राजस्थान: बूंदी में दलित परिवार पर जानलेवा हमला, 6 आरोपी गिरफ्तार

हमले में पीड़ित परिवार के सात लोगों को गंभीर चोट आने के बाद इलाज के लिए बूंदी के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
सांकेतिक फोटो
सांकेतिक फोटोwww.dnaindia.com

जयपुर। राजस्थान के बूंदी जिले के रायथला थाना इलाके के एक गांव में महिला से छेड़खानी का विरोध करने पर पीड़ित परिवार पर कातिलाना हमला करने के आधा दर्जन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपी देवीलाल (61) पुत्र गोपाल गुर्जर, भीमराज (55) पुत्र गोपाल गुर्जर, खुशीराम (25) पुत्र भीमराज गुर्जर, देवप्रकाश (28) पुत्र भीमराज गुर्जर, चन्द्रप्रकाश (26) पुत्र जुगराज गुर्जर, जुगराज (50) पुत्र गोपाल गुर्जर हैं।

आरोप है कि बीते 7 जनवरी, रविवार को बूंदी जिले के रायथला थाना इलाके के एक गांव में पहले तो मनबढ़ आरोपी दलित के छप्पर पोश में घुस गया। जहां दलित महिला को अकेले पाकर उसके साथ छेड़खानी करने लगा। इस दौरान घर पहुंचे पीड़ित महिला के पति ने आरोपी से जबरदस्ती घर में घुसने का कारण पूछा तो आरोपी उससे हाथापाई पर उतारू हो गया। साथ ही आरोपी ने अपने परिवार जनों को बुलाकर पीड़ित परिवार पर धारदार हथियार से जानलेवा हमला कर दिया। हमले में पीड़ित परिवार के सात लोगों को गंभीर चोट आने के बाद इलाज के लिए बूंदी के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

घायलों के उपचार के दौरान जिला अस्पताल पहुंची रायथला थाना पुलिस ने पीड़ित महिला के पति के पर्चा बयान के आधार पर उक्त गिरफ्तार आरोपियों के खिलाफ छेड़छाड़, कातिलाना हमला करने, अवैध तरीके से घर में घुसने सहित अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति अधिनियम की विभिन्न धाराओं में प्राथमिकी दर्ज कर जांच वृताधिकारी केशवराय पाटन के पुलिस वृताधिकारी शंकरलाल को जांच सौंपी थी।

दलित परिवार के महिला के साथ छेड़छाड़ की घटना का विरोध करने पर पीड़ित परिवार पर जानलेवा हमले की घटना को लेकर सामाजिक संगठनों ने विरोध दर्ज कराते हुए प्रशासन से विलंब आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की थी। आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर बूंदी जिले में विभिन्न सड़क मार्गों पर उतर कर आंदोलन की बात भी कही गई।

मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक जय यादव ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रामकुवार कस्वा के नेतृत्व में जांच अधिकारी व केशवराय पाटन वृत्ताधिकार शंकरलाल व थानाधिकारी रायथला बाबूलाल मीणा को अविलंब आरोपियों की गिरफ्तारी के निर्देश दिए थे। एसपी के निर्देश पर पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए आधा दर्जन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

यह था घटनाक्रम

पुलिस के अनुसार बूंदी जिला अस्पताल में उपचाराधीन पीड़ित महिला के पति ने पर्चा बयान में बताया कि 7 जनवरी रविवार को वह गांव के हाट में गया था। घर पर पत्नी अकेली थी। हाट से घर पहुंचा तो आरोपी जुगराज गुर्जर घर के अंदर घुस कर प्रार्थी की पत्नी के साथ छेड़छाड़ कर रहा था। प्रार्थी ने पुलिस को बताया कि मौके पर पहुंचकर आरोपी से पत्नी को बचाकर घर के बाहर निकाल लिया तथा आरोपी जुगराज को घर के अंदर बंद कर दिया।

इस दौरान प्रार्थी ने अपने परिवार जनों को घटना की सूचना देकर मौके पर बुलाया। इस पर प्रार्थी के पिता, ताऊ, ताई व अन्य रिश्तेदार भी मौके पर आ गए। कुछ देर बाद आरोपी ने अपने परिवार के उक्त आरोपियों को भी मौके पर बुला लिया। हाथों में लाठी, डंडे, कुल्हाड़ी व गंडासी लेकर आए आरोपियों ने पीड़ित परिवार के लोगों पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया। इससे सात लोगों के गंभीर चोट आई।

हमले में प्रार्थी के कान, सिर, पैर व शरीर पर जगह-जगह गंभीर चोट आई है। इसके अलावा प्रार्थी की पीड़ित पत्नी, पिता, ताऊ, ताई व अन्य लोगों के भी गंभीर चोट आई है। घटना की सूचना पर मौके पर पुलिस भी पहुंची थी। पुलिस ने 108 एम्बुलेंस की मदद से सभी घायलों को सबसे पहले नजदीकी अस्पताल खटखड़ पहुंचाया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद सभी को जिला अस्पताल बूंदी रेफर कर दिया गया।

पुलिस अधीक्षक जयदेव ने प्रेस नोट जारी कर बताया कि हमले के 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। मामले की जांच कर रहे हैं। अनुसंधान में भी जो भी सच निकल कर सामने आएगा नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

सांकेतिक फोटो
लखनऊ जेल में बंद पुलिस कर्मी की बर्बर पिटाई! जानिये रिटायर्ड IPS ने डीजीपी को पत्र में क्या लिखा
सांकेतिक फोटो
हसदेव अरण्य: हजारों लोग सड़क पर उतरे, जानिए क्यों है पुलिस की मौजूदगी का विरोध?
सांकेतिक फोटो
दिल्ली: SC ने पलटा गुजरात सरकार का फैसला, बिलकिस बानो मामले में दोषियों की सजा माफी रद्द

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com