यूपी: 'दलित हूँ इसलिए नहीं दी जा रही प्रधानाचार्य पद पर तैनाती'- महिला प्रवक्ता ने लगाए गम्भीर आरोप

महिला पूरे मामले को लेकर कोर्ट गई थी, कोर्ट ने पक्ष में सुनाया था फैसला.
शाहाबाद इलाके में मौजूद के.पी.आर.सी कला केंद्र गर्ल्स इंटर कॉलेज.
शाहाबाद इलाके में मौजूद के.पी.आर.सी कला केंद्र गर्ल्स इंटर कॉलेज.तस्वीर- द मूकनायक

बरेली। उत्तर प्रदेश के बरेली जिले में माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित इंटर कॉलेज में तैनात वरिष्ठ प्रवक्ता को कॉलेज का प्रधानाचार्य बनाने के आदेश जारी किये गए थे. लेकिन इस आदेश का आज तक अनुपालन नहीं हो सका है। आरोप है कि कॉलेज का प्रबंधक वरिष्ठ महिला प्रवक्ता को उनकी जाति के कारण कॉलेज में प्रधानाचार्य के पद पर ज्वाइन नहीं करा रहा है।

दरअसल, पूरा मामला बरेली के शाहाबाद के.पी.आर.सी कला केंद्र गर्ल्स इंटर कॉलेज का है। इस कालेज में ममता कुमारी वरिष्ठत प्रवक्ता पद पर तैनात हैं। शिक्षा निदेशक,बेसिक शिक्षा अधिकारी,जिला विद्यालय निरीक्षक सहित द मूकनायक को भेजे गए एक पत्र में ममता कुमारी ने अपनी पीड़ा साझा की है।

ममता लिखती हैं- 'अनुसूचित जाति होने के कारण मुझे आर्थिक एवं मानसिक रूप से उत्पीड़न किया जा रहा है। 20 मई 2024 के आदेश का पालन अभी तक नहीं हो सका है। शिक्षा निदेशक माध्यमिक शिक्षा, उत्तर प्रदेश शासन लखनऊ के आदेश 405/ 410 /2024 -25 दिनांक 20-05-2024 के द्वारा मुझे वरिष्ठतम प्रवक्ता मानते हुए विद्यालय में प्रधानाचार्या पूर्ववत पद का कार्यभार तुरंत सौंपने हेतु निर्देशित किया है।'

ममता आगे लिखती हैं-'इसी क्रम में जिला विद्यालय निरीक्षक बरेली द्वारा दिनांक 25 मई, 31 मई,2024 एवं 14 जून,2024 को जारी अपने पत्रों द्वारा विद्यालय प्रबंधक को कार्यभार ग्रहण कराए जाने हेतु आदेशित किया जा चुका है। किंतु अद्यतन कार्यभार ग्रहण नहीं कराया गया है। जिला विद्यालय निरीक्षक बरेली ने अपने पत्र दिनांक 25 मई, 2024 को दीपा शर्मा के कार्यवाहक प्रधानाचार्य के रूप में प्रमाणित किए गए हस्ताक्षरों पर रोक भी लगा दी गई है किंतु अद्यतन दीपा शर्मा विभागीय आदेशों का उल्लंघन करके मई माह 2024 वेतन विभागीय अधिकारियों को गुमराह करके अपने हस्ताक्षर से निकलवा चुकी हैं जो कि वित्तीय अनियमितता का कृत्य है।'

द मूकनायक से बातचीत करते हुए ममता कहती हैं-'इस मामले में उच्च न्यायालय भी गई थी। उच्च न्यायालय ने भी मेरे पक्ष में फैसला सुनाया था। इसके बावजूद अभी तक प्रबंधक ने विद्यालय में मेरी नियुक्ति नहीं कराई है।'

द मूकनायक ने कालेज के प्रबंधक का भी पक्ष जाना। द मूकनायक से बातचीत करते हुए कालेज के प्रबंधक अवध अग्रवाल कहते हैं-'एक बार पुनः न्यायलय में इससे संबंधित रिट डाली गयी है। कोर्ट का फैसला आने के बाद जो आदेश होंगे उसका पालन किया जाएगा।', वहीं ममता का कहना है, अभी कोर्ट बंद चल रहे हैं, जो नई रिट डाली गई है, कोर्ट ने उसका अभी तक संज्ञान नहीं लिया है। इसके बावजूद लगातार परेशान किया जा रहा है।'

इस मामले में माध्यमिक शिक्षा विभाग के निदेशक महेंद्र देव से द मूकनायक ने बातचीत की। महेंद्र देव ने द मूकनायक को बताया-'संबंधित अधिकारी को प्रबंधक के खिलाफ कार्रवाई करने के आदेश दिए गए हैं।'

शाहाबाद इलाके में मौजूद के.पी.आर.सी कला केंद्र गर्ल्स इंटर कॉलेज.
"मैं दलित हूँ, इसलिए मेरा चेम्बर बदल दिया गया", प्रशासनिक अधिकारी ने सीएमओ पर लगाए गम्भीर आरोप

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com