यूपीः मायावती ने आकाश आनंद को नेशनल कोओर्डिनेटर और उत्तराधिकारी बनाने का फैसला वापस लिया

यूपीः मायावती ने आकाश आनंद को नेशनल कोओर्डिनेटर और उत्तराधिकारी बनाने का फैसला वापस लिया

आकाश आनंद को नेशनल कोऑर्डिनेटर और बसपा प्रमुख मायावती की उत्तराधिकारी घोषित किया गया था.

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने उत्तराधिकारी आकाश आनंद को दोनों महत्वपूर्ण पदों की अहम जिम्मेदारियों से अलग किया है. आकाश आनंद को नेशनल कोऑर्डिनेटर और बसपा प्रमुख मायावती की उत्तराधिकारी घोषित किया गया था. मायावती ने एक्स पर लिखा कि मूवमेंट के व्यापक हित से पूर्ण परिपक्वता ना होने की वजह से उन्हें दोनों पदों के अहम जिम्मेदारी पद पर से हटाया जाता है.

बसपा सुप्रीमो ने अपने पोस्ट में लिखा, 'विदित है कि बीएसपी एक पार्टी के साथ ही बाबा साहेब डा भीमराव अम्बेडकर के आत्म-सम्मान व स्वाभिमान तथा सामाजिक परिवर्तन का भी मूवमेन्ट है जिसके लिए मान्य. श्री कांशीराम जी व मैंने खुद भी अपनी पूरी ज़िन्दगी समर्पित की है और इसे गति देने के लिए नई पीढ़ी को भी तैयार किया जा रहा है.'

मायावती ने लिखा, 'इसी क्रम में पार्टी में, अन्य लोगों को आगे बढ़ाने के साथ ही, श्री आकाश आनन्द को नेशनल कोओर्डिनेटर व अपना उत्तराधिकारी घोषित किया, किन्तु पार्टी व मूवमेन्ट के व्यापक हित में पूर्ण परिपक्वता आने तक अभी उन्हें इन दोनों अहम जिम्मेदारियों से अलग किया जा रहा है.'

बसपा सुप्रीमो ने आगे लिखा, 'इनके पिता श्री आनन्द कुमार पार्टी व मूवमेन्ट में अपनी जिम्मेदारी पहले की तरह ही निभाते रहेंगे. अतः बीएसपी का नेतृत्व पार्टी व मूवमेन्ट के हित में एवं बाबा साहेब डा. अम्बेडकर के कारवां को आगे बढ़ाने में हर प्रकार का त्याग व कुर्बानी देने से पीछे नहीं हटने वाला है.'

दिसम्बर 2023 में घोषित किया था उत्तराधिकारी

10 दिसम्बर 2023 को मायावती ने भतीजे आकाश आनंद को उत्तराधिकारी घोषित किया था। बीएसपी सुप्रीमों मायावती ने लखनऊ में पार्टी नेताओं की मीटिंग में साफ तौर पर कहा था कि उनके न रहने पर आकाश आनंद ही पार्टी की कमान संभालेंगे और वे उनके राजनीतिक उत्तराधिकारी हैं। आकाश आनंद मायावती के छोटे भाई आनंद कुमार के बेटे हैं। मायावती ने आकाश आनंद को पॉलिटिक्स में 2017 में सहारनपुर की एक रैली से लांच किया था। इसके बाद से ही आकाश बसपा के मंच पर दिखने लगे और रैलियां भी करने लगे थे।

आकाश आनंद की बसपा में पिछले छह साल से सक्रियता बढ़ी है। वे बसपा के नेशनल कोऑर्डिनेटर थे। मायावती ने उन्हें यह जिम्मेदारी 2019 में सौंपी थी। समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन तोड़ने के बाद पार्टी संगठन में मायावती ने फेरबदल भी किया था। वे बसपा के स्टार प्रचारकों में मायावती के बाद दूसरे नंबर पर आते हैं। बसपा उम्मीदवारों के टिकट वितरण, चुनाव प्रचार समेत पार्टी की अन्य गतिविधियों में वे हिस्सा लेते हैं। अभी हाल में मायावती ने आकाश आनंद की सभी प्रस्तावित जनसभाओं को भी रद्द कर दिया था।

विदेश से की है पढ़ाई

आकाश आनंद की प्रारंभिक शिक्षा दिल्ली से सटे गुरुग्राम में हुई है। आगे की पढ़ाई के लिए आकाश लंदन चले गए। यहां पर उन्होंने एक नामी संस्थान से एमबीए (MBA) किया। पढ़ाई पूरी करने के बाद आकाश बसपा में शामिल हो गए और मायावती से राजनीत के गुर सीखने लगे।

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com