यूपी: दलितों ने क्यों लगाए मकान बिकाऊ के पोस्टर? देवबंद में छात्र की पिटाई

सहरानपुर के देवबंद के स्कूल से लौटते समय दलित छात्र की पिटाई कर दी गई। हाथरस में मामूली कहासुनी के बाद ठाकुर और जाटव (दलित) में मारपीट हुई।
यूपी: दलितों ने क्यों लगाए मकान बिकाऊ के पोस्टर? देवबंद में छात्र की पिटाई

उत्तर प्रदेश। हाथरस और सहरानपुर जिले में दलित उत्पीड़न के मामले सामने आए हैं। हाथरस की सासनी कोतवाली क्षेत्र के गांव सुसायत कला में मामूली कहासुनी के बाद ठाकुर और जाटव (दलित) में मारपीट हुई। जाटवों ने पुलिस से शिकायत की, आरोप है कि पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इस कारण दलित परिवार घर के बाहर मकान बिकाऊ है पोस्टर लगाए दिए. यह तस्वीरें जब सोशल मीडिया पर वायरल हुई तो हड़कम्प मच गया। पुलिस ने इन मामले में मुकदमा दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार किया है। वहीं सहरानपुर के देवबंद के स्कूल से लौटते समय दलित छात्र की पिटाई कर दी गई। पीड़ित परिजनों ने इस मामले में पुलिस से लिखित शिकायत की है।

हाथरस में सासनी क्षेत्र के गांव सुसायत कलां में मामूली कहासुनी को लेकर एक पक्ष ने दूसरे पक्ष पर हमला कर दिया था। इसमें एक पक्ष दलित था और दूसरा उच्च जाति का था। मारपीट का यह वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गया था। दलित समाज के लोगों का आरोप था कि पुलिस ने इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की है। जबकि, पुलिस का कहना था कि मुकदमा दर्ज कर दिया है।

घटना के बाद, दलित समाज के लोगों ने अपने घरों पर पर्चे चिपका दिए कि वह ठाकुरों के आतंक से गांव से पलायन करने को मजबूर हैं। ठाकुरों के आतंक से यह घर बिकाऊ है। इसकी जानकारी जैसे ही सासनी कोतवाली पुलिस को हुई तो पुलिस एक्शन में आ गई। पुलिस ने इस मामले में गांव पहुंचकर दलित समाज के लोगों को समझाया बुझाया और यह पर्चे हटवाए। इस मामले में अपर पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार का कहना है कि मुकदमा दर्ज कर दिया गया है और दो लोगों को हिरासत में भी लिया लिया गया है।

दलित छात्र को पीटकर किया घायल, चार युवकों ने की गाली-गलौज

सहारनपुर जिले के देवबंद में दलित छात्र के साथ मारपीट का मामला सामने आया है. आरोप है कि, स्कूल से घर वापस लौट रहे दलित छात्र के साथ चार युवकों ने गाली गलौज की, जाति सूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए लाठी डंडों व धारदार हथियारों से मारपीट कर घायल कर दिया। घटना के विरोध में दलित समाज के बहुत से लोग कोतवाली पहुंचे। पीड़ित के पिता ने आरोपियों के खिलाफ कोतवाली में तहरीर दी।

द मूकनायक को मिली जानकारी के देवबंद क्षेत्र के गांव इसरपूर निवासी धर्मवीर का पुत्र रोहन नूरपुर में पुरनचंद शास्त्री इंटर कॉलेज मे पढ़ता है। बताया जाता है कि जब छुट्टी के बाद रोहन अपने घर वापस लौट रहा था तो शुगर मिल चौराहे पर नूरपुर निवासी चार युवकों ने उसे रोक लिया। चारों युवकों ने रोहन के साथ गाली-गलौज, जाति सूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए उसके साथ मारपीट शुरू कर दी। चारों आरोपियों ने रोहन के साथ लाठी डंडों व धारदार हथियारों के साथ मारपीट की। जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गया।

घटना से गुस्साए दलित समाज के दर्जनों लोगों के साथ पीड़ित रोहन के पिता धर्मवीर कोतवाली पहुंचे और आरोपियों के खिलाफ तहरीर दी। दलितों का कहना है कि पहले तो पुलिस घायल का मेडिकल परीक्षण करने के लिए भी तैयार नहीं थी जब बसपा नेता माजिद अली, जितेंद्र बोध के नेतृत्व में दलित समाज के बहुत से लोग कोतवाली पहुंचे तो पुलिस ने पीड़ित छात्र का मेडिकल परीक्षण कराया। कोतवाल धर्मेंद्र गौतम ने बताया कि तहरीर के आधार पर मामले की जांच कराई जा रही है जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

यूपी: दलितों ने क्यों लगाए मकान बिकाऊ के पोस्टर? देवबंद में छात्र की पिटाई
पद्मश्री से नवाज़े गए इस राजस्थानी भांड कलाकार को जानिये किस बात का है रंज
यूपी: दलितों ने क्यों लगाए मकान बिकाऊ के पोस्टर? देवबंद में छात्र की पिटाई
मध्य प्रदेश: इलाज में लाखों खर्च पर मरीज को नहीं मिला आराम, अब हॉस्पिटल दस लाख रुपये हर्जाना देगा
यूपी: दलितों ने क्यों लगाए मकान बिकाऊ के पोस्टर? देवबंद में छात्र की पिटाई
मणिपुर में मौजूदा हालात: हजारों की संख्या में राहत शिविरों में अभी भी दिन गुजार रहे लोग, घर और गांव जलने से आगे कोई रास्ता नहीं!

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com