अब तक की खबरेंः जय भीम लिखा झंडा जलाने पर हंगामा, आंदोलन की चेतावनी

देश में बीते 24 घंटे में हाशिए के समाज से आने वाले दलित-आदिवासियों पर अपराध के कई मामले रिपोर्ट किए गए है।
अब तक की खबरेंः जय भीम लिखा झंडा जलाने पर हंगामा, आंदोलन की चेतावनी

नई दिल्ली। देश में बीते 24 घंटे में हाशिए के समाज से आने वाले दलित-आदिवासियों पर अपराध के कई मामले रिपोर्ट किए गए है। महिलाओं पर भी हिंसा की कई घटनाएं सामने आई है। सुप्रीम कोर्ट, हाईकोर्ट व कई लोअर कोर्ट ने विचाराधीन मामलों में महत्वपूर्ण फैसले दिए है।

राजस्थान के भीलवाड़ा जिले के माण्डल कस्बे में 15 अगस्त वाले दिन चौराहे पर तिरंगा के साथ जय भीम लिखे झंडे को कुछ बदमाशों ने जलाकर सड़क पर फेंक दिया। गांव वालों ने दो युवकों को पकड़ लिया। घटना का विरोध करते हुए दलित समाज व भीम आर्मी के कार्यकर्ता मांडल थाने पहुंचे और आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की और कार्रवाई नहीं करने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।

बसपा जिलाध्यक्ष रमेश राणा ने बताया कि रात के समय झंडा जलाने वाले युवकों का वीडियो भी सामने आया है। पुलिस से दोनों को पकड़ने की मांग की है। आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर कस्बा बंद और प्रदर्शन की चेतावनी दी है। मांडल थाना प्रभारी लक्ष्मणराम बिश्नोई ने बताया ग्रामीणों की शिकायत के बाद थाने में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। साथ ही पुलिस की टीम आरोपियों की तलाश कर रही है।

मोहालीः छात्रा को घुमाने का लालच देकर किया बलात्कार

नयागांव इलाके में एक 15 साल की नाबालिग 9वीं की छात्रा को घुमाने का लालच देकर उसके साथ बलात्कार का मामला सामने आया है। पुलिस ने पीडि़त की मां की शिकायत पर आरोपी गुरदीप सिंह पर केस दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है। पीडि़त नाबालिग की मां ने नयागांव पुलिस थाने में शिकायत दी है कि उसकी बेटी नौवीं की छात्रा है और आरोपी के साथ उसकी दो महीने पहले ही जान-पहचान हुई थी।

11 अगस्त को वह उसकी बेटी को घुमाने का लालच देकर अपने साथ कहीं ले गया था। वहां जाकर आरोपी ने उसकी बेटी के साथ गलत काम किया। जब बेटी देर शाम को घर आई तो उसके पापा ने देरी का कारण पूछा। लेकिन वह काफी सहमी हुई थी और उसने कुछ नहीं बताया। इसके बाद उसने अपनी मां को आपबीती बताई। इसके बाद उन्होंने पुलिस को शिकायत दी।

शराब पीने की आदत परिवार के प्रति मानसिक क्रूरता-छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट

छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय ने हाल ही में कहा कि यदि कोई पति अपने कर्तव्यों का पालन करने के बजाय अत्यधिक शराब पीने में लिप्त है तो यह उसकी पत्नी और उसके बच्चों सहित परिवार के लिए मानसिक क्रूरता होगी। जस्टिस गौतम भादुड़ी और जस्टिस संजय अग्रवाल ने क्रूरता के आधार पर अपनी शादी को खत्म करने की पत्नी की याचिका को स्वीकार करते हुए यह टिप्पणी की। मामले की सुनवाई करते हुए डिवीजन बेंच ने कहा कि इस मामले में पति ने अपने दो बच्चों की स्कूल फीस भी नहीं दी, जबकि उसकी पत्नी नौकरी भी नहीं कर रही है। यदि पति अपने दायित्वों का निर्वहन करने के बजाय खुद को अत्यधिक शराब पीने की आदत में शामिल कर लेता है, जिससे परिवार खराब हो जाता है। यह स्थिति स्वाभाविक रूप से मानसिक क्रूरता को जन्म देगी। डिवीजन बेंच ने कहा कि पति द्वारा क्रूरता के कई आरोप उसकी कथित तौर पर अत्यधिक शराब पीने की आदतों के कारण लगे।

परिवार न्यायालय में सुनवाई के दौरान पति ने पत्नी के आरोपों का बचाव नहीं किया था। इसलिए हाई कोर्ट ने माना कि आरोप उनके द्वारा स्वीकार कर लिए गए हैं। कोर्ट ने टिप्पणी की कि इसलिए यह सुरक्षित रूप से कहा जा सकता है कि पति अपनी पत्नी के प्रति मानसिक रूप से क्रूर था। इसके आधार पर तालाक की अर्जी मंजूर की जाती है।

किशोरी के साथ छेड़छाड़ व मारपीट...

खेत पर चारा काट रही किशोरी के साथ छेड़छाड़ कर मारपीट करने के मामले में अदालत ने दो युवकों को चार-चार साल जेल की सजा सुनाई। दोनों दोषियों पर 24 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया। मामला मंडी धनौरा थाना क्षेत्र के एक मोहल्ले का है।

यहां रहने वाले एक किसान की नाबालिग बेटी तीन जनवरी 2016 को खेत पर चारा काटने के लिए गई थी। मोहल्ला कटरा निवासी इमरान व मुनाजिर खेत पर पहुंच गए। दोनों ने किशोरी के साथ छेड़छाड़ की। विरोध पर मारपीट कर घायल कर दिया। शोर सुनकर पीडि़ता के भाई ने इमरान को मौके पर पकड़ लिया था। आस-पास खेतों में काम करने वाले लोग भी आ गए थे। इस दौरान इमरान धक्का देकर भाग गया था। पीडि़त पक्ष ने दोनों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने गिरफ्तार कर दोनों का चालान कर दिया था।

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com