मध्य प्रदेश: जमीनी विवाद के चलते राजगढ़ में दलित युवती से गैंगरेप, मुरैना में 6 लोगों की गोली मारकर हत्या!

मध्य प्रदेश: जमीनी विवाद के चलते राजगढ़ में दलित युवती से गैंगरेप, मुरैना में 6 लोगों की गोली मारकर हत्या!

एमपी में अपराधियों के हौंसले बढ़ते जा रहे है। लगातार बढ़ती आपराधिक घटनाओं से लोग असुरक्षित महसूस कर रहे है। वहीं पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी है।

भोपाल। मध्य प्रदेश में जमीनी विवाद के चलते हाल में कई गंभीर आपराधिक घटनाएं घटित हुई हैं। प्रदेश के राजगढ़ में दलित युवती से गैंगरेप का मामला सामने आया है। यहाँ आरोपियों ने घर में घुसकर पहले परिवार के लोगों को क्रेशर मशीन के बेल्ट से जमकर पीटा। जब मां-बाप और भाई बेहोश हो गए तब युवती से 5 दरिंदों ने बारी-बारी से दुष्कर्म किया। इधर, मुरैना में जमीनी विवाद और बदले की आग में एक ही परिवार के 6 लोगों की गोली मारकर दिन दहाड़े हत्या कर दी गई। जिसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

दलित युवती के साथ गैंग रेप

राजगढ़ में पीड़िता के परिवार को कुछ सालों पहले पट्टे की जमीन मिली थी। इसी जमीन के पास आरोपियों की जमीन है। इसे लेकर दोनों पक्षों के बीच में कुछ महीनों से विवाद चल रहा था। मामला कोर्ट में भी पहुंच गया था। गुरुवार की रात 10 बजे करीब 8 लोगों ने दलित परिवार के घर को घेर लिया। पहले युवती के भाई, पिता और मां के साथ मारपीट की गई। भाई और पिता को इतना पीटा की उनके शरीर पर गहरे घाव हो गए। जब पिटाई से पिता और भाई बेहोश हो गए तब आरोपियों ने युवती के साथ बलात्कार किया।

पुलिस पर लापरवाही का आरोप

पीड़िता के मुताबिक तीनों के बेहोश हो जाने के बाद घर में दुबक रही युवती पर आरोपियों की नजर पड़ी। उन्होंने युवती को भी पहले बेल्ट से पीटा। पीड़िता ने बताया कि अरविंद, दीपक, नागेंद्र, मेहरबान और बनवारी नाम के आरोपी ने बारी-बारी से उसके साथ रेप किया। इस दौरान आरोपी रमेश और राकेश सहित एक अन्य ने दरवाजे पर खड़े होकर नजर रखी। वारदात के बाद जब पीड़िता परिवार थाने में शिकायत करने पहुंचा तो पुलिस ने घर में घुसकर छेड़छाड़ का मामला दर्ज किया। पीड़िता परिवार ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया है। फिलहाल पीड़िता परिवार का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है। पीड़िता घटना को याद कर बार-बार रोते हुए बेहोश हो रही है।

करनवास थाना प्रभारी अजय सिंह यादव ने बताया कि गुरुवार रात को एक अनुसूचित जाति की युवती के घर में कुछ लोगों ने घुसकर मारपीट की और युवती के कपड़े फाड़ दिए। घटना के बाद मौके पर गया था। हमने तत्काल पीड़िता की शिकायत पर बयान लेकर 5 आरोपियों पर धारा 147,149, 456, 354, 294, 323, 506, 427 के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस ने इस मामले में अरविंद, मेहरबान, दीपक, बनवारी नाम के चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी देवेंद्र फरार है, जिसकी तलाश की जा रही है।

