उत्तर प्रदेश: सफाईकर्मियों पर पथराव के बाद आक्रोश, जानिए पूरा मामला

घटना से नाराज वाल्मीकि समाज के लोगों ने विरोध में काम ठप्प कर दिया।
यूपी पुलिस
यूपी पुलिससांकेतिक फोटो

उत्तर प्रदेश। बिजनौर जिले के अफजलगढ़ थाना क्षेत्र के मोहल्ला गौहरअली खां में बुधवार की शाम वाल्मीकि समाज के युवक का मुस्लिम समाज के युवकों से साफ-सफाई को लेकर विवाद हुआ। आरोप है कि जब वाल्मीकि समाज के युवक ने इसका विरोध किया तो उसे जातिसूचक गाली दी गई और युवकों ने पिटाई भी की। इस मामले पीड़ित युवक ने थाने में शिकायत की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। घटना से नाराज वाल्मीकि समाज के लोगों ने विरोध में काम ठप्प कर दिया। मौके पर पहुंचकर क्षेत्राधिकारी और एएसपी ने मामले को जांच करते हुए मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

द मूकनायक को मिली जानकारी के मुताबिक बिजनौर जिले के अफजलगढ़ थाना क्षेत्र में बुधवार की शाम मोहल्ला गौहरअली खां स्थित वाल्मीकि बस्ती का युवक ऋषभ बस्ती के समीप तिराहे पर गया था। वहां मोहल्ले के ही दूसरे वर्ग के कुछ युवक डंडा लिए खड़े थे। ऋषभ को अपशब्द कहने पर विवाद हो गया। आरोप है कि वाल्मीकि समाज के लोगों पर पथराव किया गया, लेकिन मोहल्ले के लोगों ने बीच बचाव किया। सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। दोनों पक्षों के लोगों को समझा बुझा कर शांत किया।

एसपी पूर्वी धर्म सिंह मार्छाल, सीओ अर्चना सिंह और कोतवाल राजकुमार सरोज मौके पर पहुंचे और घटनास्थल की जांच की। उन्होंने सीसीटीवी कैमरे की फुटेज निकालकर चेक किए और पत्थर फेंकने वाले लोगों की तलाश किए।

एएसपी के मुताबिक, मोहल्ले में शांति है। इस संबंध में पीड़ित युवक की ओर से पांच लोगों के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। आरोपियों की गिरफ्तारी न होने पर बृहस्पतिवार को वाल्मीकि समाज में रोष फैल गया। उन्होंने नगर की साफ सफाई ठप कर दी। कोतवाली पहुंचकर पुलिस से आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की है। वाल्मीकि समाज ने चेताया कि यदि आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं की जाती है तो वह नगर में सफाई कार्य नहीं करेंगें।

इस मामले क्षेत्राधिकारी अर्चना सिंह ने द मूकनायक को बताया कि पीड़ित की तहरीर पर मुकदमा लिख लिया गया है। वाल्मीकि समाज के लोगों से काम पर लौटने और शीघ्र आरोपियों को गिरफ्तारी का भरोसा दिया गया है।

यूपी पुलिस
यूपी: मथुरा में दलित परिवार के साथ हुई थी क्रूरता, 23 साल बाद कोर्ट का फैसला, न्याय में क्यों हुई देरी, जानिए पूरा मामला?
यूपी पुलिस
कभी आंबेडकर तो कहीं मुस्लिम छात्राएं क्यों हो रहीं टारगेट? सेकुलरिज्म और संविधान को चुनौती देने वाले मामलों पर ये रिपोर्ट..
यूपी पुलिस
यूपी: मथुरा में दलित परिवार के साथ हुई थी क्रूरता, 23 साल बाद कोर्ट का फैसला, न्याय में क्यों हुई देरी, जानिए पूरा मामला?

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com