राजस्थान: दलित महिला के साथ सामूहिक बलात्कार के बाद हत्या!

सिरोही जिले के आबूरोड की घटना, तीन लोगों पर रेप व हत्या का आरोप
घटनास्थल पर मौजूद पुलिस बल
घटनास्थल पर मौजूद पुलिस बल

जयपुर। बीते दिनों उदयपुर के मावली में एक 9 साल की आदिवासी बेटी से बर्बरता के बाद शरीर के 10 टुकड़े कर शव खण्डहर में फेंकने के दर्दनाक मंजर को अभी लोग भुला भी नहीं पाए थे कि अब ताजा मामला सिरोही जिले के आबूरोड थाना इलाके से सामने आया है। जहां एक जाति विशेष के लोगों ने पड़ोस में रहने वाली अनुसूचित जाति की विवाहिता के साथ पहले ब्लात्कार किया। इसके बाद चाकू से गला रेत कर उसकी हत्या कर दी। घटना का पता चलने पर पीड़िता के भाई की रिपोर्ट पर आबूरोड शहर थाना पुलिस ने पड़ोसी हर्ष पुत्र अशोक कुमार राजपूत, शैंकी और विकस उर्फ कालू के खिलाफ बलात्कार कर हत्या के आरोप में मामला दर्ज किया है।

आबूरोड शहर पुलिस थानाधिकारी सरोज बैरवा के अनुसार पीड़िता के भाई ने थाने में रिपोर्ट पेश कर बताया कि महिला कुछ दिनों से मायके में रह रही थी, जिसकी तीन वर्ष की एक बेटी भी थी। घटना वाले दिन गत 2 मई को दोपहर करीब 3:30 बजे के आस-पास महिला व उसकी बेटी घर पर नहीं थे। प्रार्थी ने मां से पूछा कि बहन भांजी कहां गई है। इसपर मां ने कहा कि आस-पास गई होंगी। वहीं बहन को खोजने निकल पड़ी। इस दौरान पड़ोसी का बेटा हर्ष, भांजा शैंकी और विकास उर्फ कालू उनके स्वयं के घर से संदिग्ध अवस्था में जाते हुए दिखाई दिए। मां ने घर के अंदर जाकर देखा। मां के चिल्लाने की आवाज सुन कर प्रार्थी भाग कर आरोपियों के घर पहुंचा।

वहां देखा कि प्रार्थी की बहन का गला धार धार हथियार से कटा हुआ था। उसके पहने कपड़े फटे हुए व कपड़ों पर खून लगा हुआ था। प्रार्थी बाहर की तरफ भागा तब तक आरोपी हर्ष, शैंकी एवं विकास उर्फ कालू वहां से भाग गए। उसके बाद प्रार्थी वापस घटना स्थल आया। अपने रिश्तेदार व सम्बन्धियों को फोन कर उक्त घटना की जानकारी दी।

रोते-बिलखते पीड़ित परिजन
रोते-बिलखते पीड़ित परिजन

इस पर सम्बन्धियों ने पुलिस को सूचना दी एवं मौके पर पुलिस अधिकारी भी पहुंच गए। फरियादी ने लिखित रिपोर्ट में कहा कि उसे अंदेशा है कि हर्ष, शंकी, विकास उर्फ कालू ने ही प्रार्थी की बहन के साथ दुष्कर्म कर स्वयं को बचाने के लिए गला काटकर हत्या की है। रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ हत्या और सामूहिक बलात्कार सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर जांच वृत्ताधिकारी योगेश शर्मा को दी है।

सिरोही जिला भीम आर्मी संगठन से जुड़े प्रकाश सरगर ने द मूकनायक से बात करते हुए कहा कि पीड़िता काफी दिनों से मायके में रह रही थी। दो मई को उसकी 3 साल की बेटी घर से निकल गई। बेटी को ढूंढते हुए पड़ोस में पहुंची तो आरोपियों ने कहा कि हां उसकी बेटी अंदर मकान में गई है। बेटी को लेने अंदर गई तो आरोपियों ने उसके साथ सामूहिक बलात्कार कर चाकू से गला काट कर उसकी हत्या कर दी। प्रकाश सरगर कहते हैं कि मृतका को अपनी 3 साल की बेटी को ढूंढते हुए अन्य लोगों ने भी देखा था।

उधर घटना का पता चलते ही परिजनों के साथ ग्रामीण पुलिस थाने में जमा हो गए। जहां घटना का विरोध करते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की। पुलिस की समझाइश के बाद आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी के आश्वासन पर ग्रामीण थाने के बाहर से हटे।

घटनास्थल पर मौजूद पुलिस बल
राजस्थान में कठिन है न्याय पाने की लड़ाई!

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com