अंबेडकर जयंती पर पूरे देश में रहेगा सार्वजनिक अवकाश

केन्द्र सरकार ने जारी किया गजेट नोटिफिकेशन, दलित संगठन कर रहे थे अवकाश की मांग
अंबेडकर जयंती पर पूरे देश में रहेगा सार्वजनिक अवकाश

नई दिल्ली। संविधान निर्माता बाबा साहब भीमराव आंबेडकर की जयंती 14 अप्रेल को धूमधाम से मनाई जाएगी। इस दिन देशभर में अवकाश रहेगा। अंबेडकर जयंती पर राष्ट्रीय अवकाश घोषित करने की लंबे समय से मांग की जाती रही है। अब केंद्र सरकार ने 14 अप्रैल को राष्ट्रीय अवकाश घोषित किया है। इस संबंध में केंद्र सरकार के कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय की ओर से 11 अप्रैल 2023 को भारतीय राजपत्र जारी कर दिया गया है। इस अधिसूचना के अनुसार भारत सरकार द्वारा डॉ. भीमराव अंबेडकर जयंती पर 14 अप्रैल को पूरे देश में अवकाश घोषित किया गया है।

बताते चलें कि हैदराबाद में तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव बाबा साहब के जन्म दविस पर (14 अप्रैल) पर उनकी 125 फुट ऊंची प्रतिमा का लोकार्पण करेंगे। इस संबंध में सरकार की ओर से एक आधिकारिक विज्ञप्ति भी गत मंगलवार को जारी की गई थी। इस प्रतिमा के भव्य स्तर पर लोकार्पण की जोर शोर से तैयारी भी की जा रही है।

अंबेडकर जयंती पर पूरे देश में रहेगा सार्वजनिक अवकाश
[दलित हिस्ट्री मंथ विशेष] महात्मा ज्योतिराव फुले: जनकल्याणकारी कार्यों और वैज्ञानिक विचार मानवता का चिरकाल तक करते रहेंगे मार्गदर्शन

केंद्र सरकार और राज्य सरकारों की ओर से आमतौर पर बाबा साहब अंबेडकर की जयंती पर श्रद्धांजलि समारोह और दूसरे कार्यक्रम भी आयोजित किए जाते हैं, लेकिन केंद्र सरकार ने इस बार बाबा साहब की जयंती को राष्ट्रीय अवकाश घोषित कर उनको बड़ी श्रद्धांजलि देने का काम किया है।

2024 आम चुनावी की तैयारी!

ये भी माना जा रहा है जिस तरह हालिया विधानसभा चुनावों में दलित समुदाय ने भाजपा का साथ दिया है। उसके बाद पार्टी दलितों को साथ लेकर मिशन-2024 की ओर कदम बढ़ाना चाहती है। पार्टी का मानना है कि मोदी सरकार की कई योजनाओं का लाभ इस समुदाय के लोगों को मिला है। आयुष्मान कार्ड से इलाज हो या फिर आवास व शौचालय इन योजनाओं का लाभ अनुसूचित जनजाति समाज को मिला है। इसके चलते समाज ने विधानसभा चुनावों में भाजपा को वोट किया है। यह क्रम आगामी आम चुनावों तक जारी रहे। इसलिए दलितों को खुश करने के लिए बाबा साहब की जयंती पर अवकाश घोषित किया गया है।

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें व्हाट्सअप पर प्राप्त करने के लिए आप हमारे व्हाट्सअप ग्रुप से भी जुड़ सकते हैं। व्हाट्सअप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
logo
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com