राजस्थान: प्रशासन से मदद नहीं मिली तो दलित किसान ने भीम आर्मी को लिखा पत्र!

बारां जिले में किसान को खातेदारी भूमि से फसल नहीं काटने दे रहे प्रभावशाली लोग
राजस्थान: प्रशासन से मदद नहीं मिली तो दलित किसान ने भीम आर्मी को लिखा पत्र!

जयपुर। राजस्थान के बारां जिले के एक दलित किसान ने अपनी खातेदारी जमीन में खड़ी सरसों व धनिया की फसल कटाई के लिए पुलिस व प्रशासन की बजाय भीम आर्मी से सहयोग की गुहार लगाई है।

इधर, पीड़ित किसान का पत्र मिलने के बाद भीम आर्मी जिलाध्यक्ष पीयूष रैगर के नेतृत्व में संगठन के लोगों ने जिला कलक्टर व एसपी बारां को ज्ञापन देकर न्याय की गुहार लगाई है। देखना होगा प्रशासन पीड़ित किसान को न्याय कब तक दिला पाता है।

यह है मामला

बारां जिले के श्यामपुरा गांव में घासीलाल पुत्र भैरूलाल मेघवाल को भाइयों सहित खातेदारी भूमि ग्राम श्यामपुरा तहसील बारां में खसरा नम्बर 581/240 रकबा 0.08 हेक्टियर, खसरा नम्बर 582/259 रकबा 0.32 हेक्टियर, खसरा नम्बर 584/479 रकबा 0.47 हेक्टियर, खसरा नम्बर 586/326 रकबा 0.44 हेक्टियर कुल किता 4 कुल रकबा 1.31 हेक्टियर भूमि राजस्व रिकार्ड में घासी लाल व उसके भाइयों के खातेदरी दर्ज है।

भीम आर्मी जिलाध्यक्ष पीयूष रैगर ने कहा कि उक्त भूमि पर पहले पास के ही प्रभावशाली लोगों ने जबरन कब्जा कर लिया था। इस सम्बंध में पीड़ित ने न्यायालय तहसीलदार बारां के समक्ष जरिए वकील वाद दायर कर स्वयं की खातेदारी भूमि को कब्जाधारियों से मुक्त करवाने की गुहार लगाई थी।

न्यायालय तहसीलदार ने दोनों पक्षो की सुनवाई के बाद 30 सितंबर 2022 को घासी लाल की खतेदारी भूमि पर दूसरे पक्ष का अवैध कब्जा मानते हुए बेदख़ली कर खातेदार घासी लाल को कब्जा सम्भलाने के पटवारी व गिरदावर को आदेश दिए थे। इसके बाद मौके पर पीड़ित को कब्जा स्वयं की खातेदारी भूमि पर काबिज किया गया। कब्जा लेने के बाद पीड़ित ने सरसों व धनिया की बुवाई भी की। फसल की सिंचाई की। अब फसल पक कर तैयार हुई तो प्रभावशाली लोगों ने फसल काटने से मना कर दिया।

जिला कलक्टर व एसपी से फसल कटवाने की लगाई गुहार

पीड़ित घासी लाल मेघवाल की फसल कटाई में पुलिस इमदाद की मांग को लेकर भीम आर्मी बारां जिलाध्यक्ष पीयूष रैगर के नेतृत्व में पीड़ित किसान के साथ संगठन के पदाधिकारियों ने जिला कलेक्टर नरेंद्र गुप्ता और पुलिस अधीक्षक राजकुमार चौधरी को हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन दिया। इस पर पुलिस अधीक्षक ने मौके पर ही सम्बन्धित थाना पुलिस को फसल कटाई में मदद के आदेश दिए।

पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर बारां पुलिस थाना सदर के थानाधिकारी को न्यायालय के फैसले सहित सम्बन्धित दस्तावेज उपलब्ध करवाए गए। पुलिस ने तहसीलदार से फसल कटाई के लिखित आदेश मांगे तो उन्होंने कुछ भी लिख कर देने से मना कर दिया।

इस अवसर पर भूमि खाताधारक ने कहा कि भूमि हमारे पूर्वजों की है और प्रशासन ने हमें लिखित में 30 सितम्बर 2022 को हमारी मानते हुए कब्जा भी दिया है। हमने फसल बुवाई की है, लेकिन रसूख रखने वाले आरोपी फसल नहीं काटने दे रहे हैं।

भीम आर्मी बारां जिला अध्यक्ष ने कहा कि हम घासीलाल मेघवाल के परिवार के साथ है। इनको भीम आर्मी से उम्मीद है। इसलिए इन्होंने भीम आर्मी से मदद की मांग की है। भीम आर्मी इनके न्याय के लिए कानूनी लड़ाई लड़ेगी। प्रशासन को दो दिन का समय दिया है। पीड़ित के द्वारा फ़सल काटने के दौरान कोई व्यवधान आता है तो भीम आर्मी चुप नही रहेगी। इसके लिए प्रशासन जिम्मेदार होगा। जिला कलेक्टर व जिला पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन दिया। इस अवसर पर भीम आर्मी जिला उपाध्यक्ष अजय डागर, रूपसिंह अम्बेडकर, राजेन्द्र बैरवा, जिला महासचिव सुरेंद्र ऐरवाल, संभाग मीडिया प्रभारी कोटा प्रेमशंकर शांत, ब्लॉक अध्यक्ष मांगरोल पवन मेघवाल, ब्लॉक महासचिव रामकिशन मेघवाल, तोलाराम मेघवाल, बंटी बैरवा, छबड़ा ब्लॉक अध्यक्ष हरिओम मेघवाल, पृथ्वीराज मेघवाल आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे।

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com