8th Pay Commission: केंद्र सरकार आठवें वेतन आयोग के गठन से कर रही 'परहेज'!

देश में पहला वेतन आयोग जनवरी 1946 में गठित हुआ था. वर्ष 1947 से अब तक 7 वेतन आयोग का गठन किया गया है. वहीं, आखिरी यानी सातवां वेतन आयोग (7th Pay Commission) 28 फरवरी, 2014 को बना था. हाल में समाप्त मानसून सत्र में एक सवाल के जवाब में सरकार ने कमीशन गठन की संभावना को सिरे से नकारा.
8वां वेतन आयोग
8वां वेतन आयोगग्राफिक- द मूकनायक

नई दिल्ली: मानसून सत्र में जब वित्त सचिव टी वी सोमनाथ से सवाल पूछा गया थी कि क्या सरकार केंद्रीय कर्मचारियों के लिए 8वें वेतन आयोग का समय पर गठन सुनिश्चित का प्रस्ताव रखती है, ताकि इसे 1 जनवरी 2026 को लागू किया जा सके, तो इसके जवाब में वित्त सचिव ने संसद में कहा कि फिलहाल 8वें वेतन आयोग पर कोई विचार नहीं किया जा रहा है। इसके बाद से ही कर्मचारी संगठन सक्रिय हो गए है।

उल्लेखनीय है कि केंद्रीय कर्मचारी और पेंशनर्स 7वें वेतन आयोग (7th pay commission) के बाद 8वां वेतन आयोग (8th pay commission) लागू करने की मांग को लेकर काफी समय से प्रदर्शन कर रहे हैं. अब इसको लेकर चर्चा तेज हो गई है कि क्या नए साल में केंद्रीय कर्मचारियों को पे-कमीशन से जुड़ी खुशखबरी मिल सकती है? यह चर्चा इसलिए तेज हो गई है क्योंकि देश में नए साल में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं. कर्मचारी संगठन ये उम्मीद कर रहे हैं कि सरकार इससे पहले 8वें वेतन आयोग के गठन का ऐलान कर सकती है. लेकिन इसको लेकर सरकार ने पहले ही अपना रुख साफ कर दिया है.

तो चलिए जानते हैं कि लगभग 48.67 लाख केंद्रीय कर्मचारियों और 67.95 लाख पेंशनर्स के लिए आठवां वेतन आयोग (8th Pay Commission) गठित करने की योजना पर सरकार की ओर से क्या संकेत मिल रहे हैं. क्या सच में सरकार केंद्रीय कर्मचारियों के लिए ये बड़ा ऐलान कर सकती है?

दरअसल, मानसून सत्र के दौरान सरकार ने साफ कर दिया है कि फिलहाल आठवां पे कमीशन बनाने का कोई प्रस्ताव विचाराधीन नहीं है.

जब वित्तसचिव टी.वी. सोमनाथन से सवाल पूछा गया था कि क्या सरकार केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए 8वें केंद्रीय वेतन आयोग का समय पर गठन सुनिश्चित करने का प्रस्ताव रखती है ताकि इसे 1 जनवरी, 2026 को लागू किया जा सके,तो इसके जवाब में वित्तसचिव ने संसद में कहा कि फिलहाल 8वें वेतन आयोग पर कोई विचार नहीं है.

2013 के आम चुनाव से पहले 7वें वेतन आयोग का गठन

इससे पहले 2013 के आम चुनाव से पहले कांग्रेस के नेतृत्व वाली UPA सरकार ने 7वां वेतन आयोग (7th Pay Commission) गठित किया था. अगले साल 2024 में भी लोकसभा चुनाव होने वाले हैं. ऐसे में आठवें पे कमीशन लागू करने को लेकर कई तरह के कयास लगाए जा रहे थे.

बता दें कि देश में केंद्रीय कर्मचारियों (Central Government Employee) के सैलरी स्ट्रक्चर में बदलाव के लिए हर 10 साल में पे कमीशन का गठन किया जाता है.

1947 से अब तक 7 वेतन आयोग का हो चुका है गठन

जनवरी 1946 में देश में पहला वेतन आयोग गठित हुआ था. वर्ष 1947 से अब तक 7 वेतन आयोग का गठन किया गया है. वहीं, आखिरी यानी सातवां वेतन आयोग 28 फरवरी, 2014 को बना था.

केंद्र सरकार के कर्मचारियों का DA बढ़कर 46% हुआ

7th Pay Commission के तहत कर्मचारियों की न्यूनतम बेसिक सैलरी (Basic Salary) 18,000 रुपए है. 7वें केंद्रीय वेतन आयोग के अनुसार, केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के लिए महंगाई भत्ता (DA) और महंगाई राहत (DR) 42% से बढ़ाकर 46% कर दी गई है. ये संशोधित दर 1 जुलाई 2023 से लागू है.

8वां वेतन आयोग
मध्य प्रदेश: तीन साल बाद भी सरकार नहीं कर सकी राज्य ट्रांसजेंडर्स बोर्ड का गठन!
8वां वेतन आयोग
देशभर के सैकड़ों जिलों के भूजल में आर्सेनिक-फ्लोराइड ने बढ़ाई चिंता, जानिए क्या हैं खतरे, कब सामने आया था पहला मामला!
8वां वेतन आयोग
तमिलनाडु के इस गाँव में पहली बार सड़कों पर चप्पल पहनकर निकले 60 दलित!

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com