राजस्थान: दलितों से लिया श्रीराम उत्सव चंदा लौटाया, जानिए पुलिस ने क्या कार्रवाई की?

झालावाड़ जिले के मूंडला में दलितों को अपमानित करने का मामला आया था सामने, घटना के एक सप्ताह बाद गत बुधवार शाम नामजद रिपोर्ट दर्ज।
राजस्थान: दलितों से लिया श्रीराम उत्सव चंदा लौटाया, जानिए पुलिस ने क्या कार्रवाई की?

जयपुर। राजस्थान के झालावाड़ जिले के मूंडला गांव में राम मंदिर उत्सव के लिए सामूहिक चंदा एकत्रित कर दलितों को जाति के आधार पर अपमानित कर चंदा वापस लौटाने के बहुचर्चित प्रकरण में आखिर पुलिस ने चार लोगों को नामजद करते हुए प्रकरण दर्ज कर लिया। जांच पुलिस उपाधीक्षक विजय कुमार को सौंपी गई है।

आप को बता दें कि 22 जनवरी 2024 को आयोध्या में राम मंदिर प्राण-प्रतिष्ठा वाले दिन मूंडला गांव में उत्सव मनाने के लिए गत 8 जनवरी 2024 को लोगों से चंदा एकत्रित किया गया था। अगले दिन रात चार लोग दलितों की बस्ती में पहुंचे। जहां चंदा राशि को यह कहकर वापस लौटा दिया कि दलितों के द्वारा दी गई राशि से भगवान राम को भोग नहीं लगा सकते। इस पैसे से बनी प्रसादी भी अपवित्र हो जाएगी।

घटना के बाद मेघवाल, बैरवा, धोबी व मेहर समाज के लोगों ने जातिसूचक शब्दों से अपमानित करने का आरोप लगाते हुए खानपुर थाना पुलिस को शिकायत कर आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की मांग की, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इसके बाद मूंडला गांव के दलित समाज के लोग झालावाड़ जिला मुख्यालय पहुंचे। जहां 11 जनवरी 2024 को आरोपियों के खिलाफ पुलिस अधीक्षक को शिकायत सौंप कर कानूनी कार्रवाई मांग की, लेकिन पुलिस ने जांच के नाम पर दलितों की शिकायत पर मुकदमा तक दर्ज नहीं किया। जबकि नियमानुसार दलित उत्पीड़न के मामले में तत्काल एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू करना था।

राजस्थान: दलितों से लिया श्रीराम उत्सव चंदा लौटाया, जानिए पुलिस ने क्या कार्रवाई की?
राजस्थान: राम मंदिर उत्सव के लिए दलितों से ली गई चंदा राशि वापस लौटाई!

पुलिस की कार्यशैली से नाराज दलित समाज के लोगों ने गत बुधवार को भीम आर्मी के बैनर तले एसपी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन कर मूंडला प्रकरण में आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी की मांग की। मांग पूरी नहीं होने पर उग्र आंदोलन की बात कही। इस दौरान दलित संगठनों से जुड़े लोग मूंडला के दलित समाज के लोगों के साथ जिला कलक्टर व पुलिस अधीक्षक से भी मिले। प्रदर्शन के बाद खानपुर थाना पुलिस ने उसी दिन अपराह्न 4 बजे रामस्वरूप पुत्र खेमराज धाकड़, छोटूलाल उर्फ चन्द्रप्रकाश, जगदीश पुत्र भैरूलाल धाकड़ व महावीर पुत्र हेमराज धाकड़ निवासी मूंडला के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 504, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (नृशंसता निवारण) अधिनियम-1989 (संशोधन 2015) धारा 3(1)(एस) व अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (नृशंसता निवारण) अधिनियम 1989 (संशोधन 2015) की धारा 3(1)(जेड ए)(सी) के तहत प्रकरण दर्ज किया है।

राजस्थान: दलितों से लिया श्रीराम उत्सव चंदा लौटाया, जानिए पुलिस ने क्या कार्रवाई की?
दिल्ली: दलित बस्ती के 50 घरों पर तोड़े जाने का खतरा! एलजी को विकल्प तलाशने के लिए लिखा पत्र
राजस्थान: दलितों से लिया श्रीराम उत्सव चंदा लौटाया, जानिए पुलिस ने क्या कार्रवाई की?
मध्य प्रदेश: बस्तियों की टूटी नालियां, गलियों में कूड़े का ढेर और भोपाल को देश में सबसे स्वच्छ राजधानी का ख़िताब! ग्राउंड रिपोर्ट
राजस्थान: दलितों से लिया श्रीराम उत्सव चंदा लौटाया, जानिए पुलिस ने क्या कार्रवाई की?
“मेरे लिए आंसू मत बहाना, जान लो कि मैं जिंदा रहने से ज्यादा मरकर खुश हूं”, रोहित वेमुला का वह पत्र जो आज भी छात्रों को कचोटता है!

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com