसी पद से रिटायर हुआ था। परिजनों से मिली जानकारी के मुताबिक, रविंदर 6 भाइयों में से दूसरे स्थान पर था। उनका बड़ा भाई बृजभान भी हरियाणा पुलिस से SI के पद से रिटायर्ड हैं। जबकि, उनका एक भतीजा हरियाणा पुलिस में ही हेड कांस्टेबल के पद पर तैनात है। परिजनों ने पुलिस से निष्पक्ष जांच करने की गुहार लगाई है।

परिजनों ने हत्या की जताई आशंका

इस मामले में परिजनों ने हत्या की आशंका जताई है, जिसके आधार पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। रविंदर राजकीय रेलवे पुलिस से रिटायर होने के बाद अंबाला सिटी में कालका चौक के पास पिछले 6 साल से धर्म की बहन गोगी के पास रहता था। रविंदर शनिवार देर शाम को घर जाने की बात कहकर वहां से निकला था। रविवार सुबह पुलिस ने शंभू टोल प्लाजा के पास खेतों से रविंदर का शव संदिग्ध हालातों में बरामद किया था। रविंदर ने महिला के कपड़े पहने हुए थे। प्रथम दृष्टया पुलिस ने रविंदर को किन्नर माना था, लेकिन रविंदर के परिजनों ने किसी तरह का जेंडर चेंज कराने से साफ इनकार कर दिया है। फरीदाबाद में रविंदर का पूरा परिवार था। जिसके बाद पुलिस ने रविंदर के परिजनों को सूचित किया।

हरियाणा: किन्नर बने रिटायर्ड पुलिसकर्मी का शव बरामद! जानिए क्या है पूरा मामला?
ग्राउंड रिपोर्ट: दिल्ली की इस कंपकंपाती ठंड में खुले आसमान के नीचे मलबे पर पलती जिंदगियाँ, कौन जिम्मेदार?

किन्नर नहीं तीन बच्चों का पिता था रविंद्र

रविंद्र की मौत की सूचना के बाद अंबाला पहुंचे दामाद रजनीश, भाई सतपाल व बृजभान ने बताया कि रविंदर शादीशुदा था। परिवार में पत्नी और दो बेटे व एक बेटी हैं। रविंदर के तीनों बच्चे शादीशुदा हैं। परिवार ने पुलिस द्वारा रविंदर को किन्नर कहने पर भी आपत्ति जताई है। परिवार का कहना है कि रविंदर को नाच-गाने का शुरु से ही शौक था, लेकिन ऐसा नहीं है कि रविंदर ने अपना जेंडर चेंज करवा लिया हो। रविंद्र ने अपनी एक गाने बजाने की मंडली भी बनाई हुई थी। परिवार के सदस्यों का कहना है कि हो सकता है रविंदर ने उसी के लिए महिला के कपड़े पहनें हो।

मकान को लेकर चल रहा था विवाद

रजनीश ने बताया कि रिटायरमेंट के बाद 2016-17 में उनके ससुर रविंदर ने अंबाला की रविदास बस्ती में मकान खरीदा था, जो कि लाल डोरे में था। जब रविंदर घर गया था तो पीछे से मकान मालिक ने घर पर ताला लगा दिया था। यह विवाद अब कोर्ट में विचाराधीन है। उन्होंने कुछ लेन-देन को लेकर भी हत्या की आशंका जताई है।

दो हफ्ते पहले गांव गया था रविंदर

परिजनों ने बताया कि रविंद्र 12 जनवरी को ही अंबाला से अपने गांव आया था। यहां 17 जनवरी तक अपने घर रुका। इस बीच 14 जनवरी को अपनी बेटी से मिलने उसके घर फरीदाबाद सेक्टर 65 में भी गया था।

हरियाणा: किन्नर बने रिटायर्ड पुलिसकर्मी का शव बरामद! जानिए क्या है पूरा मामला?
झारखंड: ट्रांसजेंडर के लिए बनेगा बोर्ड, जानिए सरकार के फैसले को लेकर क्या है समुदाय की राय?

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com