राजस्थान: बाबा साहब का होर्डिंग फाड़ा, भीम आर्मी जिलाध्यक्ष को पीटा

सिरोही जिले का मामला, 6 दिन बाद भी गिरफ्तारी नहीं तो थाना परिसर में किया प्रदर्शन
राजस्थान: बाबा साहब का होर्डिंग फाड़ा, भीम आर्मी जिलाध्यक्ष को पीटा

जयपुर। राजस्थान में अनुसूचित जाति के लोगों पर अत्याचार के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। अभी तक सिरोही जिले में कार्तिक भील हत्याकांड का मामला शांत भी नहीं हुआ था कि अब शिवगंज पुलिस थाना क्षेत्र के जोयला गांव में बाबा साहब डॉ. भीम राव अम्बेडकर के होर्डिंग फाड़ने का मामला सामने आया है।

बात यहीं खत्म नहीं होती इसका विरोध करने पर खुद को जोयला गांव का जागीरदार बताने वाले आरोपियों ने भीम आर्मी जिलाध्यक्ष सिरोही सुरेश कुमार को जातिसूचक शब्दों से अपमानित कर मारपीट भी की। घटना के तीसरे दिन गत 26 मार्च को पीड़ित भीम आर्मी जिलाध्यक्ष सुरेश कुमार की रिपोर्ट के आधार पर शिवगंज थाना पुलिस ने भगवत सिंह राजपूत, राजेन्द्र सिंह पुत्र भंवरसिंह राजपूत व छगन सिंह राजपूत निवासी नया जोयला के खिलाफ एफआईआर दर्ज की, लेकिन अभी तक आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया।

भीम आर्मी का प्रदर्शन

अम्बेडकर चौक पर लगे बाबा साहब के होर्डिंग को फाड़ने व विरोध करने पर भीम आर्मी जिलाध्यक्ष के साथ मारपीट के नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो शुक्रवार को बहुजन समाज सड़कों पर उतर आया। भीम आर्मी प्रदेश संगठन मंत्री मोतीलाल हीरागर के नेतृत्व में बहुजन समाज के लोगों ने शिवगंज पुलिस थाने के सामने प्रदर्शन किया। थाने के बाहर सड़क पर लेट कर पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। भीम आर्मी ने 10 दिन में आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन करने की बात कही।

यह है मामला

सिरोही जिले के शिवगंज पुलिस थाने में 26 मार्च को दर्ज मुकदमे के अनुसार शिवगंज थाना इलाके के पुराना जोयला स्कूल बस स्टैंड के पास भीमराव डॉ. अंबेडकर चौक पर 24 मार्च को भीम आर्मी के कार्यकर्ता रात्रि 8 बजे डॉ. भीमराव अंबेडकर की 132वीं जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित होने वाले तृतीय बहुजन उत्सव समारोह 2023 के सम्बंध में होर्डिंग लगा रहे थे। इस दौरान आरोपी भगवत सिंह पुत्र भंवर सिंह राजपूत, राजेन्द्र सिंह राजपूत व छगन सिंह राजपूत निवासी नया जोयला ने होर्डिंग लगाने से मना करते हुए गाली दी, लेकिन गांव का मामला होने से भीम आर्मी कार्यकर्ताओ ने पुलिस में रिपोर्ट नहीं दी।

अगले दिन 25 मार्च की रात 10 बजे सुरेश कुमार पुत्र ताराराम मेघवाल व प्रकाश पुत्र मूलाराम मेघवाल निवासी पुराना जोयला ईमित्र की दुकान से आ रहे थे। जैसा कि एफसीआई में बताया कि इस दौरान अम्बेडकर चौक पर आरोपी भगवत सिंह, राजेन्द्र सिंह और तीन अन्य शराब पी रहे थे।

आरोपियों ने सुरेश और प्रकाश कुमार को जाति सूचक गालियां देते हुए तथा बाबा साहब भीमराव अंबेडकर को अपमानित शब्दों से संबोधित करते हुए कहा कि हम से पूछे बिना यहां फोटो क्यों लगाई। हम यहां के जागीरदार हैं।

राजस्थान: बाबा साहब का होर्डिंग फाड़ा, भीम आर्मी जिलाध्यक्ष को पीटा
इस अधिनियम के पास होने से अब राजस्थान के हर नागरिक को मिलेगी इलाज की गारंटी

इस पर पीड़ितों ने भीम आर्मी जिलाध्यक्ष व अन्य सदस्यों को फोन कर मौके पर बुलाया। इस वक्त भी आरोपियों ने भीम आर्मी जिलाध्यक्ष को जान से मारने की एलानिया धमकी दी तथा जातिसूचक गालियां देते हुए बाबा साहब के फोटो लगे होर्डिंग फाड़ दिए।

रिपोर्ट के अनुसार भीम आर्मी कार्यकर्ताओं ने इस संबंध में रात को ही पुलिस को फोन पर सूचना दी थी, लेकिन शिवगंज थाने से पुलिस अगले दिन 26 मार्च सुबह 9 बजे घटना स्थल पहुंची। मौका देखने के बाद पुलिस ने इसके पुलिस थाने आकर रिपोर्ट दर्ज करवाने को कहा।

एफआईआर के अनुसार सुबह 10 बजे रिपोर्ट दर्ज करवाने शिवगंज पुलिस थाने जा रहे थे तो आरोपी छगनसिंह ने एक अन्य के साथ मिलकर प्रार्थी भीम आर्मी जिलाध्यक्ष सुरेश कुमार व अन्य साथी ओमप्रकाश निवासी बेरा रामपुरा, जगदीश कुमार, प्रकाश कुमार, सुरेश कुमार का रास्ता रोक लिया। आरोपियों ने धमकाते हुए कहा कि हमारे खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया तो सभी को गांव छुड़वा देंगे। आरोपी हथियार लेकर घूम रहे हैं। आरोपियों ने धक्का-मुक्की की इस लिए शरीर में चोट है तथा पर्स भी छीन कर ले गए। पर्स में नौ सौ रुपए थे। इन आरोपों के साथ पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच वृत्ताधिकारी दिनेश कुमार को जांच सौंप दी।

पुलिस पर आरोप

शिवगंज पुलिस थाने के बाहर प्रदर्शन में शामिल भीम आर्मी प्रदेश संगठन मंत्री मोती लाल हीरागर ने कहा कि बाबा साहब के होर्डिंग फाड़ने व भीम आर्मी जिलाध्यक्ष के साथ मारपीट के नामजद आरोपी खुले आम हथियार लेकर घूम रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस सच्चाई से वाकिफ है, लेकिन राजनीतिक दबाव में आरोपियों को बचा रही है।

हीरागर ने आगे कहा कि आज हमने आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर सम्बन्धित पुलिस थाने के बाहर प्रदर्शन किया है। पुलिस ने जांच के नाम पर समय मांगा है। 10 अप्रैल तक नामजद आरोपी गिरफ्तार नहीं हुए तो बहुजन समाज 10 अप्रैल को जिला मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन करेगा।

राजस्थान: बाबा साहब का होर्डिंग फाड़ा, भीम आर्मी जिलाध्यक्ष को पीटा
राजस्थान: जनजातीय कला एवं परम्परा 'मांडना' के संरक्षण पर सरकार का सकारात्मक रुख

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें व्हाट्सअप पर प्राप्त करने के लिए आप हमारे व्हाट्सअप ग्रुप से भी जुड़ सकते हैं। व्हाट्सअप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
logo
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com