यूपीः दलित युवक को पानी पीने से रोका,विरोध करने पर मां की पिटाई कर कपड़े फाड़े

थाने में नहीं दर्ज हुई एफआईआर,एसएसपी से शिकायत के बाद दर्ज हो सका मुकदमा.
पीड़ित परिवार से मुलाकात करते भीम आर्मी कार्यकर्ता.
पीड़ित परिवार से मुलाकात करते भीम आर्मी कार्यकर्ता.तस्वीर- द मूकनायक

उत्तर प्रदेश। यूपी के बरेली जिले में ठाकुर के खेत में पानी पीने गए दलित युवक को जातिवादी मानसिकता में चूर लोगों ने पानी पीने से रोक दिया। जब युवक ने पानी पीने की कोशिश की तो उसे जातिसूचक गालियां देकर अपमानित किया गया। बेटे ने पूरी घटना मां को बताई। महिला आरोपी के घर शिकायत लेकर गई। इसपर महिला को नग्न कर गांव में घुमाने की धमकी दी। विरोध किया तो छेड़छाड़, मारपीट की और कपड़े फाड़ दिए। महिला की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है।

दरअसल,पूरा मामला बरेली के कैंट थाना क्षेत्र के चौबारी गांव का है। द मूकनायक को विधा देवी ने बताया -'मेरा बेटा गांव के ठाकुर राजेश के खेत में पानी पीने गया था। वह नल से पानी पीने जा ही रहा था कि इस दौरान शिशुपाल खेत में आ गया। मेरे बेटे को पानी पीने से रोक दिया। शिशुपाल ने जातिसूचक टिप्पणी करते हुए कहा कि तूने पानी को अछूत कर दिया है।'

विधा देवी आगे बताती हैं-'मेरे बेटे ने घर आकर पूरी घटना के बारे में बताया। मैं मामले की शिकायत लेकर शिशुपाल के घर गई थी। इस पर शिशुपाल ने मुझे भी जातिसूचक गालियां देना शुरू किया और भाग जाने को कहा। मैंने पुलिस से शिकायत की।'

विधा देवी आरोप लगाते हुए कहती हैं-'जब मैंने पुलिस से शिकायत की तो शिशुपाल मुझे धमकाने लगा। शिशुपाल ने मुझे गांव में निर्वस्त्र कर घुमाने की धमकी दी। विरोध करने पर मेरे कपड़े फाड़ दिए और जातिसूचक शब्द कहते हुए पिटाई कर दी। मैंने इस मामले की थाने में शिकायत की। लेकिन मेरी एफआईआर नहीं लिखी गई। मैंने एसएसपी साहब से शिकायत की थी।', महिला की शिकायत पर एसएसपी ने रिपोर्ट दर्ज करने के आदेश दिए। इसके बाद एफआईआर दर्ज कर ली गई।

इस मामले में जांच अधिकारी पंकज श्रीवास्तव ने द मूकनायक को बताया-'आरोपों के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। आज दोनों पक्षों के बयान दर्ज किए जाएंगे। साक्ष्यों के आधार पर आगे कार्रवाई की जाएगी। '

कार्रवाई की मांग

इस पूरे मामले को लेकर भीम आर्मी के बरेली मीडिया प्रभारी आकाश बाबू ने पीड़ित परिवार से मुलाक़ात की है। आकाश ने इस मामले में आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।

पीड़ित परिवार से मुलाकात करते भीम आर्मी कार्यकर्ता.
यूपी: वाटर कूलर से पानी पीने पर दलित युवक की पिटाई, कहा- "टंकी अशुद्ध कर दी"

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com