उत्तर प्रदेश: दलित व्यक्ति ने कर्ज चुकाने के दबाव में आकर की आत्महत्या

फाइनेंस कंपनी के कर्मचारियों की ओर से बकाया राशि का भुगतान करने का लगातार दबाव बनाया जा रहा था।
कर्ज से परेशान किसान ने की खुदकुशी.
कर्ज से परेशान किसान ने की खुदकुशी.सांकेतिक तस्वीर

लखनऊ। यूपी के गोरखपुर जिले में बकाया ऋण के भुगतान को लेकर एक फाइनेंस कंपनी की ओर से कथित तौर पर उत्पीड़न किए जाने के बाद एक दलित व्यक्ति ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

पुलिस के मुताबिक, कोइल भारती (50) अंबेडकर नगर के पीपीगंज पुलिस थाना अंतर्गत का निवासी था और परिवार के लोगों का कहना है कि उसने करीब एक साल पहले एक फाइनेंस कंपनी से 40,000 रुपये कर्ज लिया था व समय से इसका पुनर्भुगतान कर रहा था, लेकिन अंतिम किस्त वह नहीं दे सका था।

परिवार का दावा है कि कंपनी के कर्मचारियों की ओर से बकाया राशि का भुगतान करने का लगातार दबाव बनाना उसके लिए असहनीय हो गया और सोमवार को उसने यह कदम उठाया।पीपीगंज थाना के एसएचओ पीपी सिंह ने कहा कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मृत्यु के कारण का पता चलेगा। रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। परिवार के आरोपों की जांच की जाएगी।

परिवार ने संवाददाताओं को बताया कि सोमवार की शाम फाइनेंस कंपनी के पांच से छह कर्मचारी कोइल भारती के घर आए और घर के सभी सदस्यों के सामने उसका अपमान किया। जब भारती ने उन्हें 200 रुपये की पेशकश की तो वे पैसा मुंह पर फेंक कर चले गए। उन्होंने कहा कि इस घटना से व्यथित होकर कोइल ने अपने गमछे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

कर्ज से परेशान किसान ने की खुदकुशी.
उत्तर प्रदेश: परिवार का पेट भरने तक का नही था पैसा, कर्ज में डूबे किसान ने की आत्महत्या
कर्ज से परेशान किसान ने की खुदकुशी.
राजस्थान: मंत्री व उसके गुर्गों से तंग आकर आदिवासी युवक ने की आत्महत्या
कर्ज से परेशान किसान ने की खुदकुशी.
राजस्थान: शिक्षकों की प्रताड़ना से तंग आकर मुस्लिम छात्र ने की आत्महत्या

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com