UP: दलित महिला को कुंआ पूजन से रोका, विरोध पर ब्लाउज खींच पिटाई करने का आरोप

महिला का आरोप है कि उसे जातिसूचक शब्द कहे गए और पिटाई भी की गई. पुलिस नहीं दर्ज कर रही मुकदमा.
विवाह कार्यक्रम के दौरान विवाद की तस्वीर
विवाह कार्यक्रम के दौरान विवाद की तस्वीरतस्वीर- द मूकनायक

उत्तर प्रदेश। यूपी के बस्ती जिले के छावनी थाना क्षेत्र में एक दलित परिवार में विवाह कार्यक्रम के दौरान कुंआ पूजन की रस्म के दौरान मनबढों ने विरोध किया। दलित महिला का आरोप है कि उसे कुंआ पूजन करने से रोका गया। महिला ने जब इसका विरोध किया तो उसका ब्लाउज पकड़कर खींच लिया गया। उसे जातिसूचक गालियां दी गईं और पिटाई भी की गई।

महिला का आरोप है कि इस मामले में क्षेत्रीय पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। महिला ने एक शिकायती पत्र पुलिस अधीक्षक को देकर कार्रवाई की मांग की है। पुलिस अधीक्षक ने थाना प्रभारी को जांच कर कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

परिवार का आरोप है कि थाने की पुलिस ने हमारे बयान लिए और गवाहों के नंबर नोट कर लिए और यह नंबर उठाकर आरोपी को दे दिये. अब वह हमें धमका रहा है।

पूरा मामला बस्ती जिले के छावनी थाना के सौरी गांव का है। अनीता पत्नी रामकुमार कनौजिया ने पुलिस अधीक्षक बस्ती से पत्र लिखकर न्याय की गुहार लगाई है. पत्र में उन्होंने गांव के ही राज उपाध्याय पुत्र जगन्नाथ उपाध्याय पर आरोप लगाते हुए कहा है कि 18 अप्रैल 2024 को उनके देवर की शादी में डीजे के साथ कुआं पूजन के कार्यक्रम में नाच गा रहे थे। इस दौरान राज उपाध्याय कुआं पूजन करने का विरोध किया।

अनीता का आरोप है कि राज उपाध्याय ने शादी समारोह में शामिल लोगों को जातिसूचक शब्द कहे और भद्दी-भद्दी गालियां दी। वह डीजे बंद करने के लिए धमकी देने लगा। जब इस बात का प्रतिरोध किया और सार्वजनिक कुएं पर चढ़ने लगी इस बात से खिन्न होकर राज उपाध्याय अनीता को मारने लगे और उसका ब्लाउज भी फाड़ दिया।

अनीता के देवर राजमंगल ने द मूकनायक से बताया कि, "मेरी शादी का कार्यक्रम था। शाम लगभग 7 बजे कुंआ पूजन का कार्यक्रम चल रहा था। इस दौरान राज उपाध्याय वहां पर आये। वह शराब पीने के आदी हैं। वह हमारे कुंआ पूजन का विरोध करने लगे। जब हमने का इसका विरोध किया तो उन्होंने हमारी भाभी के कपड़े फाड़ दिये। जातिसूचक गालियां दी और पिटाई की।"

शादी का कार्यक्रम सुचारु रूप से खत्म हो जाए इसलिए अनीता एवं उसके घर वाले शांत रहे, जब सारे नात रिश्तेदार चले गए उसके बाद 23 अप्रैल 2024 को अनीता एवं परिजनों ने छावनी थाने पर शिकायती पत्र दिया. लेकिन मुकामी पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की।

कहीं से प्रार्थना पत्र दिए जाने की भनक राज उपाध्याय को लगी तो आरोप है कि वह पागलों की तरह अनीता को मारने के लिए ढूंढने लगा। इस बात से हताश एवं घबराई हुई अनीता ने पुनः 17 मई 2024 दिन शुक्रवार को पुलिस अधीक्षक से न्याय की गुहार लगाई और राज उपाध्याय के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर कार्रवाई करने की मांग की।

पुलिस ने आरोपी को दिये गवाहों के नंबर

पीड़ित परिवार का आरोप हैं कि थाने में उनकी सुनवाई नहीं हुई थी। इसके कारण उन्होंने पूरे मामले कि शिकायत एसपी से की। एसपी ने जांच के आदेश थाने को दिये थे। इस दौरान पुलिस ने हमसे पूछताछ की और गवाहों के नंबर नोट किये। पुलिस ने गवाहों के नंबर आरोपी को दे दिये जिसके बाद से वह लगातार हमें धमका रहे हैं। पुलिस ने हमारा मुकदमा दर्ज नहीं किया है।

इस मामले में थाना प्रभारी छावनी ने द मूकनायक को बताया कि, "पूरा मामला डीजे की तेज आवाज को लेकर हुआ था। इस मामले में आरोपी का चालान कर दिया गया था। पीड़ित द्वारा जो घटना बताई गई वह सच नहीं है।"

उल्लेखनीय है कि एनसीआरबी के आंकड़ों के मुताबिक 2024 में उत्तर प्रदेश में भारत में सबसे अधिक अपराध दर है। 2022 तक, यूपी की अपराध दर 171.6% थी, उत्तर प्रदेश में प्रति व्यक्ति अपराध दर 7.4 है हालाँकि, एनसीआरबी के आंकड़ों के अनुसार, यूपी में अपराध दर सर्वाधिक है, रिपोर्ट की गई घटनाएं 753,675 तक पहुंच गई है।

विवाह कार्यक्रम के दौरान विवाद की तस्वीर
दिल्ली में गर्मी का बढ़ता प्रकोप, लू ने भी किया लोगों को परेशान, मौसम विभाग ने जारी किया रेड अलर्ट
विवाह कार्यक्रम के दौरान विवाद की तस्वीर
मणिपुर: पहाड़ी में बसे गरीब आदिवासियों को महीनों से नहीं मिला पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत चावल, आन्दोलन की चेतावनी
विवाह कार्यक्रम के दौरान विवाद की तस्वीर
मध्य प्रदेश: क्या है 'बिक्की' जो OBC युवाओं को व्यवसाय से जोड़ेगा, सरकार से भी मिलेगी मदद!

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com