चंदौली में सेप्टिक टैंक की सफाई के दौरान चार की मौत।
चंदौली में सेप्टिक टैंक की सफाई के दौरान चार की मौत।

यूपी: सेप्टिक टैंक में सफाई के दौरान जहरीली गैस से घुटा दम, तीन मजदूरों समेत चार की मौत

चंदौली में सेप्टिक टैंक साफ करने गए तीन सफाईकर्मियों की जहरीली गैस की चपेट में आने से मौत हो गई. वहीं, इन्हें बचाने गए एक युवक की भी मौत हो गई. फिलहाल मौके पर पहुंची पुलिस की टीम ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

चंदौली. उत्तर प्रदेश के चंदौली से सनसनीखेज मामला सामने आया है. यहां सेप्टिक टैंक साफ करने गए तीन सफाईकर्मियों की जहरीली गैस की चपेट में आने से मौत हो गई.साथ ही इन्हें बचाने गए एक युवक की भी मौत हो गई. घटना के बाद चीख पुकार मचने के बाद स्थानीय लोगों ने चारों को टैंक से बाहर निकाला और पास के अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने सभी को मृत घोषित कर दिया. वहीं, मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

घटना मुगलसराय कोतवाली क्षेत्र के न्यू महाल इलाके की है. जानकारी के मुताबिक, 8 मई बधवार की रात करीब 11 बजे विनोद रावत, कुंदन और लोहा पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर के लाठ नंबर दो के रहने वाले भरतलाल जायसवाल के घर के बाहर सेप्टिक सफाई का काम कर रहे थे. ये तीनों मजदूर मुगलसराय के काली महल इलाके के रहने वाले थे.

स्थानीय लोगों के मुताबिक, यह टैंक करीब 12 फुट गहरा था. तीनों सफाईकर्मी आधा टैंक साफ कर चुके थे. इस दौरान तीनों एक-एक करके टैंक की जहरीली गैस की चपेट में आ गए और बेहोश हो गए. सफाईकर्मियों को टैंक में गिरता देख मकान मालिक का बेटा अंकुर जायसवाल उन्हें बचाने के लिए पहुंच गया, जो कि उन्हें बचाने के लिए सेप्टिक टैंक के अंदर चला गया. इस दौरान जहरीली गैस की चपेट में आने से वह भी बेहोश हो गया. यह मंजर देख वहां स्थानीय लोगों में हड़कंप मच गया. साथ ही मौके पर मौजूद लोगों में चीख पुकार मच गई.

लोगों ने जैसे-तैसे मशक्कत कर चारों को सेप्टिक टैंक से बाहर निकाला. इसके बाद लोगों ने पुलिस को कॉल कर मामले की जानकारी दी. वहीं, घायलों को अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने चारों को मृत घोषित कर दिया. इसके बाद वहां चीख पुकार मच गई. वहीं, मौके पर पहुंची पुलिस की टीम ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. पुलिस के मुताबिक, मामले की जांच की जा रही है. फिलहाल चारों की मौत के बाद से इलाके में कोहराम मचा हुआ है. मृतकों के परिवार वालों का रो-रोकर बुरा हाल है.

मृतक के परिजनों को 4-4 लाख की अनुग्रह राशि

टैंक की सफाई में जान गंवाने वाले श्रमिकों के परिवार को  4-4 लाख की अनुग्रह राशि दिए जाने की घोषणा की गई है। एसडीएम विराज पांडेय ने बताया कि भरत जायसवाल के घर में सीवर की सफाई के दौरान तीन मजदूरों और भरत के बेटे की मौत हुई है। जिला प्रशासन पीड़ित परिवारों को हर संभव मदद उपलब्ध कराएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है।

चंदौली में सेप्टिक टैंक की सफाई के दौरान चार की मौत।
उत्तर प्रदेश: सीवर सफाई के लिए उतरे दो सफाईकर्मियों की दम घुटने से मौत
चंदौली में सेप्टिक टैंक की सफाई के दौरान चार की मौत।
ग्राउंड रिपोर्ट: आर्थिक परेशानियों से जूझ रहा रोहित का परिवार, मुंडका में सीवर सफाई के दौरान जहरीली गैस से हुई थी मौत
चंदौली में सेप्टिक टैंक की सफाई के दौरान चार की मौत।
तमिलनाडु: सेप्टिक टैंक की सफाई के दौरान दो दलित सफाईकर्मियों की जहरीली गैस से मौत

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com