आंदोलन करेगी भीम आर्मी

द मूकनायक से बातचीत करते हुए आजाद समाज पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष सुनील अस्तेय ने कहा कि पूरे प्रदेश में दलित-आदिवासियों के साथ आपराधिक घटनाएं घटित हो रही हैं। प्रदेश में भय का वातावरण निर्मित हुआ है। पिछड़ी जातियों के लोगों के खिलाफ घटनाएं हो रही है मगर सरकार और प्रशासन इन्हें न्याय दिलाने के लिए प्रयास नहीं कर रहा है। अस्तेय ने कहा राजगढ़ में दलित परिवार की बेटी के साथ गैंग रेप की घटना और मारपीट झकझोर देने वाली है। आजाद समाज पार्टी और भीम आर्मी जल्द ही पीड़ितों के न्याय के लिए बड़ा आंदोलन करेगी।

मुरैना में 6 लोगों की गोली मारकर हत्या

इधर, प्रदेश के ही मुरैना के लेपा भिड़ोसा गांव में गत शुक्रवार सुबह एक परिवार के 6 लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई। पुलिस ने बताया कि गांव के 2 परिवारों के बीच पिछले 10 साल से रंजिश चल रही है। इसका कारण भी जमीनी विवाद था। एक परिवार ने दूसरे परिवार पर फायरिंग कर दी। इस घटना में 3 पुरुष और 3 महिलाएं मारी गई हैं, सभी एक ही परिवार के हैं। वहीं 3 लोग घायल हुए हैं। मुरैना में पोस्टमार्टम के बाद सभी 6 शवों को एंबुलेंस से लेपा भिड़ोसा गांव लाया गया। जहां परिजनों ने अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया। देर रात तक प्रशासन और पुलिस के काफी समझाने के बावजूद परिजन अंतिम संस्कार के लिए तैयार नहीं हुए। परिजनों ने पुलिस और प्रशासन से आरोपियों के घर ध्वस्त करने के साथ ही अपने परिवार की पर्याप्त सुरक्षा और लाइसेंस शस्त्र देने की मांग की है। प्रभारी पुलिस अधीक्षक और प्रशासन के अधिकारी परिजनों को समझाते रहे।

जमीनी विवाद में हुई थीं दो हत्याएं

मुरैना के लेपा गांव के गजेंद्र सिंह तोमर और धीर सिंह तोमर के बीच जमीन को लेकर विवाद चल रहा था। 2013 में गजेंद्र सिंह तोमर के परिवार वालों पर धीर सिंह तोमर के परिवार के दो लोगों को मारने का आरोप है। इसी मामले में केस चल रहा है। गजेंद्र सिंह ने 6 लाख रुपए मुआवजा भी दे दिया था, लेकिन पैसे लेने के बाद भी धीर सिंह के परिवार ने मुकदमा वापस नहीं लिया। गजेंद्र सिंह का परिवार इनके डर से मुरैना में रहता था। गजेंद्र सिंह तोमर के बेटे राकेश सिंह तोमर ने बताया कि शुक्रवार की सुबह हमारा परिवार मुरैना से गांव पहुंचा। धीर सिंह का परिवार छप्पर पर बैठा हुआ था। हमारी गाड़ी रुकते ही सभी लोग दौड़कर आए और लाठियों और बंदूक से हमला कर दिया। इस बीच गोलियां चलाना शुरू कर दीं। हमारे तरफ के 6 लोगों को गोली लगी है, इनमें 3 महिलाएं भी शामिल हैं। वीडियो में जो गोलियां चला रहा है, उसका नाम अजीत है। इसके साथ ही मोनू, बलराम, गौरव सिंह ने भी फायरिंग की है।

मध्य प्रदेश: जमीनी विवाद के चलते राजगढ़ में दलित युवती से गैंगरेप, मुरैना में 6 लोगों की गोली मारकर हत्या!
मध्य प्रदेशः पीईबी के भर्ती विज्ञापन में 'हरीजन' शब्द का उपयोग, दलित समाज में आक्रोश

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com