दलित युवक के साथ मारपीट. सांकेतिक फोटो
दलित युवक के साथ मारपीट. सांकेतिक फोटो द मूकनायक.

यूपी: गन्ने के खेत में मिला दलित युवक का शव, हत्या का आरोप, पुलिस नहीं दर्ज कर रही एफआईआर !

परिजनों ने अंतिम संस्कार करने से किया मना, सड़क पर शव रखकर प्रदर्शन।

उत्तर प्रदेश। यूपी के अयोध्या जिले के पूराकलंदर क्षेत्र में रहने वाले एक दलित युवक का शव गन्ने के खेत में पड़ा मिला। जबकि बाइक उसकी पास ही सड़क पर खड़ी थी। दरअसल, घटना पूराकलंदर थाना क्षेत्र के भिखारीपुर गांव की है। गांव में रहने वाले सुनील कुमार रैदास (32) का शव मंगलवार दोपहर मोइयाकपूर गांव के पास सड़क के किनारे मिला है।

परिजनों का आरोप है कि कुछ लोग इस मामले को दुर्घटना बताकर रफा-दफा करना चाहते थे। उनका कहना है कि युवक किसी व्यक्ति से पैसा लेने की बात कहकर घर से निकला था। शव मिलने पर परिजनों और ग्रामीणों ने मिलकर शव को सड़क पर रख दिया और प्रदर्शन करने लगे। जाम लगने पर पुलिस के आला-अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने कार्रवाई का आश्वासन दिया तब शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया जिसके बाद शव घर पहुंचा।

घटना की जानकारी पाकर भीम आर्मी के कार्यकर्ता भी मौके पर पहुंच गए और पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही शव का अंतिम संस्कार करने की जिद पर अड़ गए। पुलिस ने कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। जिसके बाद अंतिम संस्कार हुआ। हालांकि, इस मामले में अभी तक कोई भी एफआईआर दर्ज नहीं की गई है। पुलिस का कहना है वह पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इन्तजार कर रहे हैं।

परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

बता दें कि अयोध्या जिले के पूराकलंदर थाना क्षेत्र के भिखारीपुर गांव में रहने वाले संतराम रैदास के बेटे की लाश गन्ने के खेत में मिली थी। संतराम से सम्पर्क करने पर उन्होंने ‘द मूकनायक’ को बताया- “मेरा बेटे सुनील कुमार रैदास (32) का शव मोइयाकपूर गांव के पास सड़क के किनारे मिला था। कुछ लोग इसे दुर्घटना बता कर मामले को रफा-दफा करने में जुटे थे। पर मुझे पता है कि उसकी हत्या की गई है।”

संतराम ने बताया- “मेरे बेटे ने बताया था कि वह चोलामंडलम देवकाली में नौकरी करता है। वह घर से अपनी मोटर साइकिल लेकर किसी से पैसा लेने की बात कहकर गया था। वह सुबह लगभग 8:30 बजे निकला था। उसने कहा था वह देवकली शहर जा रहा है। उसने यह भी बताया था कि वह दोपहर 1:30 बजे लौट आएगा। लेकिन रात 8:45 तक घर नहीं पहुंचा। बाद में मुझे पता चला कि उसकी मोटर साइकिल राम वनगमन मार्ग पर तिवारी का पुरवा गांव के पास खड़ी है। जब हमने आस-पास खोजबीन की तो कृपा निधान तिवारी के गन्ने के खेत में उसकी लाश मिली।”

नाराज परिजनों और ग्रामीणों ने जाम किया मार्ग

इस घटना के बाद नाराज परिजनों और ग्रामीणों ने हत्या की आशंका जताते हुए मसौधा सुचित्तागंज मार्ग को जाम कर दिया। जाम की सूचना मिलने पर पुलिस के आला-अधिकारी मौके पर पहुंच गए। पुलिस अधिकारियों ने कार्रवाई का आश्वासन दिया।

इस दौरान भीम आर्मी के कार्यकर्ता, ग्रामीण और परिजनों ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने और नामजद तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कार्यवाही करने की जिद पर अड़ गए। उन्होंने शव को रखकर दोबारा प्रदर्शन शुरू कर दिया। भिखारीपुर गांव में शव रखकर प्रदर्शन करने की सूचना पर पूरा कलंदर पुलिस के अलावा कैंट पुलिस, रौनाही और बीकापुर पुलिस भी पहुंची और थोड़ी ही देर में भिखारीपुर गांव छावनी में तब्दील हो गया। पुलिस और जिला पंचायत सदस्य राजा मानसिंह की समझाइश के बाद शव का अन्तिम संस्कार किया गया।

मृतक की पत्नी ने चार नामजद लोगों के खिलाफ दी तहरीर

इस मामले में मृतक की पत्नी उषा देवी ने मोइयाकपूर मजरे तिवारी का पुरवा के रहने वाले दीनानाथ तिवारी पुत्र लक्ष्मण, सोनू और राहुल पुत्र दीनानाथ सहित गोंडा के रहने वाले रिश्तेदार को आरोपी बनाते हुए मृतक को फोन पर बुलाकर हत्या किए जाने की तहरीर दी है। पूराकलन्दर थानाधिकारी रतन कुमार शर्मा ने द मूकनायक को बताया- “इस मामले में हमें तहरीर मिली है। मामले की जांच कर और पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण स्पष्ट होने के बाद रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।”

दलित युवक के साथ मारपीट. सांकेतिक फोटो
खबर का असर: सैकड़ों दलित, पिछड़े परिवारों के घर आने-जाने का रास्ता खुला

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com