तेलंगाना: "दलित एक हजार में वोट बेच देते हैं..." कांग्रेस नेता ने मंच पर की अपमानजनक टिप्पणी!

भारत राष्ट्र समिति (बीआरएस) के अनुसूचित सेल ने जताया विरोध,माफ़ी मांगने के लिए कहा.
कव्वामपल्ली प्रकाश.
कव्वामपल्ली प्रकाश.साभार -सोशल मीडिया

मानकोंदुर। तेलंगाना में मानकोंदुर सीट से कांग्रेस विधायक के छोटे भाई ने अनुसूचित जाति वर्ग को लेकर खुले मंच पर अभद्र टिप्पणी कर दी। सोमवार को हुए कार्यक्रम के दौरान कहा-''दलित एक हजार में अपना वोट बेच देते हैं,अगर एक जीरो और बढ़ जाए तो पत्नी भी बेंच देंगे।" इस टिप्पणी का वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

वहीं विपक्षी पार्टी इस बयान के बाद कांग्रेस पर हमलावर है। इस बयान को लेकर तेलंगाना की क्षेत्रीय पार्टी भारत राष्ट्र समिति की अनुसूचित जाति सेल ने एक प्रेस वार्ता करके कांग्रेस विधायक के इस बयान की निंदा की। बीआरएस के पदाधिकारियों ने कांग्रेस विधायक के भाई को माफ़ी मांगने के लिए कहा है, वहीं ऐसा न करने पर विधिक कार्रवाई की भी चेतावनी दी है।

कार्यक्रम के दौरान कांग्रेस विधायक कव्वमपल्ली सत्यनारायण के भाई  कव्वामपल्ली प्रकाश.
कार्यक्रम के दौरान कांग्रेस विधायक कव्वमपल्ली सत्यनारायण के भाई कव्वामपल्ली प्रकाश.साभार -सोशल मीडिया

दरअसल,तेलंगाना में मनकोंदुर के कांग्रेस विधायक कव्वमपल्ली सत्यनारायण को करीमनगर जिले के तिम्मापुर मंडल के कोठापल्ली में एक समारोह हॉल में मुख्य अतिथि शामिल होना था। जम्मीकुंटा में सीएम कार्यक्रम होने के कारण विधायक कव्वमपल्ली सत्यनारायण इस कार्यक्रम में पहुँचने में असमर्थ थे। इस कारण उनके छोटे भाई कव्वामपल्ली प्रकाश इस कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्हें मंच पर बोलने का मौका मिला।

कांग्रेस विधायक के भाई ने सार्वजनिक संबोधन में दलित समुदाय के बारे में अपमानजनक टिप्पणी कर दी। उन्होंने कहा, ''हम पर यह मुहर लग गई है कि हम बेचने वाली जाति हैं। हजार रुपये में वोट बिकते हैं यदि एक और शून्य जोड़ दें तो हम अपनी पत्नियों को भी बेच देंगे।' - इस घटना ने दलित समाज में व्यापक आक्रोश और बहस छेड़ दी है। आलोचकों का तर्क है कि इस तरह की विभाजनकारी बयानबाजी हानिकारक रूढ़िवादिता को कायम रखती है और दलितों के खिलाफ सामाजिक भेदभाव को बढ़ाती है, जिन्होंने ऐतिहासिक रूप से हाशिए और पूर्वाग्रह का सामना किया है। प्रकाश की यह शब्द अब सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बन गया है।

कव्वामपल्ली को माफी मांगनी चाहिए

इस मामले में तेलंगाना की क्षेत्रीय पार्टी भारतीय राष्ट्रीय समिति की अनुसूचित जाति सेल के नेताओं ने मंगलवार को करीमनगर जिले के मानकोंदूर मंडल केंद्र पर प्रेसवार्ता की। बीआरएस सेल मानकोंदूर निर्वाचन क्षेत्र के नेताओं ने मांग की है कि मानकोंदूर विधायक कव्वमपल्ली सत्यनारायण के भाई कव्वमपल्ली प्रकाश को दलितों के आत्मसम्मान को ठेस पहुंचाने वाली टिप्पणी करने के लिए तुरंत दलित समुदाय से बिना शर्त माफी मांगनी चाहिए।

कव्वामपल्ली प्रकाश का दलित होकर इस तरह से बोलना जिससे दलित लड़कियों की भावनाएं आहत हों, शर्मनाक है। गिरगिट की तरह दल बदलने वाले कव्वामपल्ली का पैसों के लिए बिकने का इतिहास रहा है। विधायक कव्वमपल्ली और उनके भाई प्रकाश ने राज्य में दलित लड़कियों से तत्काल माफी मांगने और दलित बहनों के खिलाफ की गई टिप्पणियों को वापस लेने की मांग की। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि जो लोग सत्ता के भूखे हैं और ऐसी बातें करते हैं जैसे वे दलितों का अपमान करना चाहते हैं। इस बैठक में नेता वंतादपुला संपत, संगुपतला मल्लेशम, वडलुरी शंकर, एस्कुला अंजैया, सुदर्शन, बोज्जा कोटिलिंगम, कोम्मू संपत, दप्पू तिरुपति और एरु देवैया सहित दलित समुदाय के नेता लिंगला लक्ष्मण, एनागंडुला सुदर्शन और कंकुंटला अभिलाष शामिल रहे।

कव्वामपल्ली प्रकाश.
मध्य प्रदेश: कांग्रेस नेता सुरेश पचौरी भाजपा में शामिल, इन सीटों पर बदल सकते हैं चुनावी समीकरण

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com