उत्तर प्रदेश: दलित किशोर को पीटा-मिट्टी खिलाई और पेशाब पिलाई, भौंवे तक नोंच डाली!

किशोर के मुंह में मिट्टी ठूंसकर पीटा इसके बाद किशोर के पिता को फोन करके बुलाया और उनके साथ भी मारपीट की।
पीड़ित दलित किशोर
पीड़ित दलित किशोर

लखनऊ। यूपी के जौनपुर में दलित किशोर के साथ क्रूरता की हद पार कर दी गई। दलित युवकों को कभी मूँछ रखने के लिये पीटा जाता है और मूँछ काट दी जाती है तो कभी घोड़ी चढ़ने के लिये पीटा जाता है। इसी तरह अब तीन से चार युवकों ने पहले दलित किशोर को तालाब में डूबो-डूबोकर पीटा। फिर किशोर को पेशाब पिलाई। बाद में किशोर के मुंह में मिट्टी ठूंसकर पीटा और हाथ से उसकी भौं तक नोंच डाली। इसके बाद किशोर के पिता को फोन करके बुलाया और उनके साथ भी मारपीट की।

जानिए क्या है पूरा मामला?

यूपी के जौनपुर जिले के सुजानगंज थाना क्षेत्र के एक गांव में बदले की भावना में किशोर के साथ क्रूरता की गई है। दोनों ही पक्ष से पुलिस में शिकायत की गई है। दूसरे पक्ष ने किशोर पर अपने घर की बेटी के साथ छेड़छाड़ और मारपीट करने का आरोप लगाते हुए तहरीर दी है। जबकि किशोर पक्ष की ओर से युवकों की क्रूरता की कहानी बताई गई है। पुलिस ने दोनों पक्ष से एक-एक व्यक्ति को हिरासत में लेकर जांच शुरू कर दी है। किशोर के पिता ने पुलिस को बताया कि घटना शेखपुर खुटहनी गांव स्थित पेट्रोल पंप के पास हुई है। युवकों ने किशोर को पकड़कर पीटा, मुंह में मिट्टी ठूंसी, तालाब में डूबोकर पीटा और पेशाब भी पिलाई। किशोर की भौं भी छील दी।

वहीं, आरोपी युवकों ने भी सुजानगंज पुलिस को तहरीर दी है। उनका कहना है कि उनके घर की एक छात्रा के साथ किशोर ने उस समय छेड़खानी की थी जब वह महाविद्यालय जा रही थी। इस दौरान किशोर ने छात्रा को लेकर अभद्र टिप्पणी भी की थी। फिलहाल, पुलिस ने दोनों पक्ष से दो लोगों को हिरासत में लिया है। मामले की जांच की जा रही है। मामले में पुलिस ने किशोर को मेडिकल के लिए भेजा है। घटना के संबंध में बदलापुर अशोक कुमार ने बताया कि प्रार्थना पत्र मिला है।

किशोर के साथ दो युवकों ने मारपीट, गाली गलौज व अपमानजनक हरकत की है। दूसरे पक्ष की ओर से भी शिकायत मिली है। उनका कहना है कि उनकी बेटी जब महाविद्यालय जा रही थी, रास्ते में किशोर और उसके साथी ने छेड़खानी की। साथ ही अश्लील शब्दों का प्रयोग किया। दोनों प्रार्थना पत्रों पर थाना सुजानगंज पर समुचित धाराओं में अभियोग पंजीकृत कर दोनों पक्षों से एक एक व्यक्तियों को हिरासत में लेकर अग्रिम विधिक कार्रवाई की जा रही है।

पीड़ित दलित किशोर
चर्चित “ईश्वर और बाज़ार” किताब की लेखिका जसिंता केरकेट्टा ने इंडिया टुडे ग्रुप के अवार्ड को लेने से किया इंकार
पीड़ित दलित किशोर
उत्तर प्रदेश: प्रदेशभर में सभी बूचड़खाने, मांस की दुकानें बंद रखने के क्यों जारी हुए निर्देश?
पीड़ित दलित किशोर
राजस्थान चुनाव 2023: एक ऐसा जिला जहां आदिवासी पूरे परिवार के साथ करते हैं पलायन - ग्राउंड रिपोर्ट

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com