मध्य प्रदेश: दलित सफाईकर्मियों पर तलवार से हमला, पुलिस पर कार्रवाई नहीं करने का आरोप

सफाई कर्मचारी और वाहन चालकों की चेतावनी- "जब तक धाराएं बढ़ाकर पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं करती तब तक हम काम पर नहीं लौटेंगे।"
सांकेतिक फोटो.
सांकेतिक फोटो.साभार- गूगल.

भोपाल। राजधानी में नगर निगम के दो सफाई कर्मचारियों पर डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन करते समय दो सगे भाइयों ने तलवार से हमला कर दिया। कर्मचारियों ने दौड़ कर किसी तरह अपनी जान बचाई। इसके बाद गौतम नगर थाने पहुँच कर आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। सफाई कर्मचारियों ने पुलिस पर कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया है। इधर, मध्य प्रदेश राज्य सफाई कर्मचारी आयोग ने भी घटना पर संज्ञान लिया है।

घटना के बाद सफाई कर्मचारियों ने गौतम नगर थाने का घेराव किया। पुलिस थाने में हंगामा बढ़ने पर पुलिस ने मारपीट और जान से मारने की धमकी समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया। इसके बाद भी कर्मचारियों ने आरोपियों की गिरफ्तारी और शासकीय कार्य में बाधा की धारा नहीं लगाने के चलते काम बंद करने का ऐलान कर दिया।

अपनी मांग को लेकर कर्मचारियों ने पुलिस प्रशासन को शहर में शुक्रवार को 800 कचरा गाड़ियों समेत 1250 वाहन बंद कर हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी.

क्या है पूरा मामला?

जानकारी के मुताबिक शाहजहांनाबाद निवासी मोहम्मद साजिद नगर निगम में दैनिक वेतन भोगी हैं और कचरा गाड़ी चलाते हैं। वे गुरुवार दोपहर वार्ड-15 जेपी नगर में रेखा इंगले और करण इंगले के साथ डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन करने पहुंचे। यहां पर रहने वाले तारिक और उसका छोटा भाई छोटू कचरा डालने आए।

वह गीला और सूखा कचरा एक साथ डालने लगे। इस पर सफाईकर्मियों ने उसे अलग-अलग करने को कहा। इतना कहते ही दोनों भाई भड़क गए और गाली-गलौज करते हुए घर में से तलवार ले आए और उन पर हमला कर दिया। कर्मचारी किसी तरह बचकर वहां से निकले और घटना के बारे में अधिकारियों को बताया, लेकिन कोई मौके पर नहीं आया।

घटना के बाद मोहम्मद साजिद साथी कर्मचारियों के साथ गौतम नगर थाने पहुंचे। यहां दोनों आरोपी भाइयों के खिलाफ मामला दर्ज कराया। घटना की जानकारी मिलते ही सफाई कर्मचारी गौतम नगर थाने पर इक्कठा हो गए। सफाईकर्मियों का आरोप था कि पुलिस ने वह धाराएं नहीं लगाई जो इस मामले में लगानी चाहिए थी। सफाईकर्मियों ने थाने का घेराव करते हुए धाराएं बढ़ाने की मांग की है।

समाचार लिखे जाने तक इस मामले में गिरफ्तारी नहीं हुई है। इधर, सफाई कर्मचारी और कचरा वाहन के ड्राइवर ने कहा है कि जब तक धाराएं बढ़ाकर पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं करती तबतक हम काम पर नहीं लौटेंगे।

मध्यप्रदेश शासकीय वाहन चालक एसोसिएशन के प्रदेश सचिव वसी सुल्तान ने बताया कि सभी वाहन चालक आरोपियों की गिरफ्तारी तक वाहन नहीं चलाएंगे, उन्होंने कहा- "आरोपियों ने तलवार लेकर हमारे साथी को मारने का प्रयास किया। मामले में शासकीय कार्य में बाधा की धारा लगना चाहिए। जब तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो जाती है, तब तक वाहन नहीं चलाएंगे।"

आयोग ने लिया संज्ञान

इस घटना में मध्य प्रदेश राज्य सफाई कर्मचारी आयोग ने भी संज्ञान लिया है। द मूकनायक से बातचीत करते हुए आयोग के अध्यक्ष प्रताप करसोसिया ने कहा- "आपके द्वारा मामला संज्ञान में आया है, जो गंभीर है। आरोपियों के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा की धारा बढ़नी चाहिए। आयोग इस मामले में जांच प्रतिवेदन मंगवाकर कर कार्यवाही करेगा।"

इधर, नगर निगम भोपाल के आयुक्त हरेंद्र नारायण का कहना है- "हमने आरोपियों की गिरफ्तारी करने की मांग के साथ ही उनके मकान की नपती कराई है। वाहन कर्मचारियों को भी इसके बारे में बताया है। सभी से बात हो गई है, निगम का सफाई का काम प्रभावित नहीं होगा, सभी काम पर जाएंगे।"

सांकेतिक फोटो.
मध्य प्रदेश: हॉस्टल में आठ साल की नाबालिग से बलात्कार, छोटे बच्चे हो रहे अपराध के शिकार!
सांकेतिक फोटो.
मध्य प्रदेश: पेयजल संकट, जंगल के प्राकृतिक जलस्रोत से पानी पीने को मजबूर ग्रामीण!
सांकेतिक फोटो.
मध्य प्रदेश: युवक ने प्रेमिका से कहा-"एससी/एसटी लड़कियों के साथ संबंध बनाना शौक है"

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com