उत्तर प्रदेशः बारिश ने विकास की खोली पोल, सड़क पर 20 फीट का हुआ गड्ढा!

पीडब्ल्यूडी के अधिशाषी अभियंता मनीष वर्मा के मुताबिक सीवर लीकेज होने के कारण सड़क धंसी है।
विकासनगर में धंसी सड़क.
विकासनगर में धंसी सड़क.The Mooknayak

लखनऊ। यूपी की राजधानी लखनऊ के विकास नगर इलाके में एक साल तीन महीना के भीतर ही सड़क दोबारा धंस गई। रविवार की दोपहर तेज बारिश हुई। बारिश के साथ कुछ हिस्सों में ओले भी गिरे। बारिश से कई सड़कों में जलभराव के हालात बन गए। विकास नगर इलाके में रोड बीचों-बीच से 20 फीट तक धंस गई। इससे एक कार उसी में फंस गई। कार को जैसे-तैसे बाहर निकाला गया। इसके बाद से दोनों तरफ से यातायात को रोक दिया गया।

पीडब्ल्यूडी के अधिशाषी अभियंता मनीष वर्मा के मुताबिक यह सड़क सीवर लीकेज होने के कारण धंसी है। जल निगम की कार्यदायी संस्था इसके मरम्मत का काम कर रही है। इसके बाद पीडब्ल्यूडी एक सप्ताह के भीतर इसे सही कर देगा। वहीं इस मामले में मंडलायुक्त लखनऊ रोशन जैकब ने विस्तृत रिपोर्ट तलब की है।  

सड़क धंसने के बाद सुरक्षा दृष्टि से इलाके को सील किया.
सड़क धंसने के बाद सुरक्षा दृष्टि से इलाके को सील किया.The Mooknayak

दरअसल,लखनऊ में विकास नगर सेक्टर चार स्थित यदुवंश क्लीनिक के पास मुख्य सड़क रविवार दोपहर एक बजे अचानक तेज आवाज के साथ धंस गई। सड़क के अचानक धंसने से इसमें करीब 7 मीटर लम्बा, 5 मीटर चौड़ा और 5 मीटर गहरा गड्ढा हो गया। इसी दौरान इसी रस्ते से जा रहे कुर्सी रोड अतरौली निवासी व्यापारी शशि भूषण नाथ मिश्रा की कार गड्ढे की चपेट में आ गई। कार के पिछले दोनों पहिए गड्ढे में फंस गए।

शशि ने बताया कि पुलिस कंट्रोल रूम का नंबर नहीं लगने पर उन्होंने विकासनगर थाने में जाकर मदद मांगी। विकास नगर थानाध्यक्ष विपिन सिंह फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और बेरिकेटिंग करके रास्ता बंद किया। उसके बाद क्रेन मंगाकर कार को बाहर निकाला गया। वही एकाएक सड़क पर इतना बड़ा गड्ढा होने से उधर से निकल रहे वाहन चालक सहम गए।

सूचना पर मौके पर पहुंचे महा प्रबंधक जलकल मनोज कुमार आर्य ने बताया कि सड़क के करीब 13 फुट नीचे से सीवर लाइन गई है। सीवर लाइन में गैस बनती है। गैस के पाइप क्रेक होने के कारण पानी बहता है। मिट्टी कटने से गड्ढा बन जाता है। पीडब्ल्यूडी और जलकल के अधिकारी मौके पर पहुंचे और बेरेकेटिंग करके रास्ता बंद कर दिया है।

स्थानीय लोगों में भय का माहौल 

इस इलाके में रहने वाले लोगों में भय का माहौल है। जिस जगह यह गड्ढा है उसके ठीक सामने डॉक्टर सूचिता का मकान मौजूद है। सूचिता द मूकनायक को बताती हैं- "मैं घर में काम कर रही थी। इस दौरान तेज विस्फोट जैसी आवाज आई। बहुत तेज कम्पन (वाइब्रेशन) भी हुआ। जब घर के बाहर आकर देखा तो घर के बाहर एक बड़ा गड्ढा हो गया था। इसमें एक कार लटक रही थी। इस हादसे के कारण मेरे घर में पानी की सप्लाई बंद हो गई है।"

विकास नगर सेक्टर चार में थाने के पास ही रहने रहने वाले रजनेश कुमार गुप्ता द मूकनायक से कहते हैं- "बहुत बड़ा हादसा हो जाता। यह तो अच्छा रहा, इसमें कोई वाहन नहीं गिरा। दो कारे इसमें फंस गई थीं। यह घटना तीसरी बार हुई है। सरकार में जमकर भ्रष्टाचार हो रहा है। इसे बताने की जरूरत नहीं है। इस तरह के हादसे अपने आप में साफ सबूत हैं।"     

गौरतलब है कि 28 नवंबर 2022 को यही सड़क शिव मूर्ति के पास धंस गई थी। इससे लोगों को काफी परेशानियों का समाना करना पड़ा था। क्षेत्रीय लोगों का कहना है कि जब 28 नवंबर 2022 को सड़क धंसी थी उसके बाद लगभग 3 महीना बाद इसे सही कराया जा सका था।

इस मामले में पीडब्ल्यूडी के अधिषासी अभियंता मनीष वर्मा ने द मूकनायक को बताया-"गुलाचीन मंदिर से शिव मंदिर होते हुए लेबर अड्डा जाने वाली सड़क अचानक धंस गई है, इस कारण क्षेत्र में आवागमन असुरक्षित हो गया है। घटना की जानकरी मिलने पर तत्काल टीम मौके पर पहुंची थीं। जगह का निरीक्षण किया गया है।"

अधिषासी अभियंता ने आगे बताया कि निरीक्षण में पाया गया है कि मार्ग कि लेपित सतह से गहराई में पड़ी हुई जल निगम कि ट्रंक सीवर पाइप लाइन से निरंतर हो रहे जल रिसाव के कारण धीरे-धीरे नीचे की मिटटी धंसने से मार्ग का बेस क्षतिग्रस्त होने से यह हादसा हुआ है। पाइप की मरम्मत के लिए जल निगम की कार्यदायी संस्था सुएज को कार्यस्थल पर बुलाया गया है। यह काम होने के बाद सड़क मरम्मत का काम भी शीघ्र ही करवा दिया जाएगा।

विकासनगर में धंसी सड़क.
उत्तर प्रदेशः सूखी रोटी व पतली दाल वाली थाली लेकर सड़क पर उतरा सिपाही, खाने की गुणवत्ता को लेकर था नाराज

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com