एमपी ग्राउंड रिपोर्ट: दलित कोटवार ने कहा- मुंह पर पेशाब किया, एसपी बोले- ऐसा कुछ नहीं हुआ!

भोपाल पुलिस का कहना है कि आरोपियों ने मारपीट तो की है, लेकिन पेशाब नहीं की। वहीं पीड़ित की पत्नी आशा अहिरवार ने मूकनायक से कहा- उसके परिवार को अब शिकायत वापस लेने के लिए धमकी दी जा रही है। आशा ने कहा गाँव में जातिगत भेदभाव के चलते यह घटना हुई है।
पीड़ित युवक का अस्पताल में हो रहा इलाज
पीड़ित युवक का अस्पताल में हो रहा इलाजद मूकनायक

भोपाल: एमपी सीधी पेशाब कांड की ही तरह भोपाल के एक गांव में दलित युवक को पहले बेरहमी से पीटा गया फिर आरोपियों ने उसके चेहरे पर पेशाब किया। इस घटना का मुख्य आरोपी बीजेपी का कार्यकर्ता और विधायक रामेश्वर शर्मा का नज़दीकी बताया जारहा है। पुलिस ने इस मामले में पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया। यहां से उन्हें जेल भेज दिया गया। पुलिस का कहना है कि आरोपियों ने मारपीट तो की है, लेकिन पेशाब नहीं की।

दरअसल घटना 10 सितंबर की है, आरोपी चौपड़ा कलां गांव के सरपंच पति ने अपने साथियों के साथ मिलकर गांव के कोटवार को पहले लात-घूंसों से जमकर पीटा। इसके बाद उस पर पेशाब कर दिया। पीड़ित ने आरोपियों को सरकारी जमीन पर कब्जा करने से रोका था। इससे नाराज सरपंच पति और उसके साथी उसे कार में अगवा कर ले गए। फिर एक कमरे में बंद कर उसके साथ मारपीट की। पिटाई के कारण घायल हुए दलित युवक का अस्पताल में इलाज जारी है।

द मूकनायक से बातचीत करते हुए पीड़ित ने बताया- 9 सितंबर की रात पटवारी ने जमीन से जुड़ी सूचना दी थी। मैं 10 सितंबर दोपहर 1 बजे पहुंचा। यहां गांव के मस्तान मीणा और उसकी लेबर सरकारी जमीन पर फेंसिंग कर कब्जा करने की कोशिश कर रहे थे। मैंने मना किया, तो उन्होंने गांव के सरपंच पति शेरू मीणा को बुला लिया। शेरू की पत्नी मोनिका मीणा सरपंच है। उसके साथ अभिषेक मीणा, तुषार मीणा व लेखराज मीणा भी थे। इन लोगों ने मुझ पर लात-घूंसे मारना शुरू कर दिए।  

पीड़ित ने बताया कि सरपंच पति ने मेरा हाथ रस्सी से बांधा और अपनी कार में पटक लिया। गाड़ी शेरू चला रहा था। उसके बगल में लेखराज बैठा था। पीछे की सीट पर मेरे दोनों तरफ अभिषेक मीणा व तुषार मीणा बैठे थे। वे मुझे लेकर नाले के पास लेकर पहुंचे। यहां मेरे साथ मारपीट करने लगे। जब मैं बेहोश होने लगा, तब शेरू ने मेरे ऊपर पेशाब कर दी, तभी भैयालाल ने बीच-बचाव करने की कोशिश की, लेकिन उनकी किसी ने नहीं सुनी।

सरकारी जमीन पर कब्जा कर रहा था आरोपी सरपंच पति
सरकारी जमीन पर कब्जा कर रहा था आरोपी सरपंच पतिद मूकनायक

इसके बाद मुझे सज्जू मियां जबरदस्ती कार में पटक कर कर संजीव नगर स्थित शेरू के घर लेकर गए। गाड़ी सज्जू मियां चला रहा था। उसके बगल मे दीपांशु मीणा बैठा था। मेरे बगल में तुषार मीणा व परवेज खां बैठा था। वे चारों मुझे शेरू के घर के अंदर ले गए। यहां भी उन्होंने मेरे साथ मारपीट की। मुझे कमरे में बंद कर दिया। मैं बेहोश हो गया।

करीब 2-3 तीन घंटे बाद होश आया, तो वहां अशोक मीणा, राजू राजपूत बिलखिरिया मंडल अध्यक्ष, दीवान सिंह लोधी सरपंच मुगालिया, वीरू सेनी उर्फ अजय सरपंच देवलखेड़ी, सोदान सिंह मीणा, छगनलाल महाराज मुगालिया और मोहन मीणा आए। उन्होंने आरोपियों को समझाया और मुझे लीलावती अस्पताल लेकर आए, लेकिन मैंने इलाज नहीं करवाया, फिर विक्रम सिंह अहिरवार, राजेश अहिरवार, गणेश अहिरवार थाने लेकर आ गए। यहाँ मैने पूरी घटना की शिकायत की।

भोपाल पेशाब कांड के पीड़ित दलित कोटवार का घर
भोपाल पेशाब कांड के पीड़ित दलित कोटवार का घरद मूकनायक

पीड़ित के भाई तुमन अहिरवार ने बताया कि गाँव का भाजपा कार्यकर्ता और सरपंच का पति शेरू मीना ने उसके भाई से मारपीट की है। मारपीट करते वक्त जब वह बेहोश होने लगा तो आरोपियों  उसके भाई के चेहरे पर पेशाब भी किया।
 
मंगलवार को पुलिस ने इस मामले में पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया। यहां से उन्हें जेल भेज दिया गया। पुलिस का कहना है कि आरोपियों ने मारपीट तो की है, लेकिन पेशाब नहीं की। वहीं पीड़ित की पत्नी आशा अहिरवार ने मूकनायक से कहा कि उसके परिवार को अब शिकायत वापस लेने के लिए धमकी दी जा रही है। आशा ने कहा गाँव में जातिगत भेदभाव के चलते यह घटना हुई है।

देहात एसपी प्रमोद कुमार सिन्हा के मुताबिक पेशाब करने जैसी घटना नहीं हुई है। उन्होंने बताया कि आरोपियों ने सिर्फ मारपीट की है। 7 में से 5 आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया गया है। इन आरोपियों पर मारपीट की धाराओं सहित एट्रोसिटी एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है। सभी आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

यह भी पढ़ें-

पीड़ित युवक का अस्पताल में हो रहा इलाज
राजस्थान से ग्राउंड रिपोर्ट: एक बार फिर पानी पी लेने पर टीचर ने की पिटाई, सदमे में दलित छात्र
पीड़ित युवक का अस्पताल में हो रहा इलाज
कोर्ट की सख्ती का असर: ट्रांसजेंडर समुदाय के लिए बने 100 से अधिक टॉयलेट्स, अभी और बनेंगे
पीड़ित युवक का अस्पताल में हो रहा इलाज
मणिपुर हिंसा ग्राउंड रिपोर्ट: दवाई, पेट्रोल, खाद्य सामग्री की कमी से जूझ रहा ट्राइबल बाहुल्य चुराचांदपुर, सप्लाई चेन ब्रेक
पीड़ित युवक का अस्पताल में हो रहा इलाज
नई पार्टी BAP लांच: दारू-मुर्गा और नोट, अब नहीं खरीद सकेगा आदिवासी का वोट!

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com