गुजरात: तीन महीने से दलित ITI छात्र का उत्पीड़न, आरोपी बेखौफ

सुरक्षा के लिए पीड़ित छात्र के घर पर तैनात करनी पड़ी फोर्स।
गुजरात: तीन महीने से दलित ITI छात्र का उत्पीड़न, आरोपी बेखौफ

गुजरात। खेड़ा जिले में आईटीआई दलित छात्र को कथित तौर पर सवर्ण छात्र पिछले तीन महीने से प्रताड़ित कर रहे थे। पीड़ित छात्र के पिता के मुताबिक आरोपी छात्रों ने उनके बेटे को कॉलेज के आस-पास भी भटकने से मना किया था। इसके साथ ही कॉलेज छोड़ देने के लिए धमका रहा थे। जब छात्र ने ऐसा नहीं किया तो उस पर पटाखों से हमला किया। जब इसकी आरोपी छात्र के परिजनों से शिकायत की गई तो उसने अन्य छात्रों का गुट बनाकर छात्र के घर पहुंचकर पिटाई कर दी। इस मामले में पीड़ित पिता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर आरोपी छात्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

जानिए क्या है पूरा मामला?

गुजरात के खेड़ा जिले के कपडवंज तालुका के नरसिंहपुर में भरत भाई वानकर रहते हैं। भरत भाई वानकर ने द मूकनायक प्रतिनिधि को बताया, "मेरा बेटा हिमांशु वानकर सरकारी आईटीआई कालेज से पढ़ाई कर रहा है। मेरे बेटे के साथ पिछले तीन महीने से जातिवादी भेदभाव हो रहा है। उच्च जाति के छात्र उसके साथ मारपीट और भेदभाव करते हैं। उसे कालेज में आने से मना किया गया है। एक छात्र हिमांशु ठाकोर ने उसे पास में भी भटकने से मना किया है।"

इस मामले में पीड़ित दलित छात्र हिमांशु वानकर ने द मूकनायक प्रतिनिधि को बताया, "कपडवंज आईटीआई से पढ़ाई का दूसरा साल चल रहा है। हिमांशु ठाकोर और अन्य सवर्ण छात्र मुझे परेशान कर रहे हैं। पिछले तीन महीने से यह प्रताड़ना बढ़ गई। मुझे मेरी जाति को लेकर प्रताड़ित किया जाता है। आरोपी मुझे कालेज आने के लिए मना करता है। एक साथ बैठने के लिए मना करता है। इसके साथ ही उसका कहना है कि जहाँ वह खड़ा हो मैं वहां न दिखूं। यह बात मैंने अपने पिता को बताई। मेरे पिता ने इसकी शिकायत उसके माता-पिता से जाकर की थी।''

भरत भाई वानकर ने आगे बताया, "मैंने हिमांशु ठाकोर के पिता से इसकी शिकायत उसके घर जाकर की। उनके पिता ने उसे फटकार लगाने की बात कही थी।"

शिकायत के बाद दलित छात्र पर पटाखों से हमला किया

हिमांशु वानकर बताते हैं, "30 सितंबर को जब कालेज गया तो मेरे ऊपर आरोपी ने पटाखे से हमला कर दिया। इससे मेरी कपड़े बुरी तरह जल गए थे। मैं जब घर पहुंचा तो पिता को एक बार फिर इसकी जानकारी दी। उन्होंने हिमांशु ठाकोर के पिता से शिकायत की।"

दोबारा शिकायत पर जानलेवा हमला किया

भरत भाई वानकर ने बताया, "जब मैंने इस घटना की शिकायत की। इससे नाराज होकर आरोपी ने 2 अक्टूबर को बाइक से कई अन्य लड़कों के साथ आया। उसने मेरे बेटे पर पत्थर से हमला कर दिया। इससे मेरे बेटे का सिर फट गया। मैंने 112 डायल कर पुलिस को जानकारी दी। आरोपी लड़के जान से मारने की धमकी देकर फरार हो गए।"

छात्र के पिता की तहरीर पर मुदकमा दर्ज

इस मामले में पुलिस ने पीड़ित की तहरीर पर आरोपी छात्र के खिलाफ आईपीसी की धारा- 143,147,148,149,323,324,504 व 506 सहित एससी/ एसटी एक्ट की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

इस घटना के बाद पुलिस अधिकारियों ने दलित परिवार की सुरक्षा को देखते हुए दो सिपाही सहित चार पीआरडी जवानों को उसके घर पर तैनात किया है।

गुजरात: तीन महीने से दलित ITI छात्र का उत्पीड़न, आरोपी बेखौफ
दिल्ली: मंदिर में चढ़ाए गए प्रसाद को उठाने पर मुस्लिम की मॉब-लिंचिंग का क्या है पूरा मामला, पढ़िए ग्राउंड रिपोर्ट
गुजरात: तीन महीने से दलित ITI छात्र का उत्पीड़न, आरोपी बेखौफ
मध्य प्रदेश: आदिवासी बुजुर्ग महिला को 13 साल से नहीं मिला जमीन पर कब्जा!
गुजरात: तीन महीने से दलित ITI छात्र का उत्पीड़न, आरोपी बेखौफ
राजस्थान: जालौर में गरजे भीम आर्मी चीफ, संविधान बचाने की ली शपथ

द मूकनायक की प्रीमियम और चुनिंदा खबरें अब द मूकनायक के न्यूज़ एप्प पर पढ़ें। Google Play Store से न्यूज़ एप्प इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें.

Related Stories

No stories found.
logo
The Mooknayak - आवाज़ आपकी
www.themooknayak.